इस ईडी अफसर के अग्रिम बचाव में मोदी सरकार को भी गरियाने से नहीं हिचका ये भाजपा सांसद!

प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) के ताकतवर अधिकारी राजेश्वर सिंह के पक्ष में भाजपा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी चट्टान की तरह आंख मूंद कर खड़े हैं. इसके लिए अगर उन्हें पूरी मोदी सरकार को गरियाना पड़े तो इससे भी नहीं हिचक रहे हैं. सीबीआई के ताजा विवाद में स्वामी बोल पड़े- ‘मेरी सरकार भ्रष्टाचारियों को बचाने में लगी, CBI के बाद ED अधिकारी होंगे सस्पेंड’.

सीबीआई में जारी घमासान के बीच बीजेपी सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने कहा है कि सीबीआई के बाद अगला नंबर ईडी अफसरों का होगा. साथ ही उन्होंने कहा कि अगर ऐसा होता है तो भ्रष्टाचार के खिलाफ उनकी लड़ाई खत्म हो जाएगी. राज्यसभा से बीजेपी सांसद स्वामी ने दावा किया कि ‘सीबीआई नरसंहार’ में शामिल लोग ईडी अधिकारी राजेश्वर सिंह को निलंबित करने वाले हैं और अगर ऐसा हुआ तो उन्होंने भ्रष्टाचार के खिलाफ जो मामले दायर कर रखे हैं उनसे वह हट जाएंगे. स्वामी ने इस मामले को लेकर ट्वीट किया है.

स्वामी ने ट्वीट में कहा, ‘सीबीआई नरसंहार के खिलाड़ी ईडी के राजेश्वर को निलंबित करने वाले हैं ताकि वह ‘पीसी’ के खिलाफ चार्जशीट दाखिल नहीं कर सकें. अगर ऐसा हुआ तो मेरे लिए भ्रष्टाचार से लड़ने की कोई वजह नहीं रहेगी क्योंकि मेरी सरकार उन्हें बचाने पर तुली है. ऐसे में मैंने भ्रष्टाचार के जो मामले दायर किए हैं उन सभी से हट जाऊंगा.’

स्वामी पूर्व वित्तमंत्री पी. चिदंबरम को पीसी कहते हैं. ईडी अधिकारी राजेश्वर सिंह चिदंबरम से जुड़े भ्रष्टाचार के मामलों की जांच कर रहे हैं. पूर्व में चिदंबरम और उनके बेटे कार्ति के ठिकानों पर कई बार ईडी की ओर से छापेमारी की जा चुकी है.

उल्लेखनीय है कि वरिष्ठ पत्रकार उपेंद्र राय को सीबीआई, ईडी और बीजेपी से जुड़े कुछ लोगों के कॉकस ने साजिशन गिरफ्तार कर जेल भेज दिया और उन पर तरह तरह के केस ठोंक दिए ताकि वह किसी हालत में बाहर न निकल सके. ईडी अफसर राजेश्वर सिंह के खिलाफ कई किस्म के गंभीर आरोप लगते रहे हैं. इन आरोपों की बाबत कुछ लोगों ने पीएमओ से लेकर सुप्रीम कोर्ट तक में अप्लीकेशन व याचिकाएं लगाई थीं. इन पर जांच कार्य तेजी से चल रहा था.

माना जाता है इन्हीं जाचों को प्रभावित करने की मंशा से उपेंद्र राय को अरेस्ट कराया गया और उन्हें देश का ‘सबसे भ्रष्टतम आदमी’ साबित करने की मुहिम शुरू करते हुए मीडिया में सेलेक्टिव खबरें लीक कराई जाती रहीं. उपेंद्र राय के खिलाफ घेरेबंदी में भाजपा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी, ईडी अफसर राजेश्वर सिंह समेत कई लोगों का नाम चर्चाओं में आता रहा.

माना जाता है कि सीबीआई के बाद देर सबेर दूसरी एजेंसियों में पदस्थ लोगों के कारनामों का भी पर्दाफाश जल्द होगा. यहां यह उल्लेखनीय है कि ईडी अफसर राजेश्वर सिंह के खिलाफ मोदी सरकार ने अभी तक कोई एक्शन नहीं लिया है लेकिन भाजपा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी जाने किस अंदेशे में अभी से उनके बचाव में अपनी ही पार्टी की केंद्र में पदस्थ सरकार के खिलाफ आक्रामक हो गए हैं. इस मजबूत नजदीकी को लेकर भी लोग तरह तरह की चर्चाएं कर रहे हैं.

इसे भी पढ़ें….

अगर आरोप लगना ही हटाने का आधार है तो CVC चेयरमैन केवी चौधरी सबसे पहले हटाए जाएं!

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *