मोदी के कैबिनेट मंत्री ने कहा- ‘मेरे साथ 252 सांसद हैं और मैं जब चाहूं, सरकार गिरा सकता हूं!’

अनिल जैन-

महाराष्ट्र के विभिन्न शहरों से प्रकाशित एक बहुभाषी अखबार ‘लोकमत’ के अंग्रेजी संस्करण में दो दिन पहले छपी एक खबर के मुताबिक कुछ दिनों पहले हुई केंद्रीय मंत्रिमंडल की बैठक में एक वरिष्ठ मंत्री ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को चुनौती देने के अंदाज में कहा कि ”मेरे साथ 252 सांसद हैं और मैं जब चाहूं, सरकार गिरा सकता हूं। लेकिन विचारधारा से बंधा हूं, इसलिए ऐसा नहीं कर रहा हूं।’’

अखबार में ‘All is not well with BJP’s top leadership’ शीर्षक से छपी खबर के मुताबिक बैठक के दौरान किसी मुद्दे पर प्रधानमंत्री के साथ मतभेद उभर आने पर उक्त मंत्री यह चेतावनी देने के साथ ही मोदी को यह चुनौती भी दी, ”अगर आप में हिम्मत है तो मुझे मंत्रिपरिषद से निकाल दीजिए।’’

मंत्री से बातचीत के आधार पर दी गई इस खबर में हालांकि मंत्री के नाम का खुलासा नहीं किया गया है, माना रहा है कि यह मंत्री नितिन गडकरी हैं।

यह भी खबर आ रही है कि अखबार के दिल्ली स्थित जिस संवाददाता ने यह खबर दी थी, उसे अब नौकरी से निकाल दिया गया है।

जेपी सिंह-

252 सांसद ले जाकर मोदी सरकार को गिराने की धमकी… मोदी और अमित शाह के बीच सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है

लोकमत टाइम्स ने एक स्टोरी प्रकाशित करके दिल्ली दरबार में सनसनी फैला दी है, जिसमें कहा गया है कि मंत्रिमंडल की बैठक में एक मंत्री ने दावा किया कि वे अपने साथ 252 सांसद ले जाकर मोदी सरकार को गिराने की ताक़त रखते हैं। चूंकि वे विचारधारा से बंधे रहे हैं लिहाजा ऐसा कोई कदम नहीं उठा रहे हैं।

इस कथित विवाद पर लोकमत टाइम्स के इंटरव्यू ने राजनीतिक हलकों में बड़ा तूफान खड़ा कर दिया है।

लोकमत टाइम्स, नागपुर संस्करण के 4 अप्रैल के अंक में प्रकाशित इस इंटरव्यू में 252 सांसदों के समर्थन से नरेंद्र मोदी को धमकाने का दावा करने वाले कैबिनेट मंत्री की पहचान नहीं बताई गई है।

इस रिपोर्ट का शीर्षक ‘भाजपा के शीर्ष नेतृत्व के साथ सब ठीक नहीं, मोदी सरकार में वरिष्ठ कैबिनेट मंत्री का दावा’ लिखा गया है। रिपोर्ट के मुताबिक, ‘भाजपा नेतृत्व में भी बड़े मतभेद हैं।’

अखबार के अनुसार, इसका खुलासा मोदी सरकार के एक वरिष्ठ कैबिनेट मंत्री ने अनौपचारिक बातचीत के दौरान किया है लेकिन, कैबिनेट मंत्री की पहचान का खुलासा नहीं किया गया है।

बकौल इस मंत्री के प्रधानमंत्री मोदी के साथ योजनाओं पर मंत्रिमंडल की बैठक में चर्चा के दौरान जब इस मंत्री ने अपनी बात रखी तो मोदी ने उसे काटते हुए ऐसी बात कह दी जिससे ये मंत्री नाराज हो गए और फिर उसी आवेग में उन्होंने मोदी को धमकी दी कि ‘अगर आप में ताक़त है तो आप हमको मंत्रिमंडल से निकाल कर देखिए‌।’

इस मंत्री ने दावा किया कि वे अपने साथ 252 सांसद ले जाकर मोदी सरकार को गिराने की ताक़त रखते हैं। चूँकि वे विचारधारा से बंधे रहे हैं लिहाजा ऐसा कोई कदम नहीं उठा रहे हैं।

इस मंत्री ने चौंकाने वाला खुलासा करते हुए कहा कि रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह के बेटे और उत्तर प्रदेश के विधायक पंकज सिंह को मोदी ने योगी सरकार में मंत्री बनने से रोका था। कल तक राजनाथ मोदी से बहस करते थे लेकिन अब उन्होंने भी समर्पण कर दिया है।

मोदी से वैचारिक मतभेद रखने वाले इस मंत्री का आरोप था कि मोदी आयकर, ईडी, सीबीआइ जैसी संस्थाओं का विरोधियों के खिलाफ इस्तेमाल कर रहे हैं। जब एक बार उन्होंने मोदी की इस नीति का विरोध किया तब मोदी का उत्तर था कि मुख्यमंत्री से प्रधानमंत्री के पद तक वे इसी नीति के आधार पर पहुंचे हैं।

बातचीत के दौरान यह संकेत भी मिले कि अब मोदी और अमित शाह के बीच सब कुछ ठीक नहीं चल रहा है। मोदी अपनी प्रसन्नता देखने में ही खुश होते हैं। संसद में उनके भाषण पर किसने कितनी तालियां बजाईं इसको भी मोदी अपने चैंबर में बैठकर गिनते हैं।

इस बीच खबर आ रही है कि लोकमत में यह खबर छापने वाले पत्रकार शिलेश शर्मा को नौकरी से निकाल दिया गया है और बताया जा रहा है कि बीजेपी समर्थक पत्रकारों का लगातार शर्मा के पास फोन जा रहा है जिसमें उनसे उस मंत्री का नाम पूछा जा रहा है लेकिन वे नाम बताने से इंकार कर रहे हैं।

इस बीच कल रात में जनपथ स्थित एनसीपी नेता शरद पवार के आवास पर आयोजित एक डिनर में कैबिनेट मंत्री नितिन गडकरी और शिवसेना सांसद संजय राउत मौजूद थे। सामने आयी फोटो में शरद पवार की दाहिनी तरफ संजय राउत बैठे हुए हैं जबकि बांयी तरफ नितिन गडकरी। आपको बता दें कि ईडी ने कल रेड डालकर मुंबई में संजय राउत से जुड़ी कई संपत्तियों को जब्त किया है।



भड़ास व्हाट्सअप ग्रुप- BWG-10

भड़ास का ऐसे करें भला- Donate






भड़ास वाट्सएप नंबर- 7678515849

Leave a Reply

Your email address will not be published.

*

code