यूपी के नए मुख्य सचिव राजीव कुमार के बुलंदशहर और लखनऊ कनेक्शन के बारे में जानिए

लखनऊ के वरिष्ठ पत्रकार अजय कुमार ने नवनियुक्त मुख्य सचिव राजीव कुमार से प्रदेश के सूरत-ए-हाल और उनकी प्राथमिकताओं के बारे में बात की…

राजीव कुमार, यूपी के नए मुख्य सचिव

लखनऊ : इंजीनियर बाप के ब्यूरोक्रेट्स बेटे यानी 1981 बैच के आईएएस राजीव कुमार प्रथम के रूप में उत्तर प्रदेश को 51वां नया मुख्य सचिव मिल गया है। अभी तक पूर्ववर्ती सरकार की पंसद के मुख्य सचिव राहुल भटनागर से काम चला रही योगी सरकार ने अपनी पसंद का मुख्य सचिव चुनने में सौ दिन से अधिक का समय लगा दिया। प्रदेश में कई महत्वपूर्ण पदों पर तैनात रह चुके मृदुभाषी, काम के प्रति गंभीर और सादगी के प्रतीक राजीव कुमार को दिल्ली से बुलाकर महत्वपूर्ण जिम्मेदारी सौंपी गई तो उन्हें इस कसौटी पर खरा उतरने के लिये सीमित समय में अधिकतम प्रयास करने होंगे।

राजीव कुमार अखिलेश शासनकाल में डेपुटेशन पर दिल्ली चले गये थे। केन्द्र में करीब 11 वर्षों तक प्रतिनियुक्ति पर रह चुके राजीव 6 वर्ष 08 माह तक कैबिनेट सचिवालय जैसे महत्वपूर्ण विभाग में पहले संयुक्त सचिव और फिर अतिरिक्त सचिव रहे। वे पेट्रोलियम में भी रहे। वर्तमान में उनकी तैनाती जहाजरानी मंत्रालय में थी। आज से ठीक एक साल बाद जून 2018 के अंत में राजीव सेवानिवृत हो जायेंगे। मूल रूप से पश्चिमी उत्तर प्रदेश के जिला बुलंदशहर के रहने वाले राजीव कुमार की अधिकांश शिक्षा राजधानी लखनऊ में हुई। राजीव ने जुबिली इंटर कालेज लखनऊ से शिक्षा ग्रहण करने के बाद लखनऊ विश्वविद्यालय से भौतिक विज्ञान में एम-एससी किया। उन्होंने हॉवर्ड विश्वविद्यालय से मास्टर्स इन पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन (एमपीए) की भी शिक्षा ग्रहण की। राजीव कुमार को सीएम योगी की पसंद बताया जा रहा है तो हकीकत ये भी है कि वह वरिष्ठता क्रम में सबसे ऊपर हैं। उनसे सीनियर एक ही आईएएस शशांक कृष्ण हैं, जो सेहतमंद नहीं हैं।

नौकरशाही का सबसे बड़ा और जिम्मेदारी वाला पद प्राप्त करने के बाद राजीव कुमार ने सरकार की प्राथमिकताओं को सम्पूर्ण टीम भावना के साथ पूरा करने का इरादा व्यक्त किया। अपने 36 वर्षों के अनुभव को साझा करते हुए उन्होंने कहा की टीम भावना से किये गये किसी भी कार्य का परिणाम उत्साहवर्धक एवं अच्छे नतीजे वाला होता है। राजीव को पता है कि यूपी काफी पिछड़ा हुआ राज्य है। यहां विकास कार्य कराना और उसके लिये पैसे की व्यवस्था करना दोंनो ही मुश्किल काम हैं। जब राजीव से पूछा गया कि योगी की महत्वाकांक्षा के अनुरूप पैसे की कमी के चलते सड़के गड्ढा मुक्त नहीं हो पा रही हैं तो उनका कहना था कि जनहित से जुड़े काम के लिये पैसे की कमी आड़े नहीं आना चाहिए। ऐसे कामों के लिये अन्य स्रोतों से धन की व्यवस्था की जा सकती है। मुख्य सचिव ने कहा है कि प्रदेश और केंद्र की किसी भी योजना में वह रुकावट नहीं आने देंगे।

कानून-व्यवस्था को सुदृढ़ करने के लिए उन्होंने जिलाधिकारी और पुलिस कप्तान से मिलकर काम करने की अपेक्षा जताई। साथ ही उन्होंने नौकरशाही को हिदायत दी कि थानेदार को जवाबदेह बनाकर प्रशासनिक अफसर शांति का मार्ग प्रशस्त करें। भाजपा के संकल्प पत्र में किये गये वायदों को अपनी प्राथमिकता बताते हुए राजीव ने कहा कि जनता को सभी योजनाओं का लाभ मिलना चाहिए। उन्होंने कहा जनकल्याणकारी योजनाओं एवं विकास कार्यक्रमों में गति लाई जाएगी। जनसमस्याओं का प्राथमिकता से निस्तारण करना शासन की सर्वोंच्च प्राथमिकताओं में शामिल रहेगा। प्रदेश में अमन-चैन एंव खुशहाली का वातावरण बनाने के लिए सत्त प्रयास किया जाएगा।

नवनियुक्त मुख्य सचिव राजीव कुमार ने शासन की प्राथमिकताओं को ध्यान में रखते हुए कहा कि सभी विभागों को आवंटित कार्य समय से पूरे कराए जाएंगे ताकि जनता को उनका लाभ मिल सके। उन्होंने कहा कि प्रशासिनक तंत्र के मुखिया के तौर पर काम करने का अवसर मिलना मेरे लिए सौभाग्य की बात है। राजीव ने बताया कि उनकी मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से औपचारिक भेंट हुई थी। सीएम ने बिना किसी दबाव के काम करने की बात कही। उन्होंने सरकार की प्राथमिकताएं और अनुभव बताकर हमारा (नौकरशाही का) मार्गदर्शन दिया। कुमार ने कहा कि अधिकतर अधिकारी-कर्मचारियों को काम करने का खुला वातावरण मिलता है तो वे डिलीवरी अच्छी देते हैं।

राजीव ने एक बार फिर दोहराया कि वह अनुभव के आधार पर सभी को साथ लेकर चलेंगे तो रिजल्ट बेहतर होगा। मुख्य सचिव के रूप में अपने दायित्व के निवौहन की बात करते हुए राजीव ने कहा कि अधिकारियों के बीच समन्वय, सहयोग और टीम भावना के साथ काम करने से मुश्किल से मुश्किल काम भी सहज हो जाता है। उन्होंने कहा कि शासन की प्राथमिकताओं व प्रतिबद्धताओं को गति देना आधिकारियों का उत्तरदायित्व है। इसके के लिए पूरी ब्यूरोक्रेसी और सरकारी तंत्र को निष्ठा व परिश्रम के साथ कार्य योजना पर काम करना होगा।

नौकरशाही पर राजनीतिक दबाव को राजीव कुमार ने संवैधानिक व्यवस्था को हिस्सा बताया और कहा कि जनप्रतिनिधि चुनकर आते है। वे जनता की भावनाओं को व्यक्त करते हैं। इसी को ध्यान में रखकर नियमानुसार और पारदर्शिता के साथ काम करना हैं। यदि काम नियमानुसार हैं तो तुरंत किया जाए और यदि संभव नही है तो विनम्रता से मना कर देना चाहिए। मुख्य सचिव ने कहा कि जीएसटी लागू करना आजादी के बाद का महत्वपूर्ण फैसला है। पूरा राष्ट्र टैक्स की दृष्टि से सिंगल यूनिट बन गया है, जिससे आम जनता को राहत मिलेगी और भ्रष्टाचार पर अंकुश लगेगा। कुछ महीनों में जनता को इसका फायदा नजर आने लगेगा।

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Comments on “यूपी के नए मुख्य सचिव राजीव कुमार के बुलंदशहर और लखनऊ कनेक्शन के बारे में जानिए

  • Chandra palRawat says:

    TO
    The respected fully
    PM Narandamodi ji
    महोदय सविनय निवेदन है.
    मै 12 साल से विस्तर पर पडा हुं मेरी रिड की हड्डी टूट गई है मेरा आधा शरीर काम नहीं कर रहा है मैने बहुत निवेदन पत्र लिखे पर कोई मदत नही हो पा रही हैं मैं बहुत जगह इलाज के लिए गया पर केवल निराशा ही हाथ लगी मै और मेरे घर वालाे ने बहुत कोशिस की लेकिन कुछ नही हुआ हर तरफ निराशा के बाद हम आप के पास आए है मेरी मदत कीजिए
    महाेदय
    आप से निवेदन है कि मैं बहुत कष्ट मै हूँ मेरी मदद की जाये कया मेरी मदद नहीं हाे पायेगी मेरा इलाज बड़े अस्पताल मै कराया जाये जैसे मेडिकल कालेज या संजय गाँधी अस्पताल पीजियाइ आदि मेरा इलाज डाक्टर नयूराेसरजन डाक्टर ही कर सकते है इलाज के लिये डॉक्टर से रिकवेशट कर दिया जाये आपसे पथाना है कि मुझसे समपर्क किया जाये अस्पताल मै भर्ती करा के मेरा इलाज कराया जाये धीरे धीरे करके मेरा शरीर अस्सी परसेनट खराब हाे रहा है जल्द से जल्द मेरा इलाज कराया जाये आप का जीवन भर आभारी रहूँगा
    पीडित चन्द्रपाल सम्पर्क नम्बर 9793238899 /पता/17/H/reilway colony badsahnagar lucknow mobile no 9793238899 आपका बहुत बहुत धन्यवाद हाेगा

    Honorable prime minister of lndia आैर इसपीएम मोदी का आधिकारिक मता ( 7-Race Course Road New Delni then it will reach pm narendramodi directly

    Reply
  • Sriman Modi ji aapko Ji aapko nivedan Hai Ki Jila Basti Tehsil Hariya Bullet Vikram job Gram Sabha sonbarsa Gadwal Zameen f****** ramas kiye the Nepal 5000 mangte Hain Jo 6 manoge

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *