हत्या की फर्जी खबर वायरल करने पर मेरठ पुलिस ने न्यूज18यूपी चैनल के खिलाफ मुकदमा लिखा

आजकल पत्रकार कहीं से कुछ कंटेंट आते ही फौरन ब्राडकास्ट या शेयर या पब्लिश या अपलोड या फारवर्ड कर देते हैं. खासकर हत्या जैसे बड़े मामलों में अगर झूठी खबर फैलाई जाए तो यह खतरनाक ट्रेंड है.

‘मेरठ में लाइव मर्डर का वीडियो वायरल’ शीर्षक से एक खबर न्यूज18यूपी की तरफ से ट्वीट की गई. इस खबर को मेरठ पुलिस के मीडिया ग्रुप में भी डाल दिया गया. पुलिस ने छानबीन करके बताया कि ये हत्या किसी दूसरे प्रदेश की है, मेरठ में ऐसी कोई घटना नहीं हुई है.

इसके बाद न्यूज18यूपी ने अपना ट्वीट हटा दिया. मेरठ पुलिस के कप्तान ने फर्जी खबर फैलाने को लेकर रिपोर्ट लिखने का निर्देश दे दिया. इसके बाद न्यूज18यूपी चैनल पर मुकदमा कायम कर दिया गया है और जांच जारी है.

देखें संबंधित प्रमाण व स्क्रीनशाट….

इस मामले में न्यूज18यूपी के मेरठ संवाददाता निखिल अग्रवाल का पक्ष पढ़ें-

मुकदमा ‘न्यूज़18यूपी’ पर नहीं, अज्ञात के खिलाफ हुआ है!


  • भड़ास की पत्रकारिता को जिंदा रखने के लिए आपसे सहयोग अपेक्षित है- SUPPORT

 

 

  • भड़ास तक खबरें-सूचनाएं इस मेल के जरिए पहुंचाएं- bhadas4media@gmail.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *