Connect with us

Hi, what are you looking for?

प्रिंट

‘नेशनल दुनिया’ के कर्मचारियों का पैसा खा गए शैलेंद्र भदौरिया

दोस्तों, इस सूचना के माध्यम से हम आपका ध्यान इस ओर दिलाना चाहते हैं कि अगर आप या आपका कोई मित्र, रिश्तेदार, जानकार ‘महाराणा प्रताप ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूट्स यानी ‘एमपीजीआई’ के किसी संस्थाीन में प्रवेश लेना चाहता है, नौकरी करने वाला है या किसी अन्य तरह से जुड़ने जा रहा है तो इस बात से सचेत रहे कि यह ग्रुप अपने यहां काम करने वालों के पैसे नहीं देता। 

<p>दोस्तों, इस सूचना के माध्यम से हम आपका ध्यान इस ओर दिलाना चाहते हैं कि अगर आप या आपका कोई मित्र, रिश्तेदार, जानकार 'महाराणा प्रताप ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूट्स यानी 'एमपीजीआई' के किसी संस्थाीन में प्रवेश लेना चाहता है, नौकरी करने वाला है या किसी अन्य तरह से जुड़ने जा रहा है तो इस बात से सचेत रहे कि यह ग्रुप अपने यहां काम करने वालों के पैसे नहीं देता। </p>

दोस्तों, इस सूचना के माध्यम से हम आपका ध्यान इस ओर दिलाना चाहते हैं कि अगर आप या आपका कोई मित्र, रिश्तेदार, जानकार ‘महाराणा प्रताप ग्रुप ऑफ इंस्टीट्यूट्स यानी ‘एमपीजीआई’ के किसी संस्थाीन में प्रवेश लेना चाहता है, नौकरी करने वाला है या किसी अन्य तरह से जुड़ने जा रहा है तो इस बात से सचेत रहे कि यह ग्रुप अपने यहां काम करने वालों के पैसे नहीं देता। 

इस संस्थान का ‘नेशनल दुनिया’ के नाम से अखबार भी निकलता है। उसमें काम करने वालों को कई-कई महीने से पैसा नहीं दिया जा रहा है। अब चूंकि महीनों की मेहनत की कमाई फंसी हुई होती है, इसलिए बेचारे कर्मचारी नौकरी छोड़कर भी नहीं जा पाते हैं। यानी एक तरह से वे बंधुआ मजदूरी कर रहे हैं। इसके अलावा जिन लोगों ने नौकरी छोड़ने का साहस जुटा भी लिया, उनके बकाया पैसे भी कई सालों से नहीं दिए गए हैं। 

Advertisement. Scroll to continue reading.

यहां तक कि ‘पीएफ’ के नाम पर काटे गए पैसे भी हड़प कर लिए गए हैं। इसलिए इस ग्रुप से जुड़ने से पहले अच्छी तरह से सोच-विचार कर लें और पुरानी लोगों से भी बात करके सचाई जान लें। यह ग्रुप बड़े-बड़े विज्ञापनों के जरिए बच्चों को आकर्षित करता है, सब्जबाग दिखाता है, मोटा पैसा खर्च करके विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन करता है और उनमें देश के नामी-गिरामी लोगों को बुलाकर अपनी अच्छी छवि दिखाने की कोशिश करता है, लेकिन आपको सावधान किया जाता है कि इस छवि के पीछे की सचाई भी जान लें।

(जनहित में जारी – कृपया फेसबुक, ट्वीटर, ईमेल आदि के जरिए इस सूचना को ज्यादा से ज्यादा लोगों तक पहुंचा दें। इसे टैग करें, लाइक करें और शेयर करें।)

Advertisement. Scroll to continue reading.

पत्रकार सुमन गौतम से संपर्क : [email protected]

Advertisement. Scroll to continue reading.
Click to comment

0 Comments

  1. well wisher

    August 19, 2015 at 6:45 pm

    sab baki fake company hai a worker ka paisa kha jati hai jo v badai post per hai wo sab chamchy hai tho soch jo v national duniya join kernai ki soch raha usay phaliye bank say loan lai liye

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Advertisement

भड़ास को मेल करें : [email protected]

भड़ास के वाट्सअप ग्रुप से जुड़ें- Bhadasi_Group_one

Advertisement

Latest 100 भड़ास

व्हाट्सअप पर भड़ास चैनल से जुड़ें : Bhadas_Channel

वाट्सअप के भड़ासी ग्रुप के सदस्य बनें- Bhadasi_Group

भड़ास की ताकत बनें, ऐसे करें भला- Donate

Advertisement