यू-ट्यूबरों ने इतना किया परेशान कि स्कूल संचालक ने दे दी जान!

सिरसा : सिरसा के चौपटा में स्थित प्रतिष्ठित दयानंद स्कूल के संचालक रविंद्र गोदारा ने यू-ट्यूबरों व तथाकथित पत्रकारों की प्रताड़ना से परेशान होकर नहर में छलांग लगाकर जीवनलीला समाप्त कर डाली।

सुसाईड से पहले स्कूल संचालक रविंद्र गोदारा ने अपने खुद के यू-ट्यूब चैनल पर एक वीडियो अपलोड किया जिसमें उसने सीधे तौर पर यू-ट्यूबर हनुमान पूनियां, राजवीर भाम्भू व प्रेम कासनिया को अपनी मौत का जिम्मेदार ठहराया।

भिरानी पुलिस ने शुक्रवार शाम सिद्धमुख नहर में भिरानी हैड के पास से गोताखोरों की मदद से स्कूल संचालक का शव बरामद कर परिजनों को सौंप दिया है। पुलिस को मृतक रविंद्र गोदारा की कार से दो पेज का सुसाइड नोट भी मिला है। मृतक ने हनुमान पुनियां, प्रेम कासनिया व राजवीर भाम्भू को अपनी मौत का जिम्मेदार ठहराया है। इसमें से दो आरोपी तथाकथित पत्रकार बताये जा रहे हैं।

बताया जा रहा है कि रविंद्र गोदारा जिस यू-ट्यूबर हनुमान पुनियां को अपनी मौत का जिम्मेदार ठहरा रहा है, इस पर अभी कुछ दिन पहले भी एक बीडीपीओ को प्रताड़ित करने के आरोप लगे थे। लेकिन इस मामले में सिरसा के यू-ट्यूबर व तथाकथित पत्रकार हनुमान पुनिया के समर्थन में आ गए और इसके समर्थन में चौपटा में धरना भी दिया था।

आरोप है कि सीबीएसई का रिजल्ट आने पर यूट्यूबरों ने रविंद्र गोदारा पर अपने शिक्षा में कमजोर भांजे को टॉपर बनाने के आरोप लगा दिए। इस पर परिजनों व विद्यार्थियों ने खूब हंगामा भी किया था। यु ट्यूबर हनुमान ने अपने यू-ट्यूब चैनलों पर इस मामले की खूब कवरेज की।

उसके दो दिन बाद रविन्द्र गोदारा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करने के लिए 6 अगस्त का दिन निर्धारित किया। अगले दिन 6 अगस्त शुक्रवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस करने के बजाए रविन्दर घर से गायब हो गया। देर शाम करीब 6 बजे सिद्धमुख नहर में भिरानी हैड के पास नहर में उनका शव मिला। रविंद्र गोदारा की कार से एक सुसाइड नोट भी मिला, जिसमें चार लोगों को मौत का जिम्मेदार ठहराया गया है जिसमें दो यू-ट्यूबर हैं।

उन्होंने इन यू-ट्यूबरों पर ब्लैकमेल करने के आरोप लगाते हुए उनके द्वारा की जा रही पत्रकारिता पर सवाल उठाए हैं।

पढ़ें मरने से पहले आखिरी वीडियो में क्या कहा रविंद्र गोदारा ने- “मैं कोई ऐसा काम तो नहीं कर रहा हूं कि मेरे को माफ किया जाए। लेकिन दयानंद स्कूल को बदनाम करने के लिए कुछ लोगों ने साजिश रची है। जिसमें मेरे को मोहरा बनाया गया है। जिस प्रकार से उन्होंने काम किया है, बच्चों के सामने मुझे जलील किया है, तो ऐसा जो वह चाह रहे हैं, यह देख कर मैं जी नहीं पाउंगा। ये अचानक नहीं हुआ है। इसके पीछे काफी समय से एक ग्रुप काम कर रहा था। हनुमान पुनिया जो अपने आप को एक पत्रकार कहता है। इसके कारनामे सभी को पता है। स्कूल एक सोफ्टकोर्नर होता है, जिसको उसने चुना है। इसमें प्रेम कासनियां ने भी इसका साथ दिया है। मुझे समझ में नहीं आता कि प्रेम कासनियां ने मेरे साथ दुश्मनी निकलाने के लिए ये सब किया, वो चाहता है कि मैं झुक कर सलाम करूं, मैं कर लूँगा। उसने अपने इगो के लिए पूरी संस्था को बदनाम करना चाहा। इस संस्था ने पूरे इलाके के हजारों बच्चों का भविष्य बनाया है।”

राजस्थान के जिला भादरा अंतर्गत भिरानी पुलिस ने मृतक रविंद्र गोदारा की कार से बरामद सुसाइड नोट के आधार पर यु ट्यूबर हनुमान व अन्य प्रेम कासनिया, राजबीर भाम्भू के खिलाफ धारा 306, 384 व 183 समेत विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज कर जांच शुरु कर दी है।

स्कूल संचालक रविंद्र गोदारा ने सुसाइड से पहले यू-ट्बरों पर क्या लगाए आरोप, नीचे दिए इस लिंक पर क्लिक कर देखें वीडियो

https://www.youtube.com/watch?v=5BQyK59oP5U

भड़ास की खबरें व्हाट्सअप पर पाएं, क्लिक करें-

https://chat.whatsapp.com/Bo65FK29FH48mCiiVHbYWi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *