इंडिया टीवी वाली अनीता मैम के आतंक से त्रस्त एक टीवी जर्नलिस्ट ने दिया इस्तीफा!

तनु शर्मा प्रकरण आप सबको याद ही होगा. उसमें विलेन यही अनीत मैम थीं. इन पर कई तरह के गंभीर आरोप तनु ने लगाए थें. लेकिन ग़ज़ब ये देखिए कि इन पर आरोप लगते गए और इनका ओहदा बढ़ता गया.

अनीता मैम फिलहाल मैनेजिंग एडिटर (न्यूज आपरेशंस) के पद पर कार्यरत हैं. बताया जाता है कि इनका मुख्य काम डांटना, फटकारना, ड्यूटी चार्ट बनाना और सारी बातें उपर पहुंचाना होता है. इनके घटिया व्यवहार से त्रस्त इंडिया टीवी के पत्रकार नितिन भारद्वाज ने इस्तीफा दे दिया है. बताया जाता है कि नितिन की शिफ्ट लगातार बदली गई. वे जब आफिस जाते तो पता चलता कि उनकी शिफ्ट बदल चुकी है.

इससे नाराज नितिन ने एक रोज न्यूज रूम में ही चिल्ला चिल्ला कर अनीता मैम और समीप राजगुरु पर आरोप लगाना शुरू कर दिया. उन्होंने इन दोनों पर कई गंभीर आरोप लगाए जिसे उस वक्त न्यूज रूम में बैठे लोगों ने सुना भी. उसके बाद नितिन ने इंडिया टीवी के एक ह्वाटसअप ग्रुप में अपना इस्तीफा भेज दिया, यह कह कर कि- ”अनीता और समीप अमानवीय हैं, इनके दुर्व्यवहार को मैं अब बर्दाश्त नहीं कर सकता.”

उपरोक्त इस्तीफानामा नितिन ने न्यूज रूम में ही बेहद तनाव के क्षण में लिखा जिसके चलते आटोकरेक्ट की गई स्पेल मिस्टेक भी हैं. उल्लेखनीय है कि इंडिया टीवी की टीआरपी इन दिनों धड़ाम हुई पड़ी है लेकिन वहां तीन तीन मैनेजिंग एडिटर न्यूज रूम में टहलते मिल जाते हैं. उपर अनीता शर्मा का जिक्र किया ही जा चुका है. दूसरे मैनेजिंग एडिटर (न्यूज) के पद पर हैं पीयूष पदमाकर. इन पर वहां कार्य करने वाले दुर्व्यहार का आरोप लगाते रहते हैं.  तीसरे मैनेजिंग एडिटर (न्यू प्रोजेक्ट्स) हैं अमरेंद्र सिंह.  फिलहाल इंडिया टीवी में नितिन का इस्तीफा चर्चा का विषय बना हुआ है.

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Comments on “इंडिया टीवी वाली अनीता मैम के आतंक से त्रस्त एक टीवी जर्नलिस्ट ने दिया इस्तीफा!

  • VIJAY PAL SINGH says:

    इंडिया टीवी एक सरकारी चैनल है जहां काम करने वालों को जंग लग गया है।

    Reply
  • Pradeep Kumar says:

    इंडिया टीवी में एक सिंडिकेट है। सही कहें तो सुरेंद्र गुंबर और पुनीत टंडन ही इंडिया टीवी चलाते हैं। इनकी हजारों कहानियां हैं। जो लोग इनका साथ नहीं देते, उनको यह निकलवा देते हैं या तंग करते हैं। कहते हैं मालिक ने उन्हें परी छूट दी है। और तो और, अब DDCA का काम भी पुनित टंडन ही देखता है। यहां का मालिक भी न जाने कि किस नशे में या किस डर से इनके चंगुल में है और इंडिया टीवी जैसे संस्थान के कूड़ादान बनाकर रख दिया है।

    Reply
  • इंडिया टीवी के बदलते हालातों में बड़े इस्तीफों का दौर भी शुरू हो गया है। कई बड़े इस्तीफे इसी हफ्ते हुए हैं। नोटिस पीरियड पर चल रहे ये बड़े विकेट जल्द ही चैनल से किनारा करने वाले हैं। इंडिया टीवी में नाकारा लोगों की फौज इकट्ठा है। समझदार लोगों दूसरी जगहों पर नौकरी तलाशने, पाने लगे है।

    Reply
  • Saurabh Katyal says:

    सुना हैं ये सब यहाँ के असाइनमेंट हेड गंभीर से परेशान हैं।

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *