2022 को प्रतिरोध वर्ष के रूप में मनायेंगे लेखक

Share

प्रियवर,

इस समय देश भर में जो हो रहा है उसकी भीषण सचाई से आप, सृजनकर्मी होने के नाते, अच्छी तरह से परिचित हैं। संविधान के बुनियादी ढाँचे की उपेक्षा करते हुए संवैधानिक संस्थाओं और मर्यादाओं का, लोकतांत्रिक असहमति की अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता का, नागरिक सजगता-सक्रियता का, राजनैतिक-सांस्कृतिक-नागरिक विपक्षों का खुलकर दमन किया जा रहा है। याराना पूँजीपतियों और कारपोरेट क्षेत्र को छोड़कर लगभग सभी अन्य वर्गों की स्वतंत्रता-समता-न्याय के खाते में कटौतियाँ हो रही हैं।

असहमति को देशद्रोह तक क़रार दिया जा रहा है। तरह-तरह की क़ानूनी, सामाजिक और सांस्कृतिक बन्दिशें लगायी जा रही हैं। स्त्रियाँ-दलित-अल्पसंख्यक-आदिवासी लोग निरन्तर हिंसा, हत्या, बलात्कार, अन्याय आदि के शिकार हो रहे हैं। मँहगाई, ग़रीबी, विषमता, बेरोज़गारी रिकार्ड स्तर पर तेज़ी से बढ़ रही है और मानो इनसे ध्यान बँटाने के लिए साम्प्रदायिकता, धर्मान्धता, जातिवाद आदि को राज्य के संरक्षण में बढ़ावा दिया जा रहा है। सामाजिक समरसता, सद्भाव और आपसदारी को सुनियोजित ढंग से नष्ट किया जा रहा है और उतने ही ढंग से विस्मृति तथा दुर्व्‍याख्या फैलायी जा रही हैं। भारतीय परम्परा और संस्कृति के नाम पर पाखंड, तमाशे, अनाचार और अत्याचार हो रहे हैं। तरह-तरह के डर फैलाये जा रहे हैं। धर्मसंसद के नाम से सजाए गए मंच से हत्याओं का खुला आह्वान तो बिल्कुल हाल की बात है और पिछले सात सालों में जो कुछ हुआ है, उन्हें देखते हुए वह कहीं से अप्रत्याशित और आश्चर्यजनक नहीं है।

यह सब भारतीय लोकतंत्र और संविधान, भारतीय सभ्यता, भारतीय परम्परा की उदात्त मूल्य-दृष्टियों का, अकसर निस्संकोच नासमझ पर सदलबल, प्रत्याख्यान और अपमान है।

ऐसे चुनौतीपूर्ण समय में साहित्य-कला-संस्‍कृति से जुड़ा समाज चुप नहीं बैठ सकता क्योंकि उसके सत्व और स्वतंत्रता को भी लगातार अवमूल्यित किया जा रहा है। इस समय ज़रूरी है कि लेखक और पाठक, अन्य कलाकारों, विद्वानों के साथ मिलकर अपना गहरा प्रतिरोध प्रगट करें। हाल ही में इलाहाबाद में हुए प्रलेस-जलेस-जसम के साझा आयोजन में पारित प्रस्ताव एक संयुक्त मोर्चे का आह्वान करते हुए इस बात को रेखांकित करता है कि आरएसएस-भाजपा ने ‘2022 तक चलनेवाले अमृत-महोत्सव अभियान के जरिए अपने एजेंडे को ज़ोर-शोर से उठाना शुरू कर दिया है। विभाजन की त्रासदी को आधार बनाकर देश के भीतर मुसलमानों के खिलाफ़ नफ़रत और सीमा पर पाकिस्तान के खिलाफ़ युद्धोन्माद भड़काने का स्थायी आधार विकसित करने में वे लग गए हैं। यहाँ तक कि वे संविधान को भी अपनी डिज़ाइन के राष्ट्रवादी जामे में फिट करने की क़वायद में लग गए हैं। इस सबका हमें जवाब देना होगा।’

निश्चय ही, सृजन-विचार-कर्म सभी स्तरों पर प्रतिरोध की एकजुटता हमारे समय की माँग है। इसी के मद्देनज़र दिल्ली में हुई लेखकों की एक सभा ने यह निश्चय किया है कि हम 2022 को प्रतिरोध वर्ष के रूप में मनायें और उन लेखकों-कलाकारों की जन्मतिथियों पर ऐसे आयोजन करें जिन्होंने साहित्य में स्वतंत्रता-समता-न्याय के मूल्यों का सर्जनात्मक और वैचारिक अन्वेषण और सत्यापन किया है। ऐसे आयोजन वैचारिक मतभेदों से अलग हटकर हों और इनसे यह संदेश जाए कि पूरे देश के साहित्य-संस्कृति-कर्मी साहस और ज़िम्मेदारी के साथ इस ऐतिहासिक मुक़ाम पर एकजुट होकर, अहिंसक ढंग से प्रतिरोध कर रहे हैं। इन आयोजनों के ज़रिए संविधान और लोकतंत्र की रक्षा के सामान्य आह्वान के साथ-साथ भीमा-कोरेगाँव मामले में तथा इस तरह के अन्य फ़र्ज़ी मामलों में गिरफ़्तार किए गए लेखकों-पत्रकारों-बुद्धिजीवियों की रिहाई की माँग ज़ोरदार तरीक़े से उठनी चाहिए।

इस सबके लिए जो भी साधन ज़रूरी लगे वे आप सभी मित्रों को स्थानीय स्तर पर प्रयत्न कर जुटाने होंगे। यह ज़रूरी होगा कि जैसे हाल ही में समाप्त हुए किसान आन्दोलन ने राजनैतिक दलों से दूरी बरती, वैसे ही हम भी इस अभियान को दलीय राजनीति से दूर रखें। हम यह उम्मीद करते हैं कि कम-से-कम हिन्दी-उर्दू अंचल में अगले छः महीनों में सौ से अधिक प्रतिरोध-आयोजन आप सबकी पहल, सजग सक्रियता और शिरकत से सम्भव हो पायेंगे। इस अभियान की शुरूआत महात्‍मा गांधी की शहादत के दिन, 30 जनवरी 2022 से करना उपयुक्‍त और ध्‍यानाकर्षक होगा। अलग-अलग शहरों में वहाँ की स्थानीय बाध्यताओं को देखते हुए इसे एक दिन आगे या पीछे भी किया जा सकता है। दिल्‍ली में एक आयोजन समिति गठित की गयी है। ऐसी ही आयोजन समितियाँ सभी जगह पर गठित हों ताकि अभियान व्‍यापक तालमेल और सोद्देश्‍य ढंग से संचालित हो सके।

निवेदक:

अशोक वाजपेयी

असग़र वजाहत (अध्यक्ष, जनवादी लेखक संघ)

कुमार प्रशांत

राजेंद्र कुमार (अध्यक्ष, जन संस्कृति मंच)

विभूति नारायण राय (अध्यक्ष, प्रगतिशील लेखक संघ)

हीरालाल राजस्थानी (संरक्षक, दलित लेखक संघ)

हेमलता महीश्वर (अध्यक्ष, अखिल भारतीय दलित लेखिका मंच)

समर्थन और एकजुटता में:

1) अखिलेश

2) अचुत्यानंद मिश्र

3) अवधेश प्रधान

4) असद ज़ैदी

5) आलोक धन्वा

6) आशुतोष कुमार

7) कात्यायनी

8) कुमार अम्बुज

9) कौशल किशोर

10) गोपाल प्रधान

11) चंचल चौहान

12) जवरी मल्ल पारख

13) देवीप्रसाद मिश्र

14) नरेश सक्सेना

15) पंकज बिष्ट

16) प्रेम कुमार मणि

17) बजरंग बिहारी तिवारी

18) मदन कश्यप

19) मधु कांकरिया

20) मनमोहन

21) मिथिलेश श्रीवास्तव

22) मुरली मनोहर प्रसाद सिंह

23) मृदुला गर्ग

24) रंजीत वर्मा

25) राजेन्द्र शर्मा

26) राजेश जोशी

27) रामकुमार कृषक

28) रामशरण जोशी

29) रेखा अवस्थी

30) लालटू

31) विजय कुमार

32) विष्णु नागर

33) वीरेंद्र यादव

34) शम्भूनाथ

35) शिवमूर्ति

36) शुभा

37) संजय सहाय

38) संजीव

39) संतोष भदौरिया

40) सत्यपाल सहगल

41) सुधा अरोड़ा

42) सूर्यनारायण

43) अंकित कुमार

44) अंकिता चतुर्वेदी

45) अक्षय सभरवाल

46) अखिलेश कुमार

47) अजित राय

48) अटल तिवारी

49) अतुल कुमार

50) अतुल सती जोशीमठ

51) अनामिका विहान

52) अनिल करमेले

53) अनिल के सिन्हा

54) अनीता जायसवाल

55) अनीता मिश्र

56) अनुराग शर्मा

57) अनूप सेठी

58) अन्वेषा सिंह राठौर

59) अभिषेक अग्रवाल

60) अभिषेक गोस्वामी

61) अमरजीत यादव

62) अमृता बेरा

63) अरुण देव

64) अर्जूमंद आरा

65) अर्पिता राठौर

66) अलका जिलोया

67) अली इमाम खाँ

68) अशोक अग्रवाल

69) अशोक शुभदर्शी

70) आँचल पाल

71) आकांक्षा सिंह

72) आनंद बी.के.

73) आनंद स्वरूप वर्मा

74) आबिद फ़ातिमी

75) आयुष पाठक

76) आशा जस्सल

77) आशुतोष नंदन

78) आशुतोष यादव

79) इस्लाम हुसैन

80) उमा गुप्ता

81) उमेश चौधरी

82) एस सुनील

83) एस. प्रह्लाद मीणा

84) कथादेश सहयात्रा प्रकाशन

85) कमलेश वर्मा

86) कल्पना त्रिपाठी पंत

87) कवल धारी

88) कांतिमोहन सोज़

89) कुमारी समीक्षा

90) कुमार सत्येन्द्र

91) कुसुम सबलानिया

92) कौस्तुभ श्रीवास्तव

93) गिरिजेश तिवारी

94) गीता हरिहरन (इंडियन कल्चरल फ़ोरम)

95) गुलशन बानो

96) गोपाल प्रसाद

97) चंद्रकांता सिवाल

98) जगदंबा पाण्डेय

99) जय किशोर

100) ज़ोया हसन

101) जावेद आलम ख़ान

102) जाहिद ख़ान

103) टेकचन्द

104) तारक देसाई

105) तेजप्रताप तेजस्वी

106) दया शंकर राय

107) दिनेश अस्थाना

108) दिवेश

109) दिव्या अग्रवाल

110) दीप संखला

111) नंदलाल सिंह

112) नलिन रंजन सिंह

113) नरेंद्र कुमार

114) नरोत्तम शर्मा

115) नितेन अग्रवाल

116) नीतीश भारद्वाज

117) नीलम राठौर

118) नीलिमा शर्मा (निशांत नाट्य मंच)

119) नूर मोहम्मद नूर

120) नौशाद अली

121) पंकज चतुर्वेदी

122) पंचराज यादव

123) पवन कुमार

124) पी सी रथ

125) प्रज्ञा रोहिणी

126) प्रणव प्रियदर्शी

127) प्रमोद कुमार बागड़े

128) प्रशांत सिंह

129) प्रह्लाद चंद्र दास

130) प्रियदर्शन

131) प्रियंबदा दास

132) प्रिया राज

133) प्रीतम भोरे

134) प्रीति

135) प्रेम तिवारी

136) बंशीलाल परमार

137) बद्री रैना

138) बब्बन कुमार शाह

139) बलवंत कौर

140) बली सिंह

141) बसंत त्रिपाठी

142) बृजेन्द्र तिवारी

143) ब्रजमोहन कुमार

144) भागीरथ कुलदीप

145) मदन गोपाल सिंह

146) मदन मोहन

147) मदन मोहन चमोली

148) मनीष वर्मा

149) मनोज मल्हार

150) मनोज कुलकर्णी

151) मनोहर नायक

152) मृत्युंजय

153) महिपाल सिंह

154) ममता जयंत

155) महेश कटारे सुगम

156) महेश कुमार

157) माला सिंह

158) मलय श्री हाशमी (जन नाट्य मंच)

159) मीना गौतम

160) मोनिका कुमारी मिश्रा

161) मोहम्मद उमर सिद्दीक़ी

162) मोहम्मद नदीम

163) मोहम्मद फैसल

164) मोहसिन अली

165) मोहित सिंह सेंगर

166) योगेश कानवा

167) रणेन्द्र

168) रमेश दीक्षित

169) रतन टीर्की

170) रवि प्रकाश

171) रवींद्र गोयल

172) रश्मि रावत

173) राकेश कुमार

174) राजमणि त्रिपाठी

175) डॉ. राजकुमारी

176) राजीव रंजन

177) राजू भगत

178) राजेंद्र कुमार

179) राजेन्द्र सिंह

180) राजेश कुमार

181) राजेश मल्ल

182) राजेश शिवपुरी

183) राजेश पाल

184) राजेंद्र राजन

185) राम तीर्थ शर्मा

186) राम नारायण रमन

187) रामजी राय

188) राम रहमान

189) राम प्रकाश त्रिपाठी

190) राम प्रसाद राजभर

191) राहुल कसौधन

192) राहुल कुमार

193) राहुल सिंह लोधी

194) रूपम मिश्र

195) रूपाली सिन्हा

196) रेणु गौरीसरिया

197) रोशनी निर्मला होरो

198) रौनक वर्मा

199) लंकेश ज़िन्दाबाद

200) डॉ. लाल रत्नाकर

201) वंदना सिंह

202) विकाश तिवारी

203) विकास कुमार

204) विकास मेहरा

205) विजय गौर

206) विजय पाल

207) विजय श्रीवास्तव

208) विनय कान्त मिश्र

209) विनोद दास

210) विनीताभ

211) विपुल कुमार

212) विवेक प्रदीप तिवारी

213) विशु कुमार

214) विष्णु प्रभाकर

215) वैभव सिंह

216) व्योमेश शुक्ला

217) शंभू गुप्त

218) शंभू शरण अग्रवाल

219) शक्ति शक्तिराज

220) शशि उज्ज्वल गुप्ता

221) शशि कला यादव

222) शशि रंजन

223) शिवम कुमार

224) शैलेन्द्र कुमार

225) शैलेय शंभू

226) श्योदान वर्मा

227) श्रेया राय

228) संजीव कुमार

229) संजय कुंदन

230) संज्ञा उपाध्याय

231) संतोष कुमार यादव

232) संतोष संगम

233) संदीप

234) संदीप मील

235) सत्या सिद्धार्थ

236) सचिन कुमार

237) सचिन कुमार मीणा

238) सम्शुल इस्लाम

239) सलीम ख़ान फ़रीद

240) सीमा आज़ाद

241) सुधन्वा देशपांडे

242) सुधीर सिंह

243) सुधीर रंजन

244) सुधीर सुमन

245) सुनीता पठानिया

246) सुनीता मलेठा

247) सुनीता वर्मा

248) सुमंत शरण

249) सुभाष राय

250) सुरेन्द्र आनंद

251) सुहेल हाशमी

252) सूरत

253) सोनम कुमारी

254) सौमेन्द्र मोहन सरकार

255) हम देखेंगे

256) हरपाल सिंह अरुष

257) हरपाल सिंह भारती

258) हरिमोहन शर्मा

259) हरियश राय

260) हरीशचन्द्र पांडे

261) हाफिस अली कादिरी

262) हिमांशु रंजन

263) हीरालाल नागर

Latest 100 भड़ास