सी10 चैनल बंद होने पर निदेशक मनीष यादव का पक्ष पढ़िए

भड़ास पर सी10 चैनल बंद होने और मीडियाकर्मियों का पैसा बकाया होने से संबंधित खबर प्रकाशित होने के बाद इस पूरे मामले में सी10 चैनल के निदेशक मनीष यादव ने अपना जो पक्ष भेजा है, उसे हूबहू प्रकाशित किया जा रहा है-

यह सत्य है कि इवनिंग स्टार प्रोमोटर प्राइवेट लिमिटेड के मैनेजिंग डायरेक्टर सुभाष शर्मा के अड़ियल रवैए की वजह से C10 न्यूज चैनल बंद हो गया। यहां मैं स्पष्ट करता चलूं कि मैं इवनिंग स्टार में जीरो प्रतिशत स्टेक होल्डर डायरेक्टर था। मेरी कम्पनी में शेयर या हिस्सेदारी नहीं थी। लाभ हानि की जिम्मेदारी, जवाबदेही कम्पनी के एम डी सुभाष शर्मा की थी। सुभाष शर्मा ज्यादातर कोलकाता में रहते थे,इस वजह से चैनल का आपरेशन मैं देखता था। मैं भी वेतनभोगी डायरेक्टर था,चैनल का मालिक नहीं था, लिहाजा चैनल से सम्बंधित किसी प्रकार की देनदारी की जवाबदेही मेरी नहीं बनती।

अव्वल मैं तो पूरी तरह से ठगा गया हूं। मुझे चैनल में एक रुपया भी नहीं लगाना था,लेकिन ऐन चुनाव के वक्त जब चैनल को पैसे की जरुरत थी, तब सुभाष शर्मा कोलकाता जाकर बैठ गये।ऐसे में चैनल की जरुरतों को पूरी करने के लिए उपकरण, वेतनादि मद में लगभग 2करोड़ रुपए मुझे लगाने पड़े। क्योंकि कि आठ नौ माह कि अवधि के दौरान केवल दो बार‌ इवनिंग स्टार प्रोमोटर प्राइवेट लिमिटेड द्वारा कर्मचारियों को वेतन भेजा गया। शर्मा ने जनवरी माह में फोन पर कहा कि अभी थोड़ा टाइट पोजिशन है मनीष तुम अपने स्तर पर पैसों का इंतजाम कर लो मैं वापस कर दूंगा।

अब विधानसभा चुनाव सिर पर था ऐसे में मुझे नोएडा में चैनल की जरुरत पूरी करने के लिए अपनी कीमती जमीन औने पौने भाव बेचनी पड़ी । जमीन बेचकर मैंने चैनल के नाम पर बकाया चुकाया, कर्मचारियों को वेतन दिया ,यह सोच कर कि मेरे पैसे MD सुभाष शर्मा वापस कर देंगे। पर मेरे पैसे भी शर्मा वापस नहीं कर रहा हैं। पैसे वापसी और अन्य हिसब को लेकर तीन बार बैठक हुई, मध्यस्थों के साथ बैठकें भी बेनतीजा रही । शर्मा हर बार अपनी बात से पलटता रहा। मेरा वेतन भी बाकी है। जब बार बार के अनुनय विनय के बाद शर्मा ने पैसे नहीं दिए तब मैंने अपने बकाए की राशि दिलाने के लिए माननीय न्यायालय से गुहार लगायी है। इवनिंग स्टार प्रोमोटर प्राइवेट लिमिटेड के एमडी सुभाष शर्मा के खिलाफ मुकदमा दायर किया ।

मुकदमा दायर होने की सूचना के बाद बौखलाए शर्मा ने तरह तरह से मुझे प्रताड़ित करना शुरु किया। मुझे मारने के लिए पेशेवर अपराधियों को मेरे पीछे लगा दिया। जिसकी सूचना समय समय पर मैं पुलिस को देता रहा। प्रशासनिक सहायता मुझे ना मिल‌ सके इसके लिए शर्मा ने मेरी जाति को मोहरा बनाया। यादव जाति से होने के नाते मेरा संबंध एक राजनीतिक पार्टी से प्रगाढ़ होना बताया। जबकि मेरा संबंध किसी राजनीतिक दल से नहीं है। मैं पूरी तौर पर निष्पक्ष राज्य मुख्यालय मान्यता प्राप्त पत्रकार हूं। मेरा किसी राजनीतिक पार्टी से कोई लेना देना‌ नहीं है।

दूसरी बात आलेख में आफिस से सामान ले जाने की बात कही गयी है, जो बेबुनियाद है। मेरा जो अपना सामान था बस उतना‌ मैं ले आया।पिछड़ी जाति से आने की वजह से लगातार मुझे प्रताड़ित किया जाता रहा ।आज मैं पूरी तरह से बर्बाद हो चुका हूं। आर्थिक स्थिति अत्यंत दयनीय हो गयी है,अब जमीन भी नहीं बची। बावजूद इसके मैं अपने सहयोगियों, कर्मचारियों के साथ सदैव खड़ा रहा हूं, भविष्य में भी उन्हें जहां मेरी जरूरत होगी मैं उनके साथ रहूंगा।

C10 न्यूज बन्द होने के बाद सुभाष शर्मा वायस आफ भारत एक चैनल कि शुरुआत नोएडा के सेक्टर 58 से करने वाला था। तीन चार महीने तक यूट्यूब और फेसबुक पर चैनल चला , लेकिन वहां भी इसी माह ताला‌ लटका दिया गया , शर्मा ने वहां आफिस का किराया और कर्मचारियों का वेतन आदि का लगभग 25 लाख रुपया बाकी लगाकर फरार है। ऐसा करना सुभाष शर्मा के फितरत में हैं। ठगी उसके रग रग में है। कोलकाता का बहुत बड़ा बैंक डिफाल्टर है यूनियन बैंक से ऋण के रुप में मोटी रकम लेकर गायब है। एनसीएलटी के डिफाल्टरों की लिस्ट में भी शर्मा का नाम रजिस्टर्ड है।

जिन लोगों ने C10 न्यूज में काम किया उनके दुख सुख में हमेशा खड़ा रहा हूं। कभी भी मेरी जरूरत उनलोगों को होगी मैं उनके (कर्मचारियों )साथ खड़ा मिलूंगा। सुभाष शर्मा और और उनकी कंपनियों के डिफाल्टर होने के प्रमाण स्वरूप कुछ दस्तावेज भड़ास4मीडिया को अलग से मेल कर दिया हूं.

-मनीष यादव


मूल खबर-

मालिकों के झगड़े में बंद हुआ C10 न्यूज चैनल, कई मीडियाकर्मियों की सेलरी बकाया



भड़ास का ऐसे करें भला- Donate

भड़ास वाट्सएप नंबर- 7678515849



One comment on “सी10 चैनल बंद होने पर निदेशक मनीष यादव का पक्ष पढ़िए”

  • Aisa koi nahi jisko Manish Yadav ne ullu nahi banaya ho… Lagaya hai 40 lakh aur bol raha hai 2 crore… Iski aukat nahi hai 2 Crore ki… Saman bhi utha ke apne Noida wale ghar me rakha hai.. maha dhurthh maha dhokebaaz admi hai yeh.. logo ka paisa maar gaya yeh… Khud TV , locker, cupboard aur sofa tak ghar le gaya.. isee jada gira hua admi Maine life me nahi dekha hai.. iska bass chale toh haggg ke bhi apne pocket me rakh le…

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published.