रिपब्लिक टीवी का ये कारनामा देखिए

प्रकाश के रे-

ग़ज़ब है. रिपब्लिक टीवी वालों ने तालिबान के संस्थापक मुल्ला उमर के बेटे मुल्ला याक़ूब की फ़ोटो (जो उपलब्ध ही नहीं है) की जगह मेरठ, उत्तर प्रदेश के बसपा नेता हाजी याक़ूब क़ुरैशी का फ़ोटो लगा दिया.


क्या इन हल्ला मचाने वाले चैनलों में पढ़ा लिखा कोई भी आदमी भर्ती नहीं किया गया है जो सही ग़लत के बीच फ़र्क़ महसूस कर करा सके?

ज्ञात हो कि रिपब्लिक टीवी ने इससे पहले कल्याण सिंह को राजपूत नेता बताया था।

कल्याण सिंह को राजपूत बताने वाले चैनल का अगला कारनामा। तालिबान के फॉउंडर मुल्ला उमर के बेटे मुल्ला याक़ूब की फ़ोटो की जगह मेरठ के बसपा नेता याक़ूब क़ुरैशी की फ़ोटो लगाकर खबर चला दी। पूछता है भारत, पढ़े लिखे हैं या नहीं रिपब्लिक वाले?


धर्मवीर-

महान भारतीय मीडिया ऐसे ही तो 142 नंबर पर नहीं पहुंचा। नरभक्षी मीडिया के सरताज रिपब्लिकभारत ने तालिबान नेता याकूब उमर की जगह मेरठ के मुस्लिम नेता हाजी याकूब की तस्वीर दिखा कर ही ख़ुद को सबसे तेज समाचार चैनल साबित करने की आपराधिक कोशिश की।

तालिबान नेता याकूब उमर का चित्र मिलना मुश्किल था तो क्या हुआ , मेरठ के मुस्लिम नेता याकूब क़ुरैशी का ही चित्र चिपका दिया। कितने फ़र्ज़ी हैं यह लोग …. छी!

भड़ास की खबरें व्हाट्सअप परBWG7

आपसे सहयोग की अपेक्षा भी है… भड़ास4मीडिया के संचालन हेतु हर वर्ष हम लोग अपने पाठकों के पास जाते हैं. साल भर के सर्वर आदि के खर्च के लिए हम उनसे यथोचित आर्थिक मदद की अपील करते हैं. इस साल भी ये कर्मकांड करना पड़ेगा. आप अगर भड़ास के पाठक हैं तो आप जरूर कुछ न कुछ सहयोग दें. जैसे अखबार पढ़ने के लिए हर माह पैसे देने होते हैं, टीवी देखने के लिए हर माह रिचार्ज कराना होता है उसी तरह अच्छी न्यूज वेबसाइट को पढ़ने के लिए भी अर्थदान करना चाहिए. याद रखें, भड़ास इसलिए जनपक्षधर है क्योंकि इसका संचालन दलालों, धंधेबाजों, सेठों, नेताओं, अफसरों के काले पैसे से नहीं होता है. ये मोर्चा केवल और केवल जनता के पैसे से चलता है. इसलिए यज्ञ में अपने हिस्से की आहुति देवें. भड़ास का एकाउंट नंबर, गूगल पे, पेटीएम आदि के डिटेल इस लिंक में हैं- https://www.bhadas4media.com/support/

भड़ास का Whatsapp नंबर- 7678515849

One comment on “रिपब्लिक टीवी का ये कारनामा देखिए”

  • Jeelani khan Alig says:

    Prakash Sir… Sahi ghalat ki samajh rakhne wale khoob hain but jinke liye sirf musalmanon ko neecha dikhana n budnaam krna hi sahi hai to wehi kreinge n kaheinge na. iss photo ko kaun nhi pehchanta khas kr media mein… ye sanghi hain jo media karobari bn gye hain…Agar itne bade leader ko bhi nhi pechanta to unhein laat maar kr channel se bhagana chahiye…

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published.

*

code