सन स्टार और विकिलीक्स4इंडिया का खुलासा- दिल्ली के लीला पैलेस, ओबराय व टाउन हॉल जैसे बड़े होटल बेच रहे हैं गोमांस

नई दिल्ली। गोमांस पर मचे सियासी हंगामे के बीच एक बड़ी खबर मिली है. दिल्ली के केरल भवन में तो गोमांस बिकने की सूचना भर दिल्ली पुलिस को मिली थी, जिसे झूठा पाया गया या करार दिया गया. पर सन स्टार और विकिलीक्स4इंडिया की खास तहकीकात में राजधानी दिल्ली में सरकार की नाक के नीचे पंच सितारा होटलों में गोमांस यानी गोमांस बिकने की पुष्ट खबर मिली है.

इस बारे में विस्तार से बताने से पहले आपको बताना जरूरी समझते हैं कि सरकार के दिल्ली एग्रीकल्चरल प्रीज़र्वेशन एक्ट 1994 के तहत दिल्ली में गाय की खरीद-बिक्री से लेकर उसको काटने, गोमांस बेचने, खरीदने और यहां तक कि उसको रखने पर भी पूर्ण प्रतिबंध है. और एक जिम्मेवार मीडिया होने के नाते हमारा कर्तव्य है कि सरकारी कानूनों का उल्लंघन करने वालों की करतूतों के बारे में जो खबर हमें मिली है, उसे राष्ट्रहित में देश की जनता और सरकार की नज़र में लाया जाय.

हमारी तहकीकात में यह साफ तौर पर सामने आया है कि दिल्ली के कुछ बड़े होटल, जिनमें फाइव स्टार भी शामिल हैं, बाकायदा “गोमांस” न सिर्फ खुलकर बेच रहे हैं, बल्कि वे इस बात को स्वीकार भी कर रहे हैं. हमें यह बताते हुए खुशी है कि हमारी जांच में कम से कम एक होटल ऐसा भी मिला, जिसने किसी भी कीमत पर गोमांस बेचने से यह कहकर इनकार किया कि ये गैर कानूनी है.

अगर आप पैसे खर्च करने को तैयार हैं, तो ये होटल दुनिया के किसी भी कोने से लाकर अपने होटलों में गोमांस के विभिन्न ब्रांड उपलब्ध कराने को तैयार हैं. और ये”गोमांस”भैंस या किसी अन्य पशु का मांस नहीं, वे खुद बताते हैं कि गोमांस ही है. और हम ये खबर किसी कही सुनी बात या महज सूचना के आधार पर नहीं लिख रहे, बल्कि हम यह बात उनके मैनेजरों से हुई बातचीत के आधार पर लिख रहे हैं, जो गोमांस यानी गोमांस बेचने का दावा ऐसे कर रहे हैं, मानो उनके लिए सरकार के नियम कानून कोई मायने नहीं रखते. या यूं कहें कि ये बड़े लोग सरकारी नियम कानूनों को ठेंगा दिखाते हुए अनुचित और अवैध तरीके से धन कमाने में लगे हैं।

सन स्टार और विकिलीक्स4इंडिया को जानकारी मिली थी कि शहर के कुछ पांच सितारा होटलों और कुछ बड़े रेस्तरां में धड़ल्ले से गोमांस के व्यंजन परोसे जा रहे हैं। सूचना मिलते ही हमने इसकी तहकीकात करने के लिए एक टीम गठित की। तहकीकात के जो नतीजे सामने आए वह चौंकाने वाले हैं। आप यह जानकर हैरान रह जाएंगे कि दिल्ली के पांच सितारा और कुछ बड़े होटलों में ग्राहक की पसंद के मुताबिक किसी भी देश के किसी भी नस्ल की गाय का मांस परोसा जा रहा है। जिस विदेशी नस्ल की गाय के मांस के आयात पर पूरी तरह प्रतिबंध है उसे भी ग्राहकों की मांग पर आसानी से उपलब्ध कराया जा रहा है। सत्ता के गलियारे में गहरी पैठ रखने वाले इन होटलों को न देल्ही एग्रीकल्चरल कैटल प्रीज़र्वेशन एक्ट-1994 की रत्ती भर परवाह है और न ही देशवासियों की भावनाओं से कोई सरोकार। इन होटलों में गोमांस बिक्री के अलावा कालेधन के इस्तेमाल का भी खेल हो रहा है।

गाय को लीलता लीला पैलेस

हमारे खोजी पत्रकारों की टीम ने अपने खोज की शुरुआत दिल्ली के वीवीआईपी इलाके चाणक्यपुरी स्थित पांच सितारा होटल लीला पैलेस से की। ये लीला पैलेस वही होटल है जो पूर्व केंद्रीय मंत्री शशि थरूर की पत्नी सुनंदा पुष्कर की रहस्यमय मौत को लेकर लंबे अरसे तक सुर्खियों में रहा था। प्रधानमंत्री निवास से कुछ ही कदमों की दूरी पर कई देशों की एंबैसीज के बीच और अति सुरक्षित इलाके में स्थित इस होटल के चर्चित रेस्टोरेंट मेगू में जब हमारी टीम पहुंची और वहां के मैनेजर अतुल से मुलाकात की. हमारी टीम ने होटल के मेन्यू पर बातचीत शुरु की तो उसने बताया कि उसके यहां गोमांस के लजीज व्यंजनों के लिए दुनिया भर से लोग आते हैं और संतुष्ट होकर जाते हैं। अतुल ने गाय की उन प्रजातियों की भी जानकारी दी जिनका गोश्त उसके यहां उपलब्ध है। यहां तक कि थोड़ी हीलाहवाली के बाद वह उस कोबे गोमांस को भी उपलब्ध कराने को तैयार हो गया जिसके आयात-निर्यात पर पूरी दुनिया में प्रतिबंध है। उसने यहां तक बताया कि मुंबई में गोमांस पर प्रतिबंध होने के कारण इसके शौकीन लोग फ्लाइट से उसके रेस्टोरेंट में गोमांस खाने के लिए दिल्ली आते हैं।

बातचीत के दौरान एक और चौंकाने वाली जानकारी मिली कि मेगू रेस्टोरेंट की बिलिंग में काले धन को खपाने की पर्याप्त सुविधा है। वहां पक्का बिल लेने की जगह कच्चे बिल का नकद भुगतान भी स्वीकार किया जाता है। खोजबीन के दौरान हमारी टीम यह जानकर अवाक रह गई कि काले धन से भुगतान की यह सुविधा अन्य पांच सितारा होटलों में भी उपलब्ध है।

होटल ओबरॉय में भी गाय 

अपनी तहकीकात के दौरान हमारी टीम एक और मशहूर पांच सितारा होटल द ओबरॉय के तपन रेस्टोरेंट में पहुंची तो वहां होटल के असिस्टेंट मैनेजर मुकेश शर्मा और उनकी सहयोगी सोनिया से मुलाकात हुई। वहां उन्होंने स्पष्ट तौर पर बताया कि वे इंपोर्टेड गोमांस उपलब्ध करा सकते हैं। डील पक्की करने के लिए वे मेन्यू में बदलाव तक के लिए तैयार थे। सोनिया ने जहां आयरलैंड का गोमांस उपलब्ध कराने की बात कही, वहीं मुकेश ने ऑस्ट्रेलियन गाय की मीट परोसने पर सहमति व्यक्त की। गोमांस के गोरखधंधे के मंझे हुए खिलाड़ी मुकेश ने इंपोर्टेड और स्थानीय गोमांस के अंतर को भी विस्तार से बताया। काले धन के रूप में भुगतान स्वीकार करने में भी मुकेश को कोई आपत्ति नहीं थी।

टाउन हॉल का भी वही हाल

पांच सितारा होटलों में चल रहे इस गोरखधंधे को देखने के बाद हमारी टीम खान मार्केट के एक महंगे और चर्चित रेस्टोरेंट टाउन हॉल में पहुंची। वहां के मैनेजर महेश कटियाल ने थोड़ी देर की ही बातचीत के बाद वैग्यू गोमांस तो नहीं लेकिन टेंडरलौयन गोमांस परोसने का भरोसा दिया। उसने कहा कि वह मेहमानों को सबसे उत्तम किस्म का गोमांस उपलब्ध कराएगा। इसमें कोई दिक्कत नहीं है। कच्ची रसीद पर नकद भुगतान स्वीकार करने में भी उसे कोई आपत्ति नहीं थी।

हालांकि तहकीकात के दौरान कुछ ऐसे भी पांच सितारा और अन्य बड़े होटल मिले जिन्होंने गोमांस परोसने से एक सिरे से इनकार कर दिया। इन होटलों में पहला नाम होटल ताज महल का था, जो दिल्ली के ताज मान सिंह रोड पर स्थित है. इस होटल के प्रबंधक ने हमारे संवाददाता सुशांत पाठक के पूछे जाने पर अपने होटल में गोमांस रखने तक से इनकार किया और कहा कि ऐसा करना दिल्ली में पूरी तरह प्रतिबंधित है. इसी तरह होटल शांग्रीला, दिल्ली के प्रबंधकों ने भी साफ तौर पर गोमांस बेचने की बात से यह कहकर इनकार कर दिया दि दिल्ली में तो गोमांस खरीदना-बेचना और रखना तक अपराध है.

लिहाजा गनीमत है कि पूरे कुएं में भांग नहीं घुली है। कानून व्यवस्था और मानवीय भावनाओं का ध्यान रखने वाले लोग भी इस महानगर में मौजूद हैं। अब देखना है कि केरल भवन में गोमांस होने की खबर पर दिल्ली पुलिस की कार्रवाई पर भड़कने वाली दिल्ली सरकार इस पर क्या कार्रवाई करती है. गौरतलब है कि दिल्ली सरकार ने दिल्ली पुलिस की कार्रवाई पर ऐतराज व्यक्त करते हुए कहा था कि दिल्ली में बैठे उनके अधिकारी ऐसे मामलों पर कार्रवाई करने के लिए सक्षम हैं. आपको यह भी याद होगा कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल भी ऐलान करते रहे हैं कि किसी भी तरह के भ्रष्ट व गैर कानूनी काम होने की खबर उन्हें स्टिंग करके दी जाय, तो वह कार्रवाई करेंगे.

प्रेस रिलीज

भड़ास की खबरें व्हाट्सअप पर पाएं, क्लिक करें-

https://chat.whatsapp.com/CMIPU0AMloEDMzg3kaUkhs

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *