प्रेस क्लब आफ इंडिया में नदीम अहमद काजमी का जंगलराज

अमित भनोट पीआईबी एक्रेडेटेड जर्नलिस्ट हैं. दिल्ली में नौ साल से पत्रकारिता कर रहे हैं. दलाल स्ट्रीट मैग्जीन में डिप्टी एडिटर हैं. बावजूद इसके कई साल से प्रयास करने पर भी उन्हें प्रेस क्लब आफ इंडिया की मेंबरशिप नहीं दी गई. ऐसा इसलिए क्योंकि नदीम अहमद काजमी का जंगलराज प्रेस क्लब आफ इंडिया में चलता है. हाल फिलहाल बनाए गए पांच सौ नए मेंबर्स की डिटेल अगर निकलवा ली जाए तो आपको सैकड़ों ऐसे मेंबर मिलेंगे जिनका बैकग्राउंड पत्रकारिता का नहीं है. लेकिन उन्हें अपने धर्म या जाति का होने के कारण सदस्य बना दिया गया है ताकि प्रेस क्लब में वोटबैंक का राजनीति में पलड़ा भारी रहे.

सोचिए, इतने पढ़े लिखे और इतने बड़े प्रेस क्लब के नेता लोग जब वोट बैंक की राजनीति कर रहे हैं तो वो किस मुंह से राजनीतिक पार्टियों के नेताओं को वोट बैंक की पालिटिक्स के नाम पर देश और समाज को तबाह करने का आरोप लगा सकते हैं. नीचे एक पत्र है जो अमित भनोट ने भड़ास4मीडिया को लिख भेजा है. ऐसे ढेरों जेनुइन पत्रकार साथी हैं जिन्हें प्रेस क्लब की सदस्यता सिर्फ इसलिए नहीं दी गई क्योंकि वो नदीम अहदम काजमी नामक शख्स के करीबी नहीं हैं या उनकी जाति या धर्म के नहीं हैं.

-यशवंत, एडिटर, भड़ास4मीडिया


Yashwant ji

press club of India ke baare me Aawaz uthane ke liye badhai. Mai pichle 9 saal se dilli me patrakarita kar Raha hu aur ek Dalal Street magazine me dy editor hu. sath me PIB accredited journalist bhi hu (no1136). Bavjood iske pichle Kai saalo ke prayas ke Baad bhi mujhe press club ki membership nahi mil Saki hai.

Mai jab bhi Apne kisi varishth patrakar Sathi se bolta hu ki pib hone ke bavjood bhi kyo membership nahi di ja Rahi to wo ashcharya vyakt Karta hai but kuch kar nahi pata. Mera form bhi PCI me filed hai per membership kyo nahi Mili koi nahi batata. Kai log membership ke liye rishwat Dene ki baat bhi keh chuke hai but wo Mai Dena nahi chahata.

Jaha tak office bearers ka sawal hai to wo to Cabinet Sectary se bhi jyada busy rehte hai aur kabhi kuch nahi karte. Aur to aur PCI ke bahar bouncer jaise log Khade rete hai Jo hum jaise patrakaro Ko chor thahrate hai aur ghusne se rokte hai..kripya bataye ki mujhe Kya karna chahiye. Vaise mai kai Baar kisi niji company ke managers ke sath press club ja Chuka hu Jo iske member Kai saalo se hai aur kuch paisa Dene ke Baad mujhe bhi member banane ki baat karte hai. Kya mujhe membership ke liye rishwat Deni chahiye…?

Amit Bhanot
Deputy Editor
Dalal Street Magazine

इसे भी पढ़ सकते हैं….

xxx

xxx

xxx

xxx

xxx

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *