सेलरी न देने वाले न्यूज चैनलों को आइना दिखाने के लिए जितेंद्र यादव जैसे पत्रकारों की जरूरत है, सुनें आडियो

संपादक, भड़ास4मीडिया

मैं जितेंद्र यादव टीवी न्यूज़ पत्रकार… विगत कई वर्षों से इंडिया वॉइस न्यूज़ चैनल का हिस्सा था… लेकिन इंडिया वॉइस चैनल का प्रबंधन फ्री में काम कराता रहा.. ये लोग फोन करके विज्ञापन के एवज में चैनल का सहयोग करने के नाम पर पैसे की डिमांड करते रहे…

मैंने आजिज आकर दूसरा संस्थान न्यूज़ वर्ल्ड इंडिया ज्वाइन कर लिया तो इस पर बौखलाए चैनल प्रबंधन ने अपने ही मौजूदा एंप्लाई के द्वारा बेसिक नंबर से मुझे फोन कराया… फोन कर उसने बोला कि यदि आप किसी दूसरे ग्रुप को ज्वाइन कर चुके हैं या तो इस ग्रुप को छोड़ दीजिए या फिर अपने द्वारा चयन किए गए ग्रुप को छोड़ दीजिए…

ये सब चेतावनी भरे शब्दों में कहा गया था… इस पर मेरे द्वारा कहा गया कि मुझे फ्री में काम करने का शौक नहीं, मैं आपके ही चैनल को अलविदा कह देता हूं..

मेरे साथ ही कई अन्य साथियों ने इंडिया वॉइस चैनल से ऐसे फोन आने के बाद चैनल को छोड़ दिया है…

मुझे यह लगता है कि ऐसे संस्थानों के साथ रहने का कोई औचित्य नहीं… अतः मैं आपके माध्यम से ये बात सार्वजनिक करना चाहता हूँ…

साक्ष्य के रूप में आडियो संलग्न कर भेज रहा हूं…. सुनिए… india voice audio

जितेन्द्र यादव
पूर्व रिपोर्टर
इंडिया वॉइस न्यूज
कानपुर देहात
9935815175



इसे भी पढ़ें-

दो चैनलों में एक साथ काम न करने के फरमान के बाद ‘इंडिया वॉयस टीवी चैनल’ से होने लगे धड़ाधड़ इस्तीफे

भड़ास की खबरें व्हाट्सअप परBWG7

आपसे सहयोग की अपेक्षा भी है… भड़ास4मीडिया के संचालन हेतु हर वर्ष हम लोग अपने पाठकों के पास जाते हैं. साल भर के सर्वर आदि के खर्च के लिए हम उनसे यथोचित आर्थिक मदद की अपील करते हैं. इस साल भी ये कर्मकांड करना पड़ेगा. आप अगर भड़ास के पाठक हैं तो आप जरूर कुछ न कुछ सहयोग दें. जैसे अखबार पढ़ने के लिए हर माह पैसे देने होते हैं, टीवी देखने के लिए हर माह रिचार्ज कराना होता है उसी तरह अच्छी न्यूज वेबसाइट को पढ़ने के लिए भी अर्थदान करना चाहिए. याद रखें, भड़ास इसलिए जनपक्षधर है क्योंकि इसका संचालन दलालों, धंधेबाजों, सेठों, नेताओं, अफसरों के काले पैसे से नहीं होता है. ये मोर्चा केवल और केवल जनता के पैसे से चलता है. इसलिए यज्ञ में अपने हिस्से की आहुति देवें. भड़ास का एकाउंट नंबर, गूगल पे, पेटीएम आदि के डिटेल इस लिंक में हैं- https://www.bhadas4media.com/support/

भड़ास का Whatsapp नंबर- 7678515849

Leave a Reply

Your email address will not be published.

*

code