बोलो सुतापा सान्याल, अब चुप क्यों हो…

Kumar Sauvir : क्‍यों सुतापा सान्‍याल? तुमने तो दावा किया था कि मोहनलालगंज में महिला की हुई हत्‍या के मामले में न तो दुराचार हुआ था और इस मामले में एक के अलावा किसी और का हाथ तक नहीं था। फिर यह सामूहिक दुराचार का मामला कैसे बन गया ? सवाल तो यह भी है कि शैतानी दरिन्‍दगी के साथ मारी गयी इस महिला के नाखूनों में कई लोगों का जैविक-अंश कैसे बरामद हो गये?

तुम तो साक्षात दुर्गा हो ना सुतापा सान्‍याल! तुमने यह मामला कैसे छिपा लिया? औरत की अस्मिता के लिए जूझने वाली अपनी दुर्गा-काली छवि को तुम अब इन हालातों में कैसे बदरंग होते बर्दाश्‍त कर पाओगी? कहां गये वे तुम्‍हारे सरकारी पत्रकार, जो इस मामले पर मुझ जैसे पत्रकारों को कैम्‍पेनर करार देते नहीं थक रहे थे?

लखनऊ के वरिष्ठ पत्रकार कुमार सौवीर के फेसबुक वॉल से. उपरोक्त स्टेटस पर पत्रकार विजय तिवारी का कमेंट इस प्रकार है….

Vijay Tiwari : वो सुतापा क्या करती बेचारी, जैसे जैसे आदेश मिले, उसी तरह की जांच कर दी। अगर कायदे से जांच हो तो एसएसपी और डीआईजी साहब भी बेनकाब हो जाएंगे… दोनो लोग मैनेजमेंट गुरु हैं। घटना की जानकारी से लेकर उसके खुलासे तक, दोनों की भूमिका की जाँच हो तो पता चलेगा कि किसे फंसाया है, कितनों को बचाया है…

इन्हें भी पढ़ें…

लखनऊ की निर्भया की पोस्टमार्टम रिपोर्ट में दो किडनियां कैसे आ गई? वो तो एक पहले ही पति को दान कर चुकी थी

xxx

तीखे सवाल पूछे जाने पर मैडम सुतापा माइक सिकेरा की तरफ बढ़ाती हैं और सिकेरा एसएसपी प्रवीण कुमार की ओर

xxx

लखनऊ निर्भया कांड : हत्‍या से पहले हुआ था सामूहिक बलात्कार, फोरेंसिक रिपोर्ट ने किया खुलासा

xxx

थूथू करवाने के बाद अखिलेश सरकार ने मोहनलालगंज कांड की सीबीआई जांच की सिफारिश की

xxx

मोहनलालगंज कांड की जांच में गड़बड़ी करने वाले पुलिस अधिकारी और डाक्‍टर भेजे जाएं जेल : स्‍वामी प्रसाद

xxx

उलझे सवालों के बीच फर्जी खुलासा कर गई लखनऊ पुलिस

xxx

लखनऊ की जनता में लखनऊ पुलिस के प्रति विश्वास की कमी : पीपल’स फोरम

xxx

In the light of Amitabh Thakur’s claims Lucknow Nirbhaya case should be probed by CBI



भड़ास व्हाट्सअप ग्रुप- BWG-10

भड़ास का ऐसे करें भला- Donate






भड़ास वाट्सएप नंबर- 7678515849

Leave a Reply

Your email address will not be published.

*

code