मीडिया पर कोबरापोस्ट की डाक्यूमेंट्री रिलीज, इसमें भड़ास वाले यशवंत भी! देखें वीडियो

Journalist Speak: Cobrapost documentary in solidarity with The UN #truthneverdies campaign! जाने-माने खोजी पत्रकार अनिरुद्ध बहल के नेतृत्व में संचालित मीडिया कंपनी ‘कोबरापोस्ट’ ने इन दिनों दुनिया भर में मीडिया और मीडिया वालों की खराब स्थिति सुधारने को लेकर संयुक्त राष्ट्र संघ द्वारा चलाई जा रही मुहिम ‘सच कभी मरता नहीं’ का हिस्सा बनते हुए …

‘हिंदी खबर’ चैनल के एडिटर इन चीफ अतुल अग्रवाल का स्टिंग देखें

कोबरा पोस्ट ने कई मीडिया हाउसों में काम करने वालों का स्टिंग किया. ज्यादातर उनमें मार्केटिंग वाले थे. संपादकीय विभाग के कम लोग ही फंसे.  लेकिन एक ऐसे एडिटर इन चीफ को कोबरापोस्ट ने फांसने में कामयाबी पा ली जो एक न्यूज चैनल संचालित करते हैं. चैनल का नाम है ‘हिंदी खबर’. एडिटर इन चीफ हैं अतुल अग्रवाल.

कोबरा पोस्ट का ‘ऑपरेशन व्हाईट कोट’ : इलाज के दौरान मरीज भले मर जाए, रेफर करने वाले का कमीशन नहीं मरेगा!

गंभीर बीमारियों से जूझ रहे मरीज अपनी जिंदगी बचाने के लिए बड़े और नामी अस्पतालों का रुख करते हैं या फिर कहे उन्हे छोटे अस्पताल से बड़े सेंटर के लिए रेफर कर दिया जाता है। लेकिन इन बड़े अस्पतालों में मरीजों को सिर्फ और सिर्फ पैसा कमाने का जरिया समझा जाता है। रेफर करने वाले छोटे अस्पतालों और डाक्टरों को कमीशन देकर ये बड़े अस्पताल मरीजों को अपने यहां रेफर कराते हैं और फिर इलाज, सर्जरी और ऑर्गन ट्रांसप्लांट के नाम पर उनसे भारी-भरकम कमाई करते हैं।

कोबरा पोस्ट के स्टिंग में फोर्टिस, मेट्रो, यशोदा, कोलंबिया, मैक्स, अपोलो, नानावती समेत दर्जनों अस्पताल हुए नंगा

कोबरा पोस्ट वाले अनिरुद्ध बहल की टीम ने इस बार स्वास्थ्य सेवाओं को लेकर जबरदस्त स्टिंग आपरेशन किया है. इस स्टिंग ने कई बड़े नामी गिरामी अस्पतालों के चेहरे से नकाब उतारने का काम किया है. प्राइवेट अस्पताल वाले मरीज रिफर करने पर किस तरह डाक्टरों और छोटे अस्पतालों को अच्छा खासा कमीशन देते हैं, यह स्टिंग आपरेशन का हिस्सा है. यह कमीशन मरीज के मत्थे मढ़ा जाता है. कोबरा पोस्ट की तरफ से इस स्टिंग को लेकर जारी प्रेस रिलीज इस प्रकार है…