मोदी को खुश करने के लिए यूपी के अफ़सरों ने बनवाया 50 हजार फर्जी धन्यवाद पत्र!

निर्मलकांत शुक्ला-

-उत्तर प्रदेश के पीलीभीत में फर्जी धन्यवाद पत्रों को डीएम और सीडीओ ने भिजवाया पीएमओ

-लाभार्थियों की लिस्ट लेकर पंचायत सहायकों ने विकास खंडों में बैठकर खुद ही लिखे धन्यवाद पत्र

-50,000 पोस्टकार्ड खरीदने के लिए अफसरों ने किया चंदा, ब्लॉक परिसरों में बैठकर फर्जी धन्यवाद पत्र बनाते पंचायत सहायकों का वीडियो वायरल

-फर्जीवाड़े का वीडियो वायरल होने से जिला प्रशासन की हो रही जमकर किरकिरी

-प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को खुश करने की कवायद पर फिरता दिख रहा पानी

पीएमओ से प्रशस्ति पत्र लेने के लिए अफसरों ने फर्जी धन्यवाद पत्र तैयार करने का बुना था तानाबाना

-जिन लाभार्थियों की ओर से भेजे गए धन्यवाद पत्र उनको पता तक नहीं

उत्तर प्रदेश की जनपद पीलीभीत में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को खुश करने के लिए पंचायत सहायकों ने थोक भाव में पोस्टकार्ड पर विभिन्न योजनाओं के लाभार्थियों की ओर से फर्जी धन्यवाद पत्र लिखे। अब इन फर्जी धन्यवाद पत्रों को जिले के आला हुक्कामों ने प्रधानमंत्री कार्यालय को भी भेज दिया है। इसके पीछे अफसरों का मकसद पीएमओ को खुश करना और जनपद में केंद्र और राज्य सरकार की योजनाओं का शत प्रतिशत लाभ जमीनी स्तर तक पहुंचना दर्शाना है। पीएमओ इस फर्जीवाड़े से अनभिज्ञ होकर अगर ज्यादा ही खुश हो गया तो जिले के आला हुक्कामों को प्रशस्ति पत्र भी मिल सकता है।

यह फर्जी धन्यवाद पत्र जनपद के सभी विकास खंड कार्यालयों के परिसर में बैठकर पंचायत सहायकों ने तैयार किए हैं। हास्यास्पद स्थिति यह है कि अधिकांश धन्यवाद पत्रों पर एक ही सी हैंडराइटिंग है। करीब एक हफ्ते से पंचायत सहायक लाभार्थियों की सूची लेकर इन धन्यवाद पत्रों को तैयार करने में जुटे रहे। धन्यवाद पत्र जिन लाभार्थियों के नाम पते से भेजे गए हैं, उनको इसका पता तक नहीं है। जिनकी ओर से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को धन्यवाद पत्र भेजे गए हैं, उनमें काफी संख्या में समाजवादी पार्टी, बहुजन समाज पार्टी, कांग्रेस के कार्यकर्ता भी हैं।

सूचना एवं जनसंपर्क विभाग पीलीभीत की ओर से जारी की गई सरकारी प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार जनपद के विभिन्न योजनाओं के लाभार्थियों द्वारा प्रधानमंत्री को पोस्टकार्ड के माध्यम से योजनाओं का लाभ जरूरतमंदो पहुंचाने हेतु आभार व्यक्त करते हुये धन्यवाद प्रेषित किया गया। जनपद के विभिन्न विभागों में संचालित जन कल्याणकारी योजनाओं को जन जन तक पहुंचाने हेतु प्राप्त 50 हजार लाभार्थियों के पोस्टकार्ड जिलाधिकारी पुलकित खरे एवं मुख्य विकास अधिकारी प्रशांत कुमार श्रीवास्तव द्वारा प्रधानमंत्री को प्रेषित किये गये।

( पीलीभीत जनपद के विभिन्न योजनाओं के लाभार्थियों की ओर से पीएमओ को भेजे जा रहे पचास हजार धन्यवाद पत्रों के साथ जिलाधिकारी पुलकित खरे व मुख्य विकास अधिकारी प्रशांत कुमार श्रीवास्तव)

प्राप्त पोस्टकार्ड में प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण के 4000 लाभार्थियों, स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण के 10000 लाभार्थियों, प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना आयुष्मान भारत के 2500 लाभार्थियों, प्रधानमंत्री जननी सुरक्षा योजना के 3500 लाभार्थियों, मातृवन्दन योजना के 4000 लाभार्थियों, वृद्धावस्था पेंशन योजना के 3000 लाभार्थियों, दिव्यांगजन पेंशन योजना के 3000 लाभार्थियों, विधवा पेंशन योजना के 5000 लाभार्थियों, प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के 8000 लाभार्थियों राष्ट्रीय कृषि विकास योजना के 1250 लाभार्थियों, खाद्य सुरक्षा मिशन के 750 लाभार्थियों, प्रधानमंत्री जीवन ज्योति बीमा योजना के 2500 लाभार्थियों व प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना के 2500 लाभार्थियों ने धन्यवाद लिखकर प्रधानमंत्री को पोस्टकार्ड भेजें है।

पोस्टकार्ड खरीदने के लिए जुटाया चंदा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को गुमराह करने के लिए फर्जी धन्यवाद पत्र तैयार करने का ताना-बाना बुनने वाले अफसर ने इतने बड़े पैमाने पर पोस्टकार्ड खरीदे जाने के लिए बाकायदा मातहतों से चंदा एकत्र किया था। क्योंकि इसे सरकारी किसी मद से पोल खुलने के डर से खरीदा जाना संभव नहीं था। पोस्ट कार्ड के लिए चंदे की चर्चा विकास भवन में खूब हो रही है।



भड़ास का ऐसे करें भला- Donate

भड़ास वाट्सएप नंबर- 7678515849



Leave a Reply

Your email address will not be published.

*

code