थानों और पुलिस की पोल खोलने के कारण जबरन रिटायर किए गए अमिताभ ठाकुर?

समीरात्मज मिश्रा-

अमिताभ ठाकुर को सरकार ने वीआरएस दे दिया। कारण यह था कि वो सेवा के लिए उपयुक्त नहीं थे।

बात सही है। इतने सीनियर आईपीएस होकर भी थानों की अर्थव्यवस्था का कच्चा चिट्ठा खोल रहे थे।

कुछ दिन पहले ही यूपी में एक और आईपीएस निलंबित किए गए थे। उन्होंने अपने विभाग के ही पाँच बड़े अफ़सरों पर भ्रष्टाचार का आरोप लगाते हुए विभाग की उच्चस्तरीय अर्थव्यवस्था की जानकारी उपलब्ध कराई थी।

सरकार को अपनी गलती का एहसास हुआ। अधिकारी महोदय बहाल कर दिए गए।


Om singh rana-

इंस्पेक्टर जनरल अमिताभ ठाकुर को जबरदस्ती समय से पहले ही सेवानिवृत्ति दिए जाने से मैं स्तब्ध हूं। मुझे इंस्पेक्टर जनरल अमिताभ ठाकुर जी से बात करने का अवसर मिल चुका है इसलिए मैं कह सकता हूं कि वह अच्छे व्यक्ति हैं।

अमिताभ ठाकुर, एक ईमानदार IPS ऑफिसर रहे हैं, और उन्हें राजनीतिक कारणों के चलते अपने सेवाकाल में बहुत सारी समस्याओं का सामना करना पड़ा है।

मैं श्री अमिताभ ठाकुर को उनकी दूसरी पारी के लिए हार्दिक शुभकामनाएं देता हूं। साथ ही साथ ईश्वर से प्रार्थना भी करता हूं कि श्रीमती नूतन ठाकुर और श्री अमिताभ ठाकुर का वैवाहिक जीवन बहुत लंबा और सुखद हो।

ओम सिंह राणा
राष्ट्रीय अध्यक्ष
राष्ट्रीय विकास संगठन
7890 432 827

भड़ास की खबरें व्हाट्सअप पर पाएं
  • भड़ास तक कोई भी खबर पहुंचाने के लिए इस मेल का इस्तेमाल करें- bhadas4media@gmail.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *