पत्रकार मदनमोहन जोशी का निधन

भोपाल : जानेमाने पत्रकार और जवाहरलाल नेहरू कैंसर अस्पताल एवं रिसर्च सेंटर के संस्थापक मदन मोहन जोशी का सोमवार सुबह लंबी बीमारी के बाद निधन हो गया। वे लगभग 80 वर्ष के थे। उनके परिवार में पत्नी आशा जोशी और पुत्री दिव्या है। परिजनों के मुताबिक सुबह लगभग छह बजे उन्होंने अंतिम सांस ली। हृदयाघात के कारण उनका निधन हुआ।

इंदौर से प्रकाशित नई दुनिया के भोपाल में ब्यूरो प्रमुख रहने के बाद वह नई दुनिया भोपाल के स्थानीय संपादक के पद पर भी रहे। उन्हें स्वतंत्र लेखन और फीचर लेखन में विशेषज्ञता हासिल थी। पत्रकारिता जगत में आने से पहले स्व. जोशी टीचर थे। उनके लेखों का संकलन ‘सुर्खियों के इर्द-गिर्द’ और ‘राजनीति क्षेत्रे-कुरुक्षेत्रे’ काफी चर्चित रहा था। स्व. जोशी ने पत्रकारिता की शुरुआत 1956 में की। उन्हें कई राष्ट्रीय पुरस्कार भी मिले।

गृहमंत्री बाबूलाल गौर, वित्त मंत्री जयंत मलैया, पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री गोपाल भार्गव, वन मंत्री डॉ. गौरीशंकर शेजवार, नगरीय विकास एवं पर्यावरण मंत्री कैलाश विजयवर्गीय, लोक निर्माण मंत्री सरताज सिंह, लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा, खाद्य-नागरिक आपूर्ति मंत्री कुंवर विजय शाह, किसान-कल्याण एवं कृषि विकास मंत्री गौरीशंकर बिसेन, पशुपालन, उद्यानिकी तथा खाद्य प्र-संस्करण मंत्री सुश्री कुसुम महदेले, उद्योग मंत्री यशोधरा राजे सिंधिया, स्कूल शिक्षा मंत्री पारस जैन, श्रम मंत्री अंतर सिंह आर्य, राजस्व मंत्री रामपाल सिंह, आदिम-जाति कल्याण मंत्री ज्ञान सिंह, महिला-बाल विकास मंत्री माया सिंह, परिवहन मंत्री भूपेन्द्र सिंह ठाकुर, राज्य मंत्री दीपक जोशी, लाल सिंह आर्य, शरद जैन और सुरेन्द्र पटवा ने श्री जोशी के निधन पर अपनी शोक संवेदनाएं प्रकट की।



भड़ास व्हाट्सअप ग्रुप- BWG-10

भड़ास का ऐसे करें भला- Donate






भड़ास वाट्सएप नंबर- 7678515849

Comments on “पत्रकार मदनमोहन जोशी का निधन

  • Girish Mishra says:

    I personally knew Joshiji. We spent a number of weeks in East Germany during 1980s, where we had gone to take part in a world seminar and we toured the country including East Berlin.
    My homage to his memory.

    Reply
  • Right fights says:

    लोकसभा टीवी के एंकर अनुराग दीक्षित की शिकायत पहुंची राष्ट्रपति के पास
    लोकसभा टीवी के एंकर अनुराग दीक्षित की शिकायत राष्ट्रपति के पास पहुंची है। शिकायत कर्ता विनय अग्रवाल ने आरोप लगाया है कि वे अपने पदनाम का दुरुपयोग कर रहे हैं।
    लोकसभा टीवी के एंकर अनुराग दीक्षित की शिकायत पहुंची राष्ट्रपति के पास

    लोकसभा टीवी के एंकर अनुराग दीक्षित की शिकायत राष्ट्रपति के पास पहुंची है। शिकायत कर्ता विनय अग्रवाल ने आरोप लगाया है कि वे अपने पदनाम का दुरुपयोग कर रहे हैं। हालांकि यह कितना सही है यह तो जांच के बाद ही पता चलेगा पर विनय अग्रवाल का शिकायतनामा निम्न है।

    सेवा में,
    सीईओ महोदय
    .लोकसभा टीवी चैनल दिल्ली।
    विषयः- लोक सभा टीवी चैनल में एंकर के पद पर कार्यरत श्री अनुराग दीक्षित के द्वारा नगरवासियों के उत्पीड़न कर चैनल को बदनाम करने के सम्बन्ध मंे।
    ——————————————————-
    महोदय,
    आपको अवगत कराना है कि लोकसभा टीवी चैनल में जहाॅगीराबाद जिला बुलन्दषहर उ0प्र0 निवासी श्री अनुराग दीक्षित पुत्र श्री सुरेन्द्र कुमार दीक्षित एंकर के पद पर कार्यरत हैं। उक्त एंकर अनुराग दीक्षित व इनके बडे भाई श्री सुनील दीक्षित आपके चैनल को बदनाम करने में लगे हैं। चैनल का लाभ उठाकर अनुराग दीक्षित समय-समय पर जिले के आला अधिकारियों व विभिन्न पार्टियों के बडे नेताओं को अपने यहां पर बुलाते हैं। जनपद के प्रमुख अखबारो के पत्रकारों पर सम्पादकों से फोन कराकर अपने यहां हुये कार्यक्रमों की मनगंढ़त झूठे-सच्चे समाचार प्रकाषित कराते हैं। इनके बडे़ भाई सुनील दीक्षित इसी का लाभ उठाकर हमारे नगरवासियों का कई प्रकार से उत्पीड़न व शोषण करने में लगे हैं। इसकी जाॅच जनपद के किसी भी गोपनीय विभाग से करा ली जाये तो स्वयं ही इनके कई काले कारनामे सामने आ जायेगंे। इनके भाई ने डीजल पैटी के लाईसेंस की दुकान पर लोकसभा टीवी चैनल व एंकर अनुराग दीक्षित का नाम लिखकर अवैध मिनी पैट्रोल पम्प चला रखा है। अपने इसी अवैध पैट्रोल पम्प का चलाने के लिए अनुराग दीक्षित ने उसी एरिया में भारत सरकार द्वारा स्वीकृत हुये एक पैट्रोल को आपके चैनल की आड़ में आला अधिकारियों से षिकायत कर निरस्त करा दिया। इनके भाई ने अभी कुछ माह पूर्व अवैध वसूली का विरोध करने अपने ही घर पर बुलाकर एक पाॅलटेक्निक कर्मचारी की पिटाई की थी उक्त पोलटेक्निक कर्मचारी ने इनके भाई के विरूद्ध जिसकी लिखित तहरीर पुलिस में दी थी, लेकिन चैनल का दुरूपयोग करते हुये पुलिस पर दबाब बनाकर उल्टा उसके खिलाफ ही मुकदमा दर्ज करा दिया। इसकी दबाब में उक्त पोलटेक्न्कि कर्मी से मनमाफिक माफीनामा भी लिखवा लिया। इनके भाई द्वारा संचालित जहाॅगीराबाद मानव कल्याण समीति ने पुस्तकालय के नाम पर नगर पालिका की लाखों रूपये की सम्पत्ति पर अवैध कब्जा कर रखा है। पुस्तकालय के नाम पर अनुराग दीक्षित व इनके भाई लोगों से अनैतिक रूप से पैसा वसूल करते हैं। अनुराग चैनल के नाम पर कुछ सांसदों से पुस्तकालय के नाम अवैध वसूली करते हैं। आपके चैनल का दुरूपयोग कर नगर पालिका के अधिषासी अधिकारी पर दबाव बनाकर अवैध रूप से पालिका के गृहकर रजिस्टर में अपनी समिति व पिता का नाम चढ़वा दिया। दिनांक 30 मार्च 2015 को नगर पालिका परिषद जहाॅगीराबाद की बोर्ड बैठक में कुल 30 सभासदो में से उपस्थिति 28 सभासदों ने सर्व सम्मति से इनकी समिति का गलत तरीके से पालिका के गृहकर रजिस्टर में से नाम काटकर, वहां से समिति का अवैध कब्जा हटाकर, नगर पालिका द्वारा पुस्तकालय का संचालन करने का प्रस्ताव किया है। इसी प्रस्ताव के बाद दिनांक 06.04.2015 को गलत तरीके से दर्ज समिति व संस्थापक के नाम को काटकर पालिका प्रषासन ने पुनः पालिका भूमि के नाम से दर्ज कर लिया है। इसके बाद भी अनुराग इनके पिता व भाई लोकसभा चैनल का दुरूपयोग कर आला नेताओं व अधिकारियों को गुमराह करते हुए पालिका बोर्ड द्वारा वहां से स्वामी विवेकनन्द जी की प्रतिमा को बोर्ड के प्रस्ताव के बाद हटाने या उसे क्षति पहुंचाने की फर्जी षिकायतें कर रहे हैं। यह सभी पुनः समिति व संचालक का नाम गृहकर रजिस्टर में चढ़वाकर अपना अवैध स्वामित्व दर्षा कर पालिका की लाखों की भूमि पर अपना कब्जा करे रखने की जुगत में लगे है। यह लोग पालिका प्रषासन पर अनावष्यक दबाब बनाये हये हैं। आपको इनके द्वारा संचालित अवैध पैट्रोल पम्प चलाने की कुछ पुरानी फोटो, इनकी संस्था द्वारा किये गये अवैध कब्जे व अवैध वसूली की षिकायत की छायाप्रति भी संलग्न की जा रही है। जो भी इनके काले कारनामों का विरोध करता है तो ये उसे भुगत लेने की धमकी देते हैं।
    अतः आपसे निवेदन है जाॅच कराकर आवष्यक कार्यवाही करने की कृपा करें।

    विनय अग्रवाल सभासद

    नगर पालिका परिषद जहांगीराबाद

    जिला बुलन्दशहर यूपी 😥

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published.

*

code