एमसीडी चुनावों में भाजपा और आप के बीच करीबी मुकाबला के आसार

नई दिल्ली : हाल ही में घोषित दिल्ली नगर निगम के चुनावों की घोषणा के बाद, ABP न्यूज़, सी वोटर सर्वे द्वारा किये गए ओपिनियन पोल में रोचक परिणाम दिखने को मिल रहे हैं।

मई 2022 में नगर निगम के एकीकरण के बाद से यह नगर निगम का पहला चुनाव होगा। दिल्ली नगर निगम (संशोधन) विधेयक, 2022 के पारित होने के बाद, इस साल की शुरुआत में, एमसीडी में वार्ड और पार्षद पदों को 272 से घटाकर 250 कर दिया गया था, जिसमे से 42 सीटें SC के लिए आरक्षित हैं।

ABP न्यूज़ CVoter ओपिनियन पोल में पता चला है कि भाजपा को 41.5% वोट शेयर के साथ 118-138 सीटें मिलने की संभावना है। वहीँ, AAP करीबी दूसरे स्थान पर है और 40.0% के वोट शेयर के साथ 104-124 सीटें जीत सकती है। कांग्रेस को 16.5 फीसदी वोट शेयर के साथ 4-12 सीटों के साथ तीसरे स्थान पर आने की उम्मीद है। अन्य को 2.0% का वोट शेयर और 0-4 सीटें मिलने की संभावना है।

ABP न्यूज-सीवोटर ने एक स्नैप पोल भी किया और सर्वे में शामिल लोगों से सवाल पूछा गया कि एमसीडी चुनावों में सबसे बड़ा मुद्दा क्या है? प्रश्न के उत्तर में, 12.9% दिल्ली की जनता ने बिजली और पानी को सबसे बड़ा मुद्दा माना, 23.3% सर्वे में शामिल लोगों ने प्रदूषण माना, 20.0% सर्वे में शामिल लोगों ने स्वच्छता, 13.3% लोगों ने भ्रष्टाचार, 23.8% लोगों ने मुद्रास्फीति, जबकि 6.7% सर्वे में शामिल लोगों ने सुरक्षा को सबसे बड़ी चुनौती मानी।

सर्वे में शामिल दिल्ली की जनता से एक और सवाल यह था कि उनके अनुसार दिल्ली में यमुना नदी की सफाई नहीं होने के लिए कौन जिम्मेदार है? इसके लिए, 57.8% लोगों ने दिल्ली सरकार को जिम्मेदार ठहराया, जबकि 42.2% लोगों ने एमसीडी को दोषी ठहराया।

स्नेप पोल में तीसरा सवाल यह था कि क्या उन्हें लगता है कि दिल्ली में प्रदूषण की समस्या के बीच होने वाले एमसीडी चुनावों में AAP को नुकसान होगा? इसके जवाब में, 60.3% लोगों ने इसे केजरीवाल के लिए एक संभावित चुनौती माना, जबकि 39.7% लोगों का मानना था की यह केजरीवाल के लिए चुनौती नहीं है।

दिल्ली एमसीडी में चुनाव 4 दिसंबर को होने हैं और परिणाम 7 दिसंबर को घोषित किया जाएगा। ये चुनाव दिल्ली के २५० वार्डों के भाग्य का फैसला करेगी।

Methodology –

यह सर्वे / स्नैप पोल 5 नवंबर से 7 नवंबर के बीच किए गए सर्वे पर आधारित है और सीवोटर ने यह सुनिश्चित किया है कि नवीनतम जनगणना परिणामों के अनुसार स्थानीय आबादी को प्रतिबिंबित करने के लिए डेटा को सांख्यिकीय रूप से संतुलित करके विश्लेषण को ठीक से दर्शाया गया है। यह सर्वेक्षण सर्वे में शामिल उन लोगों के साथ CATI साक्षात्कार पर आधारित है जो वयस्क 18 साल से ऊपर हैं और सभी वर्गों का प्रतिनिधित्व करते हैं।

सैंपल का आकार: 1292

अवधि – 5 नवंबर से 7 नवंबर 2022


MCD elections in Delhi : ABP News-CVoter Opinion Poll predicts close contest between BJP and AAP

New Delhi : Ahead of the high-stake Municipal Corporation of Delhi (MCD) polls that is being seen as a barometer of power among political parties, an opinion poll conducted by ABP News-CVoter has revealed that the Bharatiya Janata Party (BJP) and the Aam Aadmi Party (AAP) will be in a neck-to-neck fight to win the mandate of the people of Delhi.

This would be the first election to the municipal corporation since reunification of Municipal Corporation in May 2022. Following the passage of the Delhi Municipal Corporation (Amendment) Bill, 2022, earlier this year, the wards and councillor positions in MCD was reduced from 272 to 250 out of which 42 seats are reserved for SC.

The survey showed that the BJP is predicted to win a vote share of 41.5% and they are likely to get 118-138 seats. However, AAP is a close second and is predicted to win 104-124 seats with a vote share of 40.0%. The Congress, considered to be the distant third, is likely to win a vote share of 16.5% and is predicted to win 4-12 seats. Others are likely to get a vote share of 2.0% and get 0-4 seats.

Additionally, ABP News-CVoter conducted a snap poll and one of the questions posed to the voters was, according to them, what is the biggest issue in the MCD elections? In response to the question, 12.9% respondents identified electricity and water as the biggest issue, 23.3% respondents considered pollution, 20.0% respondents considered cleanliness, 13.3% respondents identified corruption, 23.8% respondents identified inflation while 6.7% respondents considered safety and security as the biggest challenge.

Another question posed to the voters was who according to them is responsible for Yamuna river not being cleaned in Delhi? To this, 57.8% respondents held the Delhi Government responsible for the same while 42.2% respondents blamed the MCD.

The third question posed to the voters was whether they think AAP will suffer in MCD elections that are being held amid the pollution problem in Delhi? In response to this, 60.3% respondents considered it to be a potential challenge for Kejriwal while 39.7% respondents did not think that holding MCD elections amid pollution issue in Delhi will be a challenge for him.

The MCD election is scheduled for December 4 and the result would be declared on December 7. The much-awaited polls will decide the fate of 250 wards.

Methodology:

This poll and snap poll is based on surveys conducted between 5th November to 7th November and CVoter has made sure that the analysis is properly represented by statistically balancing the data to make it reflective of the local population according to the most recent census results. This survey is based on CATI interviews with respondents who are adults (18+) and represent all segments.

Sample Size:

1292



भड़ास का ऐसे करें भला- Donate

भड़ास वाट्सएप नंबर- 7678515849



Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *