मीडियाकर्मियों की मोर्चेबंदी से पकड़ा गया पर्स लुटेरा

इंदौर : तुकोगंज थाने के ठीक सामने एक बदमाश ने 10-10 के नोट सड़क पर फेंके और महिला को झांसा देते हुए उसका पर्स चुराकर भागने लगा। वारदात वहां खड़े दो मीडियाकर्मियों ने देखी। उन्होंने लुटेरे को पकड़ने के लिए करीब आधा किमी दौड़ लगाई। लुटेरे ने हाथापाई की, लेकिन मीडियाकर्मियों ने उसे पकड़कर पुलिस को सौंप दिया।

शाम करीब 5.15 बजे नईदुनिया के फोटो जर्नलिस्ट आशु पटेल और एक न्यूज चैनल के जर्नलिस्ट राहुल वावीकर थाने के सामने खिचड़ी खा रहे थे। तभी उनका ध्यान कुछ दूर एक महिला पर गया। वह सड़क पर गिरे 10-10 के नोट उठा रही थी। तभी एक लुटेरे ने महिला की कार से पर्स उड़ाकर दौड़ लगाई। यह देख आशु और राहुल भी उसके पीछे दौड़े। राहुल ने बताया कि लुटेरा सिटी सेंटर से भागकर हाई कोर्ट तिराहे तक पहुंचा और पलासिया की ओर भागने लगा। राहुल ने उसे मस्जिद के पास दबोच लिया। राहुल ने बताया कि जब लुटेरे को पकड़ने के लिए दौड़ रहे थे, तो उसने आधे रास्ते में पर्स फेंक दिया। आशु ने राहुल से कहा कि तुम उसका पीछा करो। पर्स मैं उठा लूंगा।

राहुल ने बताया कि दौड़ते समय मुझे एक पल अहसास हुआ कि लुटेरे के पास चाकू या हथियार हो सकता है, लेकिन आशु को आते देख साहस कम नहीं हुआ। मैंने ठान लिया था कि अब कुछ भी हो, मैं उसे पकड़कर रहूंगा।

पकड़े गए आरोपी ने खुद का नाम प्रतीक बताया है। आरोपी दक्षिण भारत का है। उसने पूछताछ में बताया कि वारदात के समय उसका एक साथी भी था। प्रतीक और उसकी गैंग से जुड़े सदस्यों के बारे में पुलिस जानकारी निकाल रही है। दरअसल, पिछले दिनों सी-21 मॉल की पार्किंग और 56 दुकान पर भी नोट फेंक कर लूटने की वारदात हो चुकी है। एसपी (ईस्ट) ओपी त्रिपाठी ने राहुल और आशु को बधाई देते हुए विभाग की ओर से सम्मानित करने का निर्णय लिया है। इसी तरह, शहर के सभी मीडियाकर्मियों द्वारा भी दोनों को शुक्रवार को सम्मानित किया जाएगा।

जिस महिला का पर्स बदमाश ने लूटा था, उनका नाम रोहिणी अरुण ताउसे (40) निवासी साईंकृपा कॉलोनी है। वे एक निजी कंपनी में नौकरी करती है। उनके मुताबिक मैं डीपी ज्वेलर्स पर सहेली को छोड़ने आई थी। जाते समय पिता का फोन आया। इस दौरान बदमाश ने सड़क पर नोट फेंके। उसने कहा- आपके नोट गिर गए हैं। उठा लो। मैं उठाने के लिए झुकी और दूसरी ओर से बदमाश ने अगली सीट पर रखा मेरा पर्स उड़ा लिया। इस घटना लगभग दो सेकंड में हुई।



भड़ास व्हाट्सअप ग्रुप- BWG-10

भड़ास का ऐसे करें भला- Donate






भड़ास वाट्सएप नंबर- 7678515849

Leave a Reply

Your email address will not be published.

*

code