अखबार मालिकों की गोद में बैठे श्रम इंस्पेक्टरों की आयुक्त से शिकायत

जयपुर : दैनिक भास्कर जयपुर में मैनेजमेंट के सामने बैठ कर जाँच के नाम पर लीपापोती करने वाले लेबर इंस्पेक्टरों के खिलाफ शिकायत दर्ज करायी गई है। 

सोमवार को एडिशनल लेबर कमिश्नर सीबीएस राठौड़  के सामने लेबर इंस्पेक्टरों के खिलाफ ही शिकायत दर्ज कराई गई। लेबर इंस्पेक्टरों ने शनिवार को दैनिक भास्कर में जाकर मैनेजमेंट के सामने बैठ कर एम्प्लॉईज से मजीठिया वेज बोर्ड के अनुसार सैलरी नहीं मिलने की रैंडम जाँच की थी। उनसे 20-जे प्रपत्र के हस्ताक्षरित पेपर मांगे गए। 

मैनेजमेंट के चमचों ने उन्हें कहा कि उन्हे मजीठिया वेज बोर्ड के अनुसार सैलरी नहीं चाहिए। कुछ साथियों ने दबी जुबान से इसका विरोध भी किया। बाद में मैनेजमेंट इन लेबर इंस्पेक्टरों को एक होटल में ले गया, जहां उन्हें उपकृत किया गया। यहाँ सारी जानकारी  राठौड़ को लिखित में दी गई तो उन्होंने इसकी जाँच कराने का आश्वासन दिया। कुछ साथियों ने इसकी सीडी बनाने की जानकारी cbs राठोड़  को दी तो उन्होंने सीडी भी मांग ली है।

भड़ास के माध्यम से अपने मीडिया ब्रांड को प्रमोट करें. वेबसाइट / एप्प लिंक सहित आल पेज विज्ञापन अब मात्र दस हजार रुपये में, पूरे महीने भर के लिए. संपर्क करें- Whatsapp 7678515849 >>>जैसे ये विज्ञापन देखें, नए लांच हुए अंग्रेजी अखबार Sprouts का... (Ad Size 456x78)

भड़ास की खबरें व्हाट्सअप पर पाएं, क्लिक करें- Bhadas WhatsApp News Alert Service

 

Comments on “अखबार मालिकों की गोद में बैठे श्रम इंस्पेक्टरों की आयुक्त से शिकायत

  • भास्कर ही नहीं कल राजस्थान पत्रिका मैं भी लेबर इंस्पेक्टर के सामने गुलाब कोठारी का चमचा मादरचोद कुत्ता पॆक़ॆ गुप्ता ने भी कुछ कर्मचारियों से फॉर्म पर हस्तक्षार करे करवाए थी जिसमे लिखा था की हम वर्तमान वेतन से संतुस्ट हैं इन कुत्तो से पूंछा जाया की कि बीस पचीस हजार मैं क्या आज घर का खर्च चल सकता हैं इससे साफ होता है की राजस्थान पत्रिका ने इन लेबर अधिकारियो को मोटी रकम पिलाई हैं
    अरे सालो हरामजादो कुतो तुम्हारा सर्वनाश हो शिखंडियो बहुत बुरी गति हो होगी सुधर जाओ बरना बहुत बुरी गति होगी सालो सूअर के औलादो तुम्हे कीड़े पड़ेंगे गद्दारी दोगलो

    Reply
  • mahendra mourya says:

    i am working with naidunia media ltd as a machine man in production section. my salary is 1700pm. this is not enough.

    Reply

Leave a Reply to mahendra mourya Cancel reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *