तो अयोध्या वाले बाबा ने ‘जी न्यूज’ के रिपोर्टर पर इस वजह से झूठे आरोप लगा दिए! सुनें परमहंस गालीबाज का आडियो

मनमीत गुप्ता-

पत्रकार होकर किसी से सवाल पूछना गुनाह है क्या , क्या पत्रकार सवाल पूछने पर गाली खा कर चुप हो जाए… ये ठीक है क्या? अयोध्या के परमहंस दास से सवाल पूछने पर मेरी मां को भद्दी भद्दी गालियां दी जाय, जाति सूचक गाली दी जाय, क्या उस पर चुप रहना ठीक है क्या? मेरा जमीर नहीं बोला कि मैं चुप रहूं इसलिए मैंने परमहंस दास उर्फ उदय राज के खिलाफ अयोध्या कोतवाली में मुकदमा पंजीकृत कराया। तपस्वी छावनी के परमहंस दास ने मुकदमे की पेसबंदी में मेरे खिलाफ अनर्गल झूठा और बेबुनियाद आरोप लगाया है। मैं उस पर भी चुप नहीं रहूंगा। मैं उसके खिलाफ अपने लीगल वकील से मानहानि का मजबूत दावा ठोक रहा हूं।

मैं मनमीत गुप्ता, ‘ज़ी न्यूज़’ में अयोध्या का संवाददाता 31 जनवरी 22 तक रहा हूं। मैंने निर्भीकता, कर्मठता और इमानदारी से बेहतरीन न्यूज़ कवरेज का कार्य 20 वर्षों तक किया है। अयोध्या में संत हो या गृहस्थ या व्यापारी, कोई मेरे आचरण पर सवाल नहीं खड़ा कर सकता है। लेकिन तपस्वी छावनी के परमहंस दास जो मध्य प्रदेश से अयोध्या आकर शिफ्ट हुए हैं, ने मेरे ऊपर रुपए मांगने, अपने बच्चों की तबीयत खराब होने के नाम पर पैसे मांगने, उनकी फीस जमा करने और घर में भोजन ना होने के लिए पैसे मांगने, नई गाड़ी ख़रीदने के लिए रुपये मांगने का बड़ा आरोप लगाया है।

मैं मध्यमवर्गीय परिवार का बेटा हूं। मुझे मेहनत करके पैसे कमाने के अलावा किसी के सामने हाथ फैलाने की जरूरत नहीं है। घटनाक्रम के बारे में मैं बताऊं कि परमहंस दास द्वारा वायरल की गई असलहा के साथ फोटो की खबर चलाई थी। इसके लिए उन्होंने मुझे फोन करके शिकायत दर्ज कराई थी। इसका ऑन रिकॉर्ड मेरे पास एविडेंस है। इस बात को लेकर यह मुझसे नाराज चल रहे थे क्योंकि उनके हाथ में जो असलहा था वह इनके नाम लाइसेंसी नहीं था।

29 जनवरी की सुबह उन्होंने मुझे फोन करके लता मंगेशकर के स्वास्थ्य लाभ के लिए राजसूय यज्ञ की खबर बनाने के लिए कहा। मैं उस खबर के लिए इनके यहां नहीं गया क्योंकि किसी भी व्यक्ति के स्वास्थ्य लाभ के लिए यह यज्ञ नहीं किया जाता है। यह यज्ञ सम्राट बनाने के लिए किया जाता है। राज्य के विस्तार के लिए किया जाता है।

शाम 5:30 के 6:00 के बीच में हमारी इनकी टेलीफोन से वार्ता हुई। इसमें हमने यही सवाल इनसे पूछ लिया। इस पर यह नाराज हो गए और मुझे फोन पर भद्दी भद्दी गालियां देने लगे। मेरी मां को गालियां देने लगे, मेरी जाति को गाली देने लगे, पत्रकार को गाली देने लगे। गाली-आडियो सुनने के लिए क्लिक करें- baba ki gaali

जो खुद को बाबा कहता हो, उसके मुंह से ऐसी ऐसी गाली सुनकर मैं अवाक हो गया था।

हमने इनके खिलाफ अयोध्या की नगर कोतवाली में जो वास्तविकता थी, उस आधार पर तहरीर दे दी और पुलिस ने एविडेंस को देखते हुए इनके खिलाफ एफ आई आर दर्ज कर लिया। इसके बाद परमहंस दास ने मेरे ऊपर बेबुनियाद झूठे और जिस पर विश्वास नहीं किया जा सकता, वह आरोप लगाकर वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया। लेकिन सवाल यह उठता है कि मुझे जब ज़ी न्यूज़ सेलरी दे रहा है, राम जी की कृपा से संयुक्त परिवार मेरे साथ है तो मुझे किसी से कुछ मांगने की क्या जरूरत?

इनके तपस्वी छावनी के बारे में अगर जानकारी की जाए तो इनकी ही आर्थिक स्थिति दूसरों पर निर्भर है, तो यह क्या किसी को देंगे। अगर इनके ही आरोपों की बात की जाए तो जिस व्यक्ति के पास बच्चों की फीस जमा करने के लिए धन नहीं है खाने के लिए पैसे नहीं हैं और बीमारी के इलाज के लिए धन नहीं है तो उसको नई गाड़ी खरीदने की क्या जरूरत है, यह अपने ही आरोप में झूठे साबित हो रहे हैं। लेकिन मैं भगवान राम की नगरी का जन्मा लड़का हूं। मैं इस बेबुनियाद आरोप से डरने वाला नहीं हूं।

मैंने ईमानदारी के साथ काम किया है और इस झूठे आरोप के खिलाफ मैं गंभीर लड़ाई लड़ने के लिए तैयार हूं। लेकिन दुख इस बात का है कि एक झूठे आरोप पर मुझे और मेरे संस्थान Zee News की छवि धूमिल करने का प्रयास किया गया। उचित यह रहता कि एक बार जिस पर आरोप लगा है, उससे सच्चाई तो जान लिया जाता। मुझे मजबूरन अपनी सफाई और एविडेंस दोनों आपके सामने रखना पड़ रहा है। आप तय कीजिए कि क्या पत्रकार होकर सवाल पूछना गलत है, पत्रकार होकर गाली खाना उचित है, कोई व्यक्ति मां को गाली दे रहा हो और चुप हो जाना यह उचित है, या लड़ना उचित है।

इस प्रकरण पर अयोध्या के कुछ संतों की प्रतिक्रिया और गालीबाज परमहंस का आडियो सुनें… नीचे क्लिक करें-

manmeet gupta prakran audio video

मूल खबर-

जी न्यूज अयोध्या के रिपोर्टर पर एक बाबा ने लगाए गंभीर आरोप, देखें वीडियो



भड़ास व्हाट्सअप ग्रुप- BWG-10

भड़ास का ऐसे करें भला- Donate






भड़ास वाट्सएप नंबर- 7678515849

Comments on “तो अयोध्या वाले बाबा ने ‘जी न्यूज’ के रिपोर्टर पर इस वजह से झूठे आरोप लगा दिए! सुनें परमहंस गालीबाज का आडियो

  • Dukhad. Aise babao ne sant samaj or hindu dharm ka satyanash kar diya hai.
    Ees foto ko dekhkar kaha se lagta hai ki ye baba hai. Actually aajkal BABA ek naye type ka business ho gaya hai. Jaldi se jaldi paisa or power kamane ka.
    Mere hisab se to een sare babaon ki gahan jaanch honi chahiye khaskar inke background ki or ye baba kyon bane.
    Har koi balmiki nahi ho sakta.

    Reply
  • Jitendra Kumar sahu says:

    यदि भाजपा में जरा सी भी राष्ट्रीय न्याय की और वैश्य समाज के सम्मान की सोच संकल्प है तो बाबा परमहंस दास को जेल भेजा जाना चाहिए अन्यथा वैश्य समाज इस निंदनीय घटना के लिए कड़ी कार्यवाही करेगा जिसका खामियाजा भाजपा को चुनाव में भुगतना पड़ेगा

    Reply
  • Ahil raza ibrahim. says:

    Aise babao ne sant samaj or hindu dharm ka satyanash kar diya hai.
    Aise photo ko dekhkar kaha se lagta hai ki ye baba hai. Actually aajkal BABA ek naye type ka business ho gaya hai. Jaldi se jalsakta isa or power kamane ka.
    Mere hisab se to een sare babaon ki gahan jaanch honi chahiye khaskar inke background ki or ye baba kyon bane.
    Har koi balmiki nahi ho sakta

    Hm manmeet sir ka support krtay hai jo unkay sath ho raha woh puri tarah se galat hi

    Reply
  • Mai Manmeet sir ko last 10 years se janta hu baba nai Manmeet sir par galat Aarop lagaya hi baba ko unko aur unkay parivar Mai Kisi ko bhe upshappd bolna galat hi hm is baat ki nindaa Karate hai

    Baba ne Zee news Mai Ewam samaj mai unki chhawi ko dhoomil Krnay ki koshish ki hai

    Mai Manmeet sir ka support krte hu

    Reply
  • Dharmendra Chaubey says:

    मनमीत जी हम सभी आप के साथ है ऐसे बाबाओ का खुलासा जरूरी है आप सही की लड़ाई लड़ रहे है आप के साथ हम सभी भाईओ का सहयोग है जो भी जरूरत हो सहयोग की आप बताये वैसे भी पत्रकारों पर झूठे आरोप लगते आप बिलकुल अपनी लड़ाई लड़े आप के साथ है।।।

    Reply
  • Dharmendra Chaubey says:

    Manmeet ji, we all are with you, it is necessary to disclose such babas, you are fighting for the right, with you we have the cooperation of all the brothers, whatever is the need of cooperation, you tell the journalists anyway, you have to fight your own fight. is with you…

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published.

*

code