Connect with us

Hi, what are you looking for?

उत्तर प्रदेश

मैं अपनी मौत तक नहीं बनने दूंगा मंदिर : किशोर अजवानी

किशोर अजवानी न्यूज 18 के मैनेजिंग एडिटर हैं. वे जिस सोसायटी में रहते हैं, वहां मंदिर बनने से रोकने के लिए जी जान से लगे हुए हैं. नोएडा सेक्टर 93ए की एलडिको यूटोपिया सोसायटी की आरडब्ल्यूए ने बहुमत से अपनी जीबीएम यानि जनरल बॉडी मीटिंग (तारीख- 5-5-2019) में सोसायटी के भीतर एक मंदिर बनाने का फैसला लिया. मगर किशोर अजवानी इस मंदिर को बनने नहीं देना चाहते हैं. वे सोसायटी के भीतर मंदिर बनाने पर दंगा हो जाने चेतावनी दे रहे हैं.

सोसायटी के इंटरनल व्हाट्सअप ग्रुप में उन्होंने सोसायटी के दूसरे सदस्यों को मंदिर बनाने की सूरत में खुलकर धमकी दी है. किशोर अजवानी यहां तक कहते हैं कि वे सोसायटी के भीतर माइनारिटी में हैं और उनके साथ केवल तीन लोग हों तो भी वे इसे नहीं बनने देंगे. वे पुलिस की साइबर सेल के पास जाने से लेकर मंदिर बनने की सूरत में दंगा तक होने की धमकी दे रहे हैं. इसी ग्रुप में किशोर अजवानी ने यह भी बताया है कि उनके परिवार के पास इस सोसायटी में तीन फ्लैट्स हैं और वे मंदिर के प्रस्ताव की खिलाफत करते हैं.

Advertisement. Scroll to continue reading.

सोसायटी में रह रहे लोग अपने बुर्जुगों के लिए इस मंदिर की स्थापना करना चाहते हैं. इस नवरात्र में सोसायटी के लोगों ने मंदिर की खाली जगह पर पूजा पाठ करने का फैसला लिया. इस पर किशोर अजवानी ने अपने पत्रकारीय प्रभाव का इस्तेमाल करते हुए पूजा शुरू होने के ठीक दो दिन पहले ही सोसायटी में नोएडा अथॉरिटी के अधिकारी बुलवा लिए. इन लोगों ने सोसायटी के लोगों को अरदब में लेने की कोशिश भी की. एलडिको यूटोपिया के इस इंटरनल व्हाट्स अप ग्रुप के चैट का स्कीन शाट्स भड़ास के पास मौजूद है. किशोर अजवानी मंदिर बनाने के खिलाफ कुछ यूं अपनी भावनाएं प्रकट किए हैं-

  • मैं मंदिर के खिलाफ लड़ूंगा। जो करना है, आप कर लीजिए।
  • मैं इसके खिलाफ अपनी मौत तक लड़ूंगा
  • अगर ये लोग दंगा चाहते हैं तो फिर अब दंगा ही सही
  • यहां मंदिर के लिए जो भी लिखा जा रहा है, उसे मैं साइबर सेल में रिपोर्ट करूंगा
  • मुझे ट्रोल करने वालों को हैंडल करना आता है
  • मेरे परिवार के पास यहां तीन फ्लैट्स हैं। हम मंदिर के प्रस्ताव की खिलाफत करते हैं।
  • अगर मैं तीन की माइनॉरिटी में हूं तब भी इसका विरोध करूंगा

(इस प्रकरण पर अगर किशोर अजवानी अपना पक्ष भेजते हैं तो उसे ससम्मान प्रकाशित किया जाएगा)

Advertisement. Scroll to continue reading.
2 Comments

2 Comments

  1. Manmohan Kumar

    October 8, 2019 at 4:08 pm

    किशोर जी सही कह रहे हैं ।अगर मन्दिर बन जाएगा तो हिन्दू मुस्लिम ध्रुवीकरण की राजनीति ही लगभग खत्म
    हो जाएगी।।।।।।।।।नुकसान किसका है

  2. गुमनाम

    October 11, 2019 at 4:50 am

    किशोर अजवाणी जी को मंदिर से क्या आपत्ति ll किशोर को अजवाणी से आपत्ति नहीं हुयी चुतिया साला ll

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Advertisement

भड़ास को मेल करें : Bhadas4Media@gmail.com

भड़ास के वाट्सअप ग्रुप से जुड़ें- Bhadasi_Group_one

Advertisement

Latest 100 भड़ास

व्हाट्सअप पर भड़ास चैनल से जुड़ें : Bhadas_Channel

वाट्सअप के भड़ासी ग्रुप के सदस्य बनें- Bhadasi_Group

भड़ास की ताकत बनें, ऐसे करें भला- Donate

Advertisement