आनंद वर्धन सिंह के ‘The Public’ यूट्यूब चैनल के एक लाख सब्सक्राइबर हुए, जल्द लांच करेंगे मैग्जीन

एक Lakh Subscribers के साथ लोकप्रिय Online Views Channel के रूप में स्थापित हुआ “The Public”

लखनऊ। डिजिटल माध्यम में यूँ तो ढेरों Youtube Channel व पोर्टल काम कर रहे हैं लेकिन मात्र डेढ़ साल की अवधि में The Public Youtube Channel ने अपनी ख़ास जगह बना ली है। अप्रैल 2018 में शुरू हुए इस चैनल के पास अब 1 लाख से ऊपर Subscribers हैं और इस पर प्रदर्शित वीडियो दर्शकों में ख़ूब प्रचलित हैं।

दरअसल, मीडिया के बदलते स्वरूप और ऑनलाइन माध्यमों की लोकप्रियता को देखते हुए लोकमत, उत्तर प्रदेश संस्करण के प्रमुख आनंद वर्धन सिंह पिछले वर्ष The Public की स्थापना इस विचार के साथ की गई कि ढेरों ऐसे विषय हैं जिन पर आम जनता को तथ्ययुक्त व निष्पक्ष दृष्टिकोण प्रदान करने की आवश्यकता है। अतः आनंद वर्धन सिंह द्वारा अपने सहयोगियों व तकनीकी स्टाफ़ के साथ यह चैनल शुरू किया गया।

चैनल का सर्वाधिक लोकप्रिय कार्यक्रम “Third Eye” है, जो इसके संस्थापक आनंद वर्धन सिंह स्वयं प्रस्तुत करते हैं। यह कार्यक्रम सोमवार, बुधवार व शुक्रवार को सायं 8 बजे प्रसारित होता है। इस अतिरिक्त कमलेश त्रिपाठी द्वारा सप्ताह में एक बार बुक रिव्यू कार्यक्रम “बात किताबों की” और प्रेरक कहानियों के कार्यक्रम “कथाएँ कमलेश की प्रस्तुत किया जाता है।

आनंद वर्धन सिंह Third Eye के अलावा बृहस्पतिवार को भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के गुमनाम व प्रसिद्ध नायकों से जुड़ी कहानियाँ व संस्मरण प्रस्तुत करते हैं और साथ ही शनिवार को हिंदू धर्म के सम्बंधित सूचनाएँ, संस्कार, कथाओं और प्रथाओं की जानकारी देते हैं। इसके अलावा समय-समय पर सूचना का अधिकार, शिक्षा का अधिकार व विभिन्न सामाजिक विषयों पर भी कार्यक्रम प्रसारित किए जाते हैं।

आनंद वर्धन सिंह ने बताया कि अब लोग समाचार पत्रों के सीमित माध्यम से बाहर आकर डिजिटल माध्यम को अपना रहे हैं। लेकिन इस माध्यम में अक्सर विश्वसनीय तथ्यों की कमी और पूर्वग्रह से ग्रसित दिखाई देते हैं। श्री सिंह कहते हैं कि हमें यह ज़रूरत महसूस हुई कि आम जनता तक विश्वसनीय, तार्किक व तथ्यात्मक रूप से सही सूचनाएँ पहुँचनी चाहिए, इसलिए हमने माध्यम चुना और ख़ुशी है कि लोग इसे ख़ूब पसंद कर रहे हैं।

श्री सिंह ने बताया कि जल्द ही लखनऊ से “The Public” नाम से ही मासिक पत्रिका का प्रकाशन शुरू किया जाएगा। इसके लिए पत्रिका के शीर्षक सत्यापन की प्रक्रिया आरम्भ कर दी गई है। पत्रिका के अलावा एक समाचार पोर्टल आरम्भ करने भी की योजना है जिसमें नवीनतम समाचारों के साथ देश-विदेश के विभिन्न क्षेत्रों के प्रबुद्धों द्वारा लिखित लेख, विचार व चर्चाएँ प्रस्तुत की जाएँगी।

Tweet 20
fb-share-icon20

भड़ास व्हाटसअप ग्रुप ज्वाइन करें-

https://chat.whatsapp.com/B5vhQh8a6K4Gm5ORnRjk3M

भड़ास तक खबरें-सूचना इस मेल के जरिए पहुंचाएं- bhadas4media@gmail.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *