भड़ास संग मजीठिया वेज बोर्ड की लड़ाई लड़ने को 250 मीडियाकर्मी तैयार, 25 जनवरी तक कर सकते हैं आवेदन

जी हां. करीब ढाई सौ मीडियाकर्मियों ने भड़ास के साथ मिलकर अपना हक पाने के लिए मजीठिया वेज बोर्ड की लड़ाई लड़ने हेतु भड़ास के पास मेल किया है. जिन-जिन ने मेल किया, उन सभी एडवोकेट उमेश शर्मा का एकाउंट नंबर और अथारिटी लेटर भेज दिया गया है. सिर्फ छह हजार रुपये देकर घर बैठे अपने हक की लड़ाई लड़ने के भड़ास के इस अनूठे पहल का देश भर में स्वागत किया जा रहा है.

मीडियाकर्मियों की मांग को देखते हुए इस लड़ाई में शरीक होने की आखिरी तारीख बढ़ाकर 25 जनवरी की जा रही है. यह तीसरी और अंतिम बार तारीख बढ़ाई जा रही है. सिर्फ उन्हीं लोगों की लड़ाई सुप्रीम कोर्ट में लड़ी जाएगी जो 31 जनवरी तक एडवोकेट उमेश शर्मा के एकाउंट में छह हजार रुपये जमा कर देंगे. 31 जनवरी के बाद ही यह पता चल सकेगा कि कुल कितने लोगों ने फीस जमाकर लड़ाई में शरीक होने की फाइनल सहमति दी है.

इस बीच, जो-जो लोग शरीक हो चुके हैं यानि मेल कर चुके हैं और भड़ास की तरफ से जवाबी मेल पा चुके हैं, उनसे अनुरोध है कि यथाशीघ्र औपचारिकता पूरी कर सूचित करें. क्या-क्या औपचारिकताएं पूरी करनी हैं, यह उन सभी को भेज दिया गया है मेल पर जिन जिन ने भड़ास के पास मेल भेजकर मजीठिया हेतु लड़ने की सहमति दी थी. जिन लोगों ने खुलकर लड़ने की बात कही है, उन्हें याचिका पर साइन करने दिल्ली आना पड़ेगा. उन्हें दिल्ली आने की तारीख बता दी जाएगी. जिन लोगों ने गोपनीय रहकर लड़ने की बात कही है, वे बस फीस जमा कर और अथारिटी लेटर भर कर भेज दें. 

अगर अभी तक आपने अप्लाई नहीं किया है तो तुरंत मजीठिया वेज बोर्ड का लाभ पाने हेतु भड़ास को सूचित करें, yashwant@bhadas4media.com पर अपना नाम, अपना पद, अपना घर का पता, अपना मोबाइल नंबर, अपनी मेल आईडी, अपने अखबार या मैग्जीन का नाम, अपने अखबार या मैग्जीन का पत्राचार हेतु पता लिखकर मेल कर दें. साथ ही यह लिखना बिलकुल न भूलें कि आप मजीठिया पाने हेतु संघर्ष खुलकर करना चाहते हैं या गोपनीय रहकर. मेल आने के चौबीस घंटे के भीतर ही आपको भड़ास की तरफ से अथारिटी लेटर, सुप्रीम कोर्ट के एडवोकेट उमेश शर्मा का परसनल एकाउंट नंबर और अन्य दिशा-निर्देश मेल कर दिया जाएगा.

एक सूचना उन लोगों के लिए जिन-जिन को एडवोकेट उमेश शर्मा का गलत एकाउंट नंबर भेजा गया है. कृपया एक बार जांच लें कि आपके पास जो एकाउंट नंबर दिया गया है, उसके लास्ट के दो डिजिट के रूप में ’60’ है या नहीं. अगर ’60’ है तो सही है. इसके अलावा कुछ चला गया हो तो कृपया उसे गलत मानें. हालांकि जिन जिन को गलत एकाउंट नंबर भेजा गया था, उन उन को दुबारा मेल भेज कर सही एकाउंट नंबर भेजा जा चुका है. कृपया एक बार जांच लें. 

पूरे मामले को समझने के लिए इन दो पुरानी पोस्ट को जरूर पढ़ें….

7 फरवरी के बाद मजीठिया के लिए सुप्रीम कोर्ट नहीं जा सकेंगे, भड़ास आर-पार की लड़ाई के लिए तैयार

xxx

घर बैठे सुप्रीम कोर्ट में याचिका दायर करें और मजीठिया वेज बोर्ड का लाभ उठाएं

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Comments on “भड़ास संग मजीठिया वेज बोर्ड की लड़ाई लड़ने को 250 मीडियाकर्मी तैयार, 25 जनवरी तक कर सकते हैं आवेदन

  • अरे महाराष्ट्र, मुंबई के अंबिका ग्रुप वालो अभी भी वक्त है. कब तक दर के रहोगे. आज दरोगे तो फिर जिंदगीभर पछ्ताना पडेगा. अपने हक के लिए एक बर हिम्मत दिखावो. फिर देखो क्या होता है. सुप्रीम कोर्ट जाने के बाद कोई आपका बाल भी बाका नाही कर सकता. एकजूट होकार लढो. जीत आपकी ही है. सबको बधाई.

    Reply
  • himanshu321 says:

    yashwant Ji
    Jab 250 log ready hai. Is hisaab se abtak 15 lakh ke kareeb Fees. Advocate Umesh Sharma Ji ko Mil rahe hai. Contempt main Court fee 0 Rs. Hai. Aur jo bhi Aur kharche hai Vo bhi bahut zada nahi Hai. Ab aapko aisa nahi lagta ke aap kuch fee Kam Kar li jaaye. Taake Aur kuch Gareeb Saathi bhi saath judeyn. For Example agar aap 6000 ke 3000 kar le. To Aur bhi log jud jaayen ge. Jinhone 6000 diye hai Unko aap refund kar sakte hai.

    Reply
  • यशवंत says:

    हिमांशु जी. आप का आंकलन बिलकुल सही है. लेकिन कितने पैसे आए, इसका फाइनल फीगर 31 जनवरी को मालूम होगा जो पैसे जमा करने की लास्ट तारीख है. जाहिर है, संख्या ज्यादा हुई और पैसे ज्यादा आए तो हम लोग बिना खर्च कई नए साथियों की लड़ाई लड़ेंगे. यह अंडरस्टुड है. साथ ही एक गोपनीय रणनीति भी है, जिसका खुलासा अभी नहीं किया जा सकता. वह रणनीति धमाका साबित होगी. उस रणनीति से मीडियाकर्मियों का बड़े पैमाने पर भला होगा. खैर, अभी ताजी सूचना बता दूं कि अभी तक यानि यह कमेंट लिखे जाने तक सिर्फ तीन लोगों ने पैसे जमा कराए हैं. यानि 18 हजार रुपये ही आए हैं. हम लोग मानकर चल रहे हैं कि ढाई सौ में से सौ से ज्यादा लोग पैसे नहीं जमा कराएंगे क्योंकि कई लोग सिर्फ यह आंकलन करने के लिए मेल कर रहे हैं कि फार्मेट क्या है, रणनीति क्या है. कई लोगों ने प्रबंधन के इशारे पर मेल किया है ताकि भेद ले सकें. हम लोगों को सब कुछ पता है, इसलिए धैर्य से चल रहे हैं. आप लोग निश्चिंत रहें. भड़ास लड़ाई लड़ रहा है तो कम से कम पैसे को लेकर अविश्वास नहीं कर सकते.

    Reply
  • Sir
    I also gave a legal notice to rajasthan patrika udaipur with 10 employee. Notice is sent to shri yaswant ji mail. We requst to all employe
    HIMMAT karo… apne apne sansthan par case karo… chahe yaswant ji ke sath milkar ya akle. apne jinda hone ka sabut do.
    lalit jain (IT Incharge)
    Rajasthan patrika udaipur
    9982930950

    Reply
  • Ful Bharosa hai Yashwant Bhaiya…. Kabhi Sultanpur hokar gujariega Ghazipur ke liye to rukiye Ghar par Paise abhi waise hai to nahi lekin meri poori koshish rahhegi Bhaiya ki mai 31st se pahle pahle Aapko BHej doonga……… Deepak…..

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *