सेमवाल गिरफ्तारी कांड : बेबाक पत्रकारों से डरता है CM, सुनिए उमेश की दहाड़, देखें वीडियो

समाचार प्लस न्यूज चैनल के संस्थापक सीईओ और एडिटर इन चीफ उमेश कुमार खुद उत्तराखंड सरकार द्वारा प्रताड़ित किए जा चुके हैं. उन्हें दो-दो प्रदेशों की जेलों में रखा गया, तमाम फर्जी आरोप, फर्जी धाराएं लगाई गईं.

उमेश ने जेल से छूटते ही उत्तराखंड सरकार को कोर्ट में घुटनों के बल बिठा दिया. एक एक कर सारे आरोप खारिज होते गए. बाद में सुप्रीम कोर्ट ने सभी कोर्ट केसों पर रोक लगा दी. इस तगड़े झटके के बावजूद उत्तराखंड सरकार ने अपना रवैया नहीं बदला.

त्रिवेंद्र रावत सरकार के इशारे पर एक बेबाक पत्रकार शिव प्रसाद सेमवाल को पूछताछ के बहाने थाने बुलाया गया और गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया. पर्वतजन मैग्जीन और पोर्टल के संपादक शिव प्रसाद सेमवाल की गिरफ्तारी के पीछे की कहानी बता रहे हैं उमेश कुमार.

उमेश ने ये वीडियो अपने एफबी पेज पर लाइव टेलीकास्ट किया था. उसी वीडियो को संपादित कर ह्वाट्सअप-फेसबुक पर वायरल किया गया है.

इस वीडियो में समाचार प्लस न्यूज चैनल के संस्थापक सीईओ और एडिटर इन चीफ उमेश कुमार बता रहे हैं कैसे राज्य सरकार के इशारे पर एक बेबाक पत्रकार शिव प्रसाद सेमवाल को पूछताछ के बहाने थाने बुलाया गया और गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया.

इस वीडियो में उमेश कुमार ने उत्तराखंड के सीएम पर भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप लगाए और विस्तार से बताया कि कैसे उत्तराखंड के सीएम और उनके परिजन किन किन मामलों में करप्शन में लिप्त हैं और इसके प्रमाण उन्होंने सुप्रीम कोर्ट से लेकर हाईकोर्ट में दे रखे हैं.

सोशल मीडिया पर ये वीडियो इस संदेश के साथ वायरल हुआ है-

”पहाड़ के एक बेबाक पत्रकार की गिरफ्तारी पर इस चैनल मालिक ने सीएम की ही पूरी कुंडली खोल कर रख दी… सच्चाई पसंद आए तो वीडियो को आगे बढ़ाएं…”

देखें संबंधित वीडियो-

इन्हें भी पढ़ें-

त्रिवेंद्र रावत सरकार की धज्जियां उड़ाने के चलते संपादक सेमवाल किए गए गिरफ्तार : उमेश कुमार

उत्तराखंड में निर्भीक पत्रकारिता करना ‘पर्वतजन’ के संपादक शिव प्रसाद सेमवाल को पड़ा महंगा, भेजे गए जेल

भड़ास की खबरें व्हाट्सअप पर पाएं
  • भड़ास तक कोई भी खबर पहुंचाने के लिए इस मेल का इस्तेमाल करें- bhadas4media@gmail.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *