त्रिपुरा में पत्रकार की हत्या के खिलाफ मथुरा के पत्रकारों ने निकाला मार्च

त्रिपुरा में पत्रकार की हत्या एवं मथुरा में पत्रकारों पर हमले के विरोध में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नाम ज्ञापन एडीएम कानून व्यवस्था रमेश चन्द्र को ज्ञापन सौंपते ब्रज प्रेस क्लब के अध्यक्ष, उत्तर प्रदेश जर्नलिस्ट एसोसिएशन के प्रदेश उपाध्यक्ष एवं एनयूजेआई सदस्य कमलकांत उपमन्यु एडवोकेट एवं अन्य पत्रकारगण।

मथुरा। त्रिपुरा में पत्रकार की हत्या एवं देश भर मे पत्रकारों पर लगातार हो रहे हमलों के विरोध में ब्रज प्रेस क्लब, उपजा एवं एनयूजेआई के पत्रकारों के पत्रकारों ने आज एडीएम कानून व्यवस्था रमेश चन्द्र को प्रधानमंत्री के नाम ज्ञापन सौंपा। ब्रज प्रेस क्लब के अध्यक्ष, उत्तर प्रदेश जर्नलिस्ट एसोसिएशन के प्रदेश उपाध्यक्ष एवं एनयूजेआई सदस्य कमलकांत उपमन्यु एडवोकेट के नेतृत्व में कलैक्ट्रेट पहुंचे पत्रकारों ने इस मौके पर कहा कि यह हमला पत्रकार पर ही नहीं बल्कि लोकतंत्र के समूचे चौथे स्तंभ पर हमला है। उन्होंने केन्द्र व प्रांत सरकारों से पत्रकार सुरक्षा कानून अधिनियम अति शीघ्र बनाने की मांग करते हुए कहा है कि पत्रकारों पर हमला कहीं भी नहीं होना चाहिए। जहां भी ऐसी घटनाएं हों वहां पुलिस एवं प्रशासन को तत्काल कार्यवाही करनी चाहिए।

त्रिपुरा में युवा पत्रकार शांतनु भौमिक की हत्या पर एनयूजेआई, ब्रज प्रेस क्लब एवम उपजा से जुड़े सभी पत्रकार साथियों ने  तीखी निंदा की  है। एनयूजेआई, उपजा एवं ब्रज प्रेस क्लब संगठन की माँग है कि त्रिपुरा राज्य सरकार युवा पत्रकार शांतनु की हत्या की इस घटना की तत्परता से जांच कराए और अपराधियों को सजा दिलवाने के कदम उठाए। साथ ही ब्रज प्रेस क्लब एवं उपजा ने यह भी मांग की है कि शांतनु के परिवार को एक करोड़ की आर्थिक सहायता एवं सरकारी आवास और परिवार को पूर्ण सुरक्षा की मांग करते हैं।
पत्रकारों पर देश भर में हमले बढ़ रहे हैं। इसके पीछे कई शक्तियाँ हो सकती हैं। इससे पत्रकारिता संस्था व संविधान  पर मार्मिक आघात होने के साथ  विश्व में भारत की बदनामी हो रही है।

ऐसे में केंद्र सरकार की भी जिम्मेदारी है कि वह पत्रकारों पर हमले के मामलों को गंभीरता से ले व ऐसे मामलों में आपराधियों के खिलाफ कार्रवाई सुनिश्चित करने के लिए मानिटरिंग की व्यवस्था कराए। गत दिवस ही मथुरा में आपके द्वारा देश भर में चलाया जा रहा स्वच्छता अभियान भी हमले की भेंट चढ़ा है। इस अभियान तले दैनिक जागरण मथुरा के जिला प्रभारी योगेश जादौन एवं क्राइम रिपोर्ट मनोज चौधरी और फोटोग्राफर कासिम पर भी असमाजिक तत्वों ने सफाई अभियान के दौरान प्राण घातक हमला बोला था। इस हमले की भी सभी पत्रकारों ने घोर निंदा की और हमला करने वालों पर सख्त कार्रवाई की माँग की।

वहीं जनपद के कस्बा कोसीकलां में डीएलए के पत्रकार सोनू गोयल पर भी हमला किया हुआ, इस पर भी ब्रज के पत्रकारों में तीखा रोष है। उक्त प्रकरण में भी प्रभावी कार्यवाही की मांग की है।  उपरोक्त मामलों में केन्द्र व प्रांत सरकार ने आवश्यक कदम उठायें जिससे भविष्य में कोई भी पत्रकारों पर न तो हमला कर सकें और नहीं उनका उत्पीडऩ कर सके। उपरोक्त प्रकरण को लेकर ब्रज क्षेत्र के ही नहीं समूचे प्रदेश व देश के पत्रकारों में तीखा रोष व्याप्त है। एनयूजेआई, उपजा एवं ब्रज प्रेस क्लब से जुड़े पत्रकार उपरोक्त प्रकरणों पर तीखा रोष व्यक्त करते हुए सभी मामलों में आवश्यक कार्यवाही के साथ पत्रकार सुरक्षा कानून अतिशीघ्र बनवाने की मांग करते हैं तथा उड़ीसा के मृतक पत्रकार परिवार को पूरी सुरक्षा व एक करोड़ की आर्थिक सहायता और आवास व्यवस्था की भी मांग करते हैं। कलक्ट्रेट पर निकाले गए मार्च में ब्रज प्रेस क्लब के अध्यक्ष एवं उपजा के प्रदेश उपाध्यक्ष श्री कमलकांत उपमन्यु एडवोकेट, नितिन गौतम, अशोक चौधरी, योगेश खत्री, जगदीश उर्फ जग्गा, रहीस कुरैशी, श्याम जोशी, मुकेश कुशवाह, बीएस छौंकर, मधुसूदन शर्मा, गजेन्द्र चौधरी, डीपीएस खुराना, सुरेश पचौरा, खलील अहमद, अनिल कुमार, यज्ञदत्त कौशिक एड., मनोहर पटेल, जगजीत तिवारी, योगेश तिवारी, असफाक चौधरी, राम पहलवान, राजू पंडित, निरंजन धुरंधर, वृृषभान गोस्वामी आदि ने एडीएम को ज्ञापन देकर पत्रकारों का उत्पीडऩ रोकने की मांग की।

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *