वरिष्ठ पत्रकार अनिल चौधरी को डॉक्टरेट की उपाधि से सम्मानित किया गया

मेवाड़ विश्वविद्यालय, चित्तौड़गढ़ (राजस्थान) में चौथे दीक्षान्त समारोह में वरिष्ठ पत्रकार अनिल चौधरी को डॉक्टरेट की उपाधि से सम्मानित किया गया। अनिल चौधरी बिजनौर जनपद में नजीबाबाद तहसील स्थित ढाकी साधो गांव के निवासी हैं। वे 22 वर्षों से पत्रकारिता के क्षेत्र में जिले का नाम रोशन कर रहे हैं।

मौजूदा समय में वे हिन्दुस्तान के दिल्ली संस्करण से जुड़े हैं। उन्होंने मेरठ मंडल से प्रकाशित समाचार पत्रों में खेतिहर मुद्दों का विश्लेषणात्मक अध्ययन विषय पर गहन शोध किया है। इसी के उपरांत उन्हें यह पीएचडी की डिग्री प्रदान की गई है। कृषि पत्रकारिता में इनके कई शोध पत्र प्रकाशित हो चुके हैं। इससे पूर्व अनिल चौधरी के खेती किसानी से संबंधित किताबों और पत्र पत्रिकाओं में भी विशेष लेख प्रकाशित हो चुके हैं।

किसानों की समस्याओं के लिए वे हमेशा संघर्षरत दिखाई पड़ते हैं। किसान परिवार से ताल्लुक रखने वाले चौधरी घसीटा सिंह के छोटे बेटे डॉ. अनिल चौधरी ने संवाददाता को फ़ोन पर बातचीत में बताया कि मौजूदा दौर में खेती किसानी संकट से गुजर रही है। सरकारों ने तो किसान को उसी के रहमोकरम पर छोड़ दिया है, समाचारपत्रों में भी किसान की समस्याओं को उजागर करने में कोई दिलचस्पी नहीं दिखाई पड़ती।

उनका मानना है कि ऐसे मुद्दों पर पत्रकारों को संवेदनशील होना होगा और किसानों को एकजुट होकर कम लागत की उन्नत खेती की तरफ ध्यान देना होगा, तभी किसान खुशहाल हो पायेगा और देश भी तरक्की करेगा।

PayTM से जुड़ेंगे तो सड़क पर आ जाएंगे

PayTM से जुड़ेंगे तो सड़क पर आ जाएंगे… PayTM अपने वेंडर्स को ला देता है सड़क पर… पवन गुप्ता आज मारे मारे फिर रहे हैं…. इंटीरियर डेकोरेशन का काम कराने वाले पवन गुप्ता अपने सिर पर बढ़ते कर्ज और देनदारों के बढ़ते दबाव के चलते घर छोड़ कर भागे हुए हैं… उन्होंने भड़ास4मीडिया के एडिटर यशवंत को अपनी जो आपबीती सुनाई, उसे आप भी सुनिए.

Bhadas4media ಅವರಿಂದ ಈ ದಿನದಂದು ಪೋಸ್ಟ್ ಮಾಡಲಾಗಿದೆ ಶುಕ್ರವಾರ, ಏಪ್ರಿಲ್ 26, 2019
  • भड़ास की पत्रकारिता को जिंदा रखने के लिए आपसे सहयोग अपेक्षित है- SUPPORT

 

 

  • भड़ास तक खबरें-सूचनाएं इस मेल के जरिए पहुंचाएं- bhadas4media@gmail.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *