न्यूज चैनल में काम करने वाली डिंपल बन गई लुटेरों की सरगना

नई दिल्ली। दक्षिणी पश्चिमी जिले की स्पेशल स्टाफ की टीम ने लूट, डकैती व कार चोरी की कई वारदात को अंजाम देने वाले एक गिरोह का पर्दाफाश किया है। इस गिरोह को एक शातिर महिला चलाती थी। वह एक न्यूज चैनल में भी काम कर चुकी है। पुलिस ने गिरोह की सरगना समेत दो महिलाओं व तीन अन्य बदमाशों को गिरफ्तार किया है। पुलिस का दावा है कि इस गिरफ्तारी से विभिन्न थानों में लूट से जुड़े 11 मामले सुलझे हैं। गिरफ्तार किए गए गिरोह के सदस्यों में सरगना डिंपल, रोहित, अमित, पलक, वसीम और सोहेल शामिल हैं।

वारदात को कहां और किस तरीके से अंजाम देना है, इसका फैसला डिंपल लेती थी। पुलिस से बचने के लिए इनके कार पर प्रेस लिखा होता था। अमित गाड़ी चलाता था, वहीं वसीम व सोहेल के पास तमंचा होता था। डिंपल अपने पास चाकू रखती थी। ये ज्यादातर वारदात को रात को अंजाम देते थे। इसके बाद सभी गुड़गांव के सहारा मॉल के डिस्को में मौज-मस्ती के लिए जाते थे। जिला पुलिस उपायुक्त आरए संजीव ने बताया कि एसीपी ऑपरेशन बी एस दहिया के नेतृत्व में स्पेशल स्टाफ की टीम गठित की गई। टीम ने सूचना के आधार पर गैंग में शमिल रोहित और सोहेल को गिरफ्तार कर लिया।

इनसे पूछताछ के बाद गैंग की सरगना डिंपल व पलक को गिरफ्तार किया गया, साथ ही लूटे हुए गहने खरीदने वाले राजकुमार को भी गिरफ्तार कर लिया। इन सभी पर दिल्ली व गुड़गांव में 11 मामले दर्ज थे। इनके पास से तीन कार, एक देसी पिस्तौल, 14 मोबाइल फोन, दो लैपटॉप व लूटे गए क्रेडिट कार्ड बरामद हुए हैं। गिरोह के बदमाश मौज मस्ती के लिए हिल स्टेशन जाते थे। डिंपल का कहना है कि उसने बंटी-बबली फिल्म से प्रेरित होकर यह रास्ता चुना। दसवीं तक पढ़ाई कर चुकी डिंपल उत्तम नगर में रोहित के साथ वर्ष 2011 से लिव इन में रह रही थी।

ये दोनों खुद को स्थानीय न्यूज चैनल में कार्य करने की बात कहते थे और देह व्यापार के धंधे में लिप्त लोगों के स्टिंग भी करते थे। 12014 में डिंपल और रोहित गोविंदपुरी थाना क्षेत्र में लूट के मामले में गिरफ्तार भी हुए थे। इस मामले में डिंपल 12 दिन तक जेल में रही थी। जेल से निकलने के बाद वह अमित से मिली। अमित ने उसे पलक से मिलाया और पलक ने वसीम और सोहेल से डिंपल की मुलाकात कराई। इन सभी ने मिलकर गिरोह बनाया और लूट, डकैती व कार चोरी की वारदातों को अंजाम देने लगे।



भड़ास व्हाट्सअप ग्रुप- BWG-10

भड़ास का ऐसे करें भला- Donate






भड़ास वाट्सएप नंबर- 7678515849

Comments on “न्यूज चैनल में काम करने वाली डिंपल बन गई लुटेरों की सरगना

  • खबर की हेडलाईन में आपने डिम्पल को किसी न्यूज़ चैनल में काम किया बताया जबकि खबर के विस्तार में ऐसा कहीं जाहिर नहीं होता। कृपया इसमें सुधार कीजिये।

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published.

*

code