साक्षी महाराज ने नहीं, मीडिया वालों ने जींस खोलकर चोट दिखाने को कहा था (देखें वीडियो)

उन्नाव के बी जे पी सांसद साक्षी महाराज के सामने मैनपुरी जिले के फर्दपुरा गाव में पुलिस बर्बरता की शिकार हुए परिवार की एक लड़की के सबके सामने कपडे उतरवाने और चोट दिखाने की कोशिश से जुड़े विवाद में आज उस समय एक नया मोड़ आ गया जब इस मामले से जुडी लड़की और उसकी बहन ने एटा में साक्षी महाराज के आश्रम में मीडिया के सामने कहा कि साक्षी महाराज ने चोट दिखाने से मना किया था परन्तु मीडिया वालों के चोट दिखाने की बात कहने पर उन्होंने चोट दिखाने का प्रयास किया था।

पीड़ित लड़की ने कहा कि मीडिया उसके और उसके परिवार के साथ पुलिस द्वारा किया गए दुर्व्यहार को न दिखाकर उलटे उसको ही बदनाम करने और चरित्रहहन करने वाली ख़बरें दिखा रहा है जिससे वह और उसका परिवार आहत है। पीड़ित लड़की ने यह भी कहा कि मीडिया साक्षी महराज का चरित्र हनन न करे। उत्तर प्रदेश के मैनपुरी जिले के बिछवा थाना क्षेत्र में ३० अप्रैल २०१६ को फर्दपुर गांव में पुलिस ने मैदान सिंह के यहाँ कच्ची शराब बेचने के आरोप में रात में ४०-४५ पलिस कर्मियों ने छापा मारा था। परिजनों का आरोप था कि पुलिस ने घर में लूट-पाट और तोड़फोड़ की और महिलाओं व लड़कियों से अश्लील हरकते छेड़छाड की।

साथ ही मैदान सिंह और उसके परिजनों की जमकर लाठी डंडों से पिटाई की। इससे महिलाओ और लड़कियों के शरीर पर भी निशान बन गए। इस दौरान हाथापाई में महिलाओं ने पुलिस कर्मियों की नेम प्लेटें छीन लीं।  पुलिस के इस दुर्व्यवहार की खबर मिलने पर उन्नाव के बीजेपी सांसद साक्षी महाराज ३ मई २०१५ को मैनपुरी जिले के फर्दपुर गांव में पुलिसिया बर्बरता का शिकार हुए परिजनों से मिलने पहुंचे थे और वहां उन्होंने एक सभा को भी सम्बोधित किया था। इसमें पुलिस को धमकाने का मामला साक्षी महाराज के खिलाफ बिछवा थाना पुलिस ने दर्ज किया है।

इसी दिन साक्षी महाराज ने पीड़ित परिवार से मुलाकात कर उसका हाल चाल जाना। इस दौरान मीडिया के बार बार कहने पर पीड़ित लड़की ने अपनी बहन और चाची की मदद से चोट के निशान दिखाने की कोशिश की थी। पीड़ित लड़की और उसकी बहन के अनुसार साक्षी महाराज ने चोटों को दिखाने से मना किया था। दोनों लड़कियों ने बताया कि उनके और उनके परिवार पर पुलिस ने जो अत्याचार किये हैं और जो लूटपाट की है मीडिया उसको न दिखाकर उसका व साक्षी महाराज का चरित्र हनन कर रही है।

मीडिया को जारी प्रेस विज्ञप्ति में दोनों बहनों ने कहा है कि टीवी और समाचारपत्रों में समाचार देखकर वे काफी दुखी हैं और टीवी चैनल वाले व पत्रकार उन लोगों का चरित्र हनन कर रहे हैं। विज्ञप्ति में यह भी कहा गया है कि सांसद साक्षी जी महाराज हमारे पिता जी के गुरु हैं और हमारे बाबा हैं। उन्होंने जींस हटवा कर चोट दिखाने को नहीं कहा था बल्कि जब मीडिया वालों ने चोट दिखाने को कहा तब साक्षी महाराज ने चोट दिखाने से मना किया था। पीड़ित लड़कियों ने मीडिया को जारी एक प्रेस विज्ञप्ति में पुलिस पर गम्भीर आरोप लगाते हुए कहा कि पुलिस ने उनके घर पर लूटपाट की, सामान तोड़ दिया और उन लोगों की अस्मत लूटने की कोशिश की। विज्ञप्ति में दोनों बहनो गीता और गिरजा ने पुलिस वालो को बर्खास्त कर उनको न्याय दिलाने की मांग की है।

संबंधित वीडियो देखने के लिए नीचे क्लिक करें…

Video one

Video Two



भड़ास व्हाट्सअप ग्रुप- BWG-10

भड़ास का ऐसे करें भला- Donate






भड़ास वाट्सएप नंबर- 7678515849

Leave a Reply

Your email address will not be published.

*

code