Categories: आयोजन

दैनिक जागरण की तरफ़ से छात्रों के लिए निबंध प्रतियोगिता : पाँच लाख रुपए के इनाम

Share

अखिल भारतीय हिंदी निबंध प्रतियोगिता :
स्वाधीनता के अमृत महोत्सव के दौरान ‘हिंदी हैं हम’ उपक्रम के अंतर्गत, दैनिक जागरण ने सहयोगी प्रभा खेतान फाउंडेशन और श्री सीमेंट के साथ। मिलकर, अखिल भारतीय हिंदी निबंध प्रतियोगिता की घोषणा की है।

इस निबंध प्रतियोगिता में तीन श्रेणी के प्रतिभागियों से लेख आमंत्रित किए जाएंगे। पहली श्रेणी नवीं से बारहवीं के छात्रों की होगी।

दूसरी श्रेणी स्नातक और स्नातकोत्तर के छात्रों की होगी और तीसरी श्रेणी शोध छात्रों की होगी।

हर श्रेणी में प्रथम, द्वितीय, तृतीय और सांत्वना पुरस्कार दिए जाएंगे।

तीनों श्रेणियों में दिए जाने वाले कुल बारह पुरस्कारों की राशि पांच लाख रुपए से अधिक है।

प्रतियोगिता की तीनों श्रेणी के विषय की जानकारी 20 सितंबर को jagranhindi.in और दैनिक जागरण अख़बार में प्रकाशित की जाएगी।

दैनिक जागरण लेखन 2021 : नियम और शर्तें

संबंधित विषय पर मौलिक लेख ही स्वीकार किए जाएंगे
लेख भेजते समय आयुवर्ग और अकादमिक श्रेणी का ध्यान रखें, सही प्रविष्टि ही स्वीकृत होगी।

कम से कम 1000 और अधिकतम 1500 शब्दों के लेख ही स्वीकार किए जाएंगे

लेख टाइप किया हुआ हो और पीडीएफ फॉर्मेट में हो

एक मोबाइल नंबर से एक ही लेख स्वीकृत होगा और वही नंबर इस प्रतियोगिता में प्रतियोगी की पहचान होगी
स्वीकृत लेख दैनिक जागरण की बौद्धिक संपदा होगी
सभी प्रतिभागियों को वांछित विवरण देना अनिवार्य है

लेख के साथ छात्र होने और आयु प्रमाण पत्र संलग्न करना।

लेखों का मूल्यांकन निम्नलिखित आधार पर किया जाएगा-
भाषा, शैली, कथ्य, तथ्य और निष्कर्ष। तथ्य का स्रोत देनेवाले को अतिरिक्त अंक मिलेंगे।

प्रतियोगिता का परिणाम-

घोषित तिथि पर सभी श्रेणी के परिणाम दैनिक जागरण में जारी किए जाएंगे।

पुरस्कार-
प्रथम श्रेणी
पुरस्कार राशि- प्रथम पुरस्कार रु 50000,
द्वितीय पुरस्कार- 30000,
तृतीय पुरस्कार- 20000
सांत्वना पुरस्कार- 10000

इस श्रेणी में नवीं से लेकर बारहवीं तक के छात्र हिस्सा ले सकते हैं, जिनकी 1 अक्तूबर 2021 तक न्यूनतम आयु 15 वर्ष और अधिकतम 18 वर्ष हो।

द्वितीय श्रेणी
पुरस्कार राशि- प्रथम पुरस्कार- रु 75000,
द्वितीय पुरस्कार- रु 50000,
तृतीय पुरस्कार- रु 25000
सांत्वना पुरस्कार- 15000 रु

इस श्रेणी में स्नातक और स्नातकोत्तर के छात्र हिस्सा ले सकते हैं, जिनकी 1 अक्तूबर 2021 तक न्यूनतम आयु 18 वर्ष और अधिकतम आयु 25 वर्ष हो ।

तृतीय श्रेणी
पुरस्कार राशि- प्रथम पुरस्कार- रु 100000, द्वितीय पुरस्कार रु 75000, तृतीय पुरस्कार- रु 50000 और सोंत्वना पुरस्कार- रु 25000

इस श्रेणी में स्नतकोत्तर पास कर चुके और शोधार्थी छात्र हिस्सा ले सकेंगे, जिनकी 1 अक्तूबर 2021 को न्यूनतम आयु 25 वर्ष और अधिकतम आयु 30 वर्ष हो।

पुरस्कार राशि विजेताओं के बैंक खाते में सीधे भेज दी जाएगी
विजेताओं को अपने बैंक का विवरण, आधार नंबर और पैन कार्ड का विवरण देना अनिवार्य होगा. इनाम राशि से सरकार द्वारा तय कर काट कर भुगतान किया जाएगा।

View Comments

  • Bahut Achcha hai ki Bharat mein bhi Hindi ke Gaurav ko badhane ka Prayas karne ke liye log Utsahit hai Kyunki Jis Aadhar se Aaj Yuva Shakti apne aap ko Jod rahi hai vah uske patan ki taraf abhimukh ho raha hai. Hindi sabhyata Sanskriti aur apne sampreshan ke Gaurav ko khatm karte hue dusron ki Sanskirti ko Aadhar Banaya Ja Raha hai. jisse Bharat ki rashtriyata akhandta aur uske mool parivesh ka hanan ho raha hai aise me Aisa karykram Utsaah vardhak Hai jismein bacche Bhi Apne vichar Rakh sakte hain .Mera Manana hai ki yah atyant labhdayak siddh hoga Kyunki Yuva Shakti do bhagon me bati hai balk aur Unke Jivan ka niruddeshy shiksha or bhranti aur Vivek hinta ke beech Mein bacchon ke vicharon ko jaane ka samay mil sakega.

  • MERI GRADUATION COMPLETE HO GYI HAI.AND MASTERS KE FINAL YEAR KE EXAMS BHI FINISH HO GYE HAN BS RESULT NHI AAYA.1 OCT. KO MERI AGE 25 THI BUT ME 12 KO 26 KI HO GYI.KYA ME 2 SHREDIN KE LIYE ELIGIBLE HUN. KYA MEN IS COMPETION ME PART LE SAKTI HUN.

  • Bahut accha laga raha h ki humare yaha v yese karykram ka aayojan kiya ja raha h isse sare students ko badhawa milega or humre hindi ke parti jagruk v honge aajkal hum apne hi bhasa ko bhulte ja rahe h jis se Yuva Shakti Apne hath ko jod rahi hai vah Vikas ki aur unmukh ho rahi hai yaha hum apne bichar aasani se rakh sakte h isse bacho me padhne or aage badhne ki sakti v badhegi jo bache humesa dare hue rahate hai o iske madhyam se kuch karne ki sakti prapt hogi

Latest 100 भड़ास