दूरदर्शन पर यात्रा वृतांत कार्यक्रम ‘रग रग में गंगा’ का आरंभ

नई दिल्ली : दूरदर्शन राष्ट्रीय स्वच्छ गंगा मिशन के सहयोग से गंगा नदी की आध्यात्मिक, धार्मिक, सांस्कृतिक और सामाजिक-आर्थिक विरासत और इसकी वर्तमान पारिस्थितिकीय स्थिति पर यात्रा-वृतांत श्रृंखला ला रहा है। गोमुख से गंगासागर तक गंगा की यात्रा को कवर करने वाले इस यात्रा वृतांत की प्रस्तुति प्रसिद्ध अभिनेता राजीव खंडेलवाल द्वारा की जा रही है और इसे डीडी नेशनल पर 2 फरवरी, 2019 से प्रत्येक शनिवार और रविवार रात्रि 9 बजे प्रसारित किया जाएगा।

यह यात्रा-वृतांत न केवल गंगा की प्राचीन खूबसूरती को समेटते हुए गंगा के किनारों पर समृद्ध प्राकृतिक विरासत को प्रदर्शित करता है बल्कि इस नदी से जुड़े स्थानीय लोगों के दिल के गहरे मनोभावों, भावनाओं और आजीविका का भी द्योतक है कि कैसे वे इसे अपनी जिम्मेदारी समझते है और कैसे वे इस महान नदी से जुड़ते है। स्थानीय व्यंजन, लोकगीत, रोमांचक अनुभव और प्रत्येक पहलू की जीवंतता इस रोमांचक श्रृंखला के हिस्से हैं।

इन 21 एपिसोड की श्रृंखला में दर्शकों के लिए गंगा के पुनरुद्धार की आवश्यकता पर अमूल्य संदेश निहित है और उनके अन्दर यह भाव उत्पन्न करने का प्रयास भी है कि किस प्रकार सदियों से गंगा ने उनके जीवन को समृद्ध कर उपहारों से नवाज़ा है। यह कार्यक्रम प्रचुर अनुसंधान आदान के साथ-साथ सरकार द्वारा किए गए उपायों सहित लोगों को इस संबंध में कार्य करने हेतु प्रेरित करने के साथ स्वच्छता के संबंध में गंगा की वर्तमान स्थिति पर प्रकाश डालेगा।

आज के बच्चे कल के भारत का भविष्य हैं और इस बाल सुलभ अवस्था में उनका ध्यान आकर्षित करने के लिए दूरदर्शन ने राष्ट्रीय स्वचछ गंगा मिशन के साथ मिलकर ‘मेरी गंगा’ नामक प्रश्नोत्तरी भी तैयार की है। इस प्रश्नोत्तरी ने युवा पीढ़ी में उत्सुकता उत्पन्न करने और इसके प्रति संवेदनशील बनाने के उद्देश्य को पूरा करने के लिए भारत के सभी क्षेत्रों से स्कूली बच्चों को शामिल करने का प्रयास किया है। इसके पीछे यह मूलभूत विचार है कि इस व्यापक अभियान के माध्यम से लोगों में व्यवहार के स्तर पर बदलाव लाया जाए और लोगों में जिम्मेदारी का अहसास कराया जाए।

ये आम लोग हैं जो बड़े खास अंदाज़ में गुनगुनाते हैं, सुनेंगे तो सुनते रह जाएंगे

ये जनता है, गाती है तो दिल से… आप सुनिए भी दिल से.. सामान्य लोगों के भीतर गायकी के कुछ असामान्य कीड़े होते हैं जो गाहे बगाहे प्रकट हो जाते हैं… ऐसे ही कुछ आम लोगों की गायकी को इस वीडियो में संयोजित किया गया है. कोई पत्रकार है, कोई बिदेसिन है, कोई समाज सेवी है तो कोई एक्टिविस्ट है. इनमें गायकी की प्रतिभा जन्मना है, कोई ट्रेनिंग नहीं ली इनने. कोई अवधी गा रहा, कोई भोजपुरी गुनगुना रहा, कोई अंग्रेजन छठ का गीत गा रही, कोई पत्रकार क्लासिकल गुनगुना रहा… क्या ग़ज़ब टैलेंट है.. सुनिए और आनंद लीजिए…

Bhadas4media ಅವರಿಂದ ಈ ದಿನದಂದು ಪೋಸ್ಟ್ ಮಾಡಲಾಗಿದೆ ಗುರುವಾರ, ಜನವರಿ 31, 2019

Launch of Doordarshan’s travelogue program “Rag Rag Mein Ganga”

New Delhi : Doordarshan in collaboration with NMCG brings a travelogue series ‘Rag Rag Mein Ganga’, an account of the spiritual, religious, cultural and socioeconomic heritage of the river Ganga, and its present ecological condition. The travelogue that covers Ganga’s journey from Gomukh to Gangasagar, is being anchored by a well-known actor, Rajeev Khandelwal and will go on air from 2nd February, 2019, every Saturday and Sunday at 9 P.M. on DD National.

The travelogue, not only captures Ganga in its pristine beauty, and showcases the rich natural heritage on the banks of Ganga, but also is the mouthpiece of the local people from the grassroots on their feelings, sentiments and livelihood that are attached with the river, on what they perceive as their own responsibilities and how they connect with the Mighty River. The essence of local food, folk, adventure and vibes of every touch point is part of this exciting series.

The 21 episode series is embedded with many take-home messages for the viewers on the need of rejuvenating Ganga, and to make them realize their due for centuries of life-enriching gifts she has bestowed on the people. With abundant research inputs, the show will highlight the present situation of Ganga in terms of cleanliness along with the measures taken by the government, with the call for action to the people.

Today’s children are the future of tomorrow’s India, and to attract their attention and catch them young, DD along with NMCG has also designed a quiz titled ‘Meri Ganga’. This quiz show has tried to cover school children from all zones of India in order to trigger curiosity in the younger generation, and to make them take up the cause.

The fundamental idea behind such a comprehensive campaign is to mobilize people to trigger behavioral change in people and evoke a sense of responsibility in the masses.

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *