नरेंद्र मोदी ने नरक मचा दिया है, बैंक वालों को जनता का खून पीने के लिए खुल्ला छोड़ दिया है…

Yashwant Singh : नरेंद्र मोदी ने नरक मचा दिया है। बैंक वाले जल्लाद की तरह जनता के खून पसीने के पैसे को इस उस नाम पर भकोस कर अपना खजाना भरने में लगे हैं। सोच रहा हूँ सारे बैंक अकाउंट बन्द कर दूं। क्या कोई ऐसा बैंक है जो तरह तरह के चार्जेज के नाम पर ग्राहक को न लूटता हो? मुझे icici वालों ने दुखी कर दिया है।

हर महीने किसी न किसी बहाने सौ पचास रुपए काट लेते हैं। यहाँ तक कि मकान मालिक को किराया ऑनलाइन भेजो तो उस पर भी पांच सात रुपए काट लेते हैं। ये सब पीएम मोदी का किया धरा पाप है जो जनता भोग रही है। ये नरेंद्र मोदी तो अपने नीरव मोदी जी को बैंकों का हजारों करोड़ लेकर न सिर्फ भागने देते हैं बल्कि चैन से जीने बसने के लिए दूसरे देश की नागरिकता भी दिलवा देते हैं। फिर ज्ञान पेलते हैं कि न खाऊंगा न खाने दूंगा। सच तो है कि ये खुद जनता का खून पीते है और अपने यारों-दलालों को भी खून पीने की खुली छूट देते हैं।

भड़ास एडिटर यशवंत सिंह की एफबी वॉल से. उपरोक्त स्टेटस पर आए ढेरों कमेंट्स में से कुछ प्रमुख यूं है–

Chandra Pratap Singh Sikarwar मिनिमम बैलेंस रखने के जुर्म में अपने गरीब खातेदारों से 2500 करोड़ एक साल में sbi ने कमाए हैं। जन धन योजना में शून्य पर खुले 80 फीसदी खातों में अभी तक गरीब लोग पैसा जमा ही नहीं कर पाए हैं। नोट चीन में छप रहे हैं। मोदी जी ने जो भी कथित आर्थिक सुधार किए हैं, उनके परिणाम उलट आ रहे हैं। अब तो मध्यम वर्ग भी गरीब हो रहा है। बुद्धिजीवी क्यों नही सोच रहे ? ये समझ से परे है

Madan Tiwary खाता बन्द कर के कैश में काम करें. इसका ही अभियान शुरू किया जाय. मैं तो एटीएम भी सरेंडर करने की सोच रहा हूँ.

Syed Kashif Ali Hashmi हर महीने SBI वाले मेरे अकाउंट से पता नहीं किस बात के (शायद नीरव मोदी वाले पैसे काट लेते हैं) और मै हमेशा की तरह सोचता हूँ की कौन जाये बैंक 40-50रुपए के लिए लेकिन यहाँ तो मामला गंभीर है

Kamal Kumar Singh हमरा भी काट लिया 22 रूपया। हर हफ्ते कट रहा। कुल मिला के महीने में 2 बीयर का पैसा कट जाता है।

Arvind Kumar Singh 2500/-मेरे खाते अचानक ही काट लिया। कोई बताने वाला तक नहीं क्यों? SBIका हाल है।

Anand Shukla जितना तो हमें ब्याज नहीं मिलता उससे कहीं ज्यादा ये लोग हमीं से ही वसूल कर रहे है Yashwant Singh सर हम अगर अपना पैसा निकाल भी 4 बार तो 5वे में अलग से 20-40 रुपया दे, बैंक में भी धांधली सही हो जाये ये तो ऐसा ना होगा लेकिन क्या करे ऐसे लोगों का? जो लोआन लेता है वो तो नौ दो ग्यारह हो जाते है आउट ऑफ इंडिया सब बैंक वाले ही और सरकार तो मेन इसमें है. हमारा पैसा ही हमसे छीन ले रही है.

Chandra Pratap Singh Sikarwar एक सर्वे आया है-नेट बैंकिग, पेटीएम से पेमैंट व नान कैश सिस्टम से लोगों का तेजी से मोह भंग हो रहा है। नोटबंदी के समय जितने लोग कैश मुक्त लेन देन कर रहे थे, उनकी तुलना में आंकड़ा घटा है। यानी कैश लेन देन बढ़ रहा है। बैंकिग सिस्टम से विश्वास उठने की वजह से ही ये सब हो रहा है। आने वाले वक्त में अभी कई तरह से आपके पैसे खातों से काटने के लिए फारमूले खोजे जा रहे हैं। आखिर माल्या और नीरव मोदी द्वारा हड़पे बैंकों के खरबों रुपयों की भरपाई मोदी जी अपनी जेब से थोड़े ही करेंगे !

Hero Dubey सुविधा शुल्क की पुरातन परंपरा का निर्वहन हो रहा। भले ही आपकी खून पसीने की कमाई है, लेकिन बेईमान चोरकटों से भी कटौती होती है। कुछ लोग तो जान बूझकर बैंक वालों को रिश्वत देते हैं।

Pratyush Singh जी यूनियन बैंक आफ इंडिया सबसे अच्छा है 0 रूपये रखने पर भी कोई चार्ज नहीं और एटीएम के लिए 9 बार मिलता है उसके बाद ही मामूली चार्ज लगता है। मेरा अकाउंट है और अभी तक कोई समस्या नहीं आई

Rahul Vishwakarma अभी एक हफ्ते पहले अपनी फोटो और साइन वेरिफाई कराने गया था ICICI में, 160 रुपये काट लिए… नया धंधा बना रखा है…

Chitaranjan Nath Tiwari नीरव मोदी की नागरिकता पर भगत लोग कोई प्रतिक्रिया व्यक्त नहीं किये।

Vinay Maurya Sinner हमरो भईया यही हाल हव स्टेट बैंक वालन मिनिमम चार्ज रखे कि वजह से हर महीने सौ ढेड़ सौ काट लेलन

Atul Shankar Pandey सर सभी बैंक वाले परेशान कर रहे है…सच में सर बैंक की इस हरकत ने दुखी कर रखा है।

Vidrohi Gauraw Solanki चरस बोई दीहे बाटेन दादा! पता नहीं चलता कब कहां से काटे हैं

Sahab Deen Yadav समझ सकते हैं जब मेहनत की कमाई चुटकियों में कट जाती है तब

Kapil Bhardwaj नाश कर दिया देश का फेंकू महाराज ने । लुटेरे । पूंजीवादी कुत्ते।

Simmi Bhatia हा किसी और एटीएम से पैसा निकालो तो भी पैसे कट रहे ।

Ram Murti Rai हमारी वाणी आपके लेख मे

Chandan Sharma हम त एहि से 2000-3000 राखिला बस!

Deepak Pandey इतना कड़वा सच बोलने की हिम्मत सिर्फ आप में ही हैं सर आपको नमन

Sandip Naik यहां तक कि बैंक जो SMS भेजता है उसके भी 37 रुपये सालाना काट रहा है… मैंने लड़ाई करके कहा कि नही चाहिए मुझे सूचना सरकार से बड़ा लुटेरा नही कोई

Ravi Rajput सही कह रहे हैं महाशय। एक बार मैने भूलवश बिना रकम की जानकारी लिए दो बार अपने SBI खाते से रकम निकालने का प्रयास किया जो कि कुल जमा रकम से ज्यादा था। रकम तो नहीं मिला उल्टे जमा रकम से दंड भरना पङा। पर जब खाते मे पर्याप्त राशि होने के बावजूद जब मशीन से रकम नहीं मिलता है दस जगह दौड़ लगाना पडता है उस समय हमे कोई दंड नहीं देता। आपका बहुत-बहुत धन्यवाद जो आपने इस मुद्दे को उठाया।

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Comments on “नरेंद्र मोदी ने नरक मचा दिया है, बैंक वालों को जनता का खून पीने के लिए खुल्ला छोड़ दिया है…

  • भगत सिंह लुबाना says:

    स्टेट बैंक आफ इंडिया ने मेरी बेटी के खाते से 2000रू काट लिए जो कि आईं आईं टी की छात्रा है।मैं मोदी जी को बोट नहीं दूंगा ।

    Reply
  • भगवान् चंद सिरसा हरयाणा says:

    सर जी हमारा पैसा महीनो से लगभग पांच हज़ार कट गया ह जिसका बैंक वाले संतोषजनक जवाब नहीं दे रहे

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *