दैनिक भास्कर ने दिल्ली का आपरेशन समेटा, नोएडा मुख्यालय में बड़े पैमाने पर छंटनी

खबर दैनिक भास्कर से है. छंटनी के मामले के देश के क्रूरतम संस्थानों में से एक दैनिक भास्कर ने लाकडाउन की बहती गंगा में हाथ धोते हुए अपने नोएडा स्थित मुख्यालय से संपादकीय समेत हर विभाग से बड़े पैमाने पर लोगों को नौकरी से निकाल दिया है.

बताया जाता है कि अब नेशनल ब्यूरो और लोकल ब्यूरो में थोडे़ से लोग रहेंगे. सारा कुछ जयपुर शिफ्ट होगा. वहीं से एडिशन छपेगा. दिल्ली-एनसीआर में चलने वाले कामकाज को समेट दिया गया है.

सूत्रों के मुताबिक संपादकीय, सरकुलेशन, मार्केटिंग, ब्रांड, एचआर आदि विभागों से कुल मिलाकर कई दर्जन लोग हटाए गए हैं. कुछ लोगों को कहना है कि इन विभागों के अस्सी फीसदी स्टाफ को गुडबाय कह दिया गया है.

फिलहाल इस छंटनी के बाद भास्कर ग्रुप के कर्मियों में दहशत का माहौल है.

  • भड़ास की पत्रकारिता को जिंदा रखने के लिए आपसे सहयोग अपेक्षित है- SUPPORT

 

 

  • भड़ास तक खबरें-सूचनाएं इस मेल के जरिए पहुंचाएं- bhadas4media@gmail.com

Comments on “दैनिक भास्कर ने दिल्ली का आपरेशन समेटा, नोएडा मुख्यालय में बड़े पैमाने पर छंटनी

  • ek bhaskar wala says:

    Dainik Bhaskar mei. Rone peetne ka daur phir shuru.

    आदरणीय मित्र ,
    भड़ास 4 मीडिया,
    दैनिज भास्कर भोपाल से खबर आ रही है कि ,जबरदस्त छटनी का दौर शुरू ही गया है,जहा इस बार एडिटोरियल में बड़े पदों पर बैठे संपादक आदि को जाने को बोला जाने वाला है, सबसे ऊपर आनंद पांडेय का जाना पक्का हो गया है।
    इसके अलावा सीईओ हरीश भाटिया, cto आर डी भटनागर संपादक मध्य प्रदेष अवनीश जैन का जाना भी तय है। हर विभाग के लिए लिस्ट बन चुकी है शायद 1 जून से आने को मना कर दिया जाएं,
    साथ इस दिल्ली एडिशन बंद करके 15 लोगो के इस्तीफे ले लिए गए है,
    2019-20 के आखरीक्वार्टर में 30% से अधिक से कम रेवेनुए के कारण पहले ही सैलरी कट प्लान था। लोककडौन के चलते यह 90% नीचे चला गया। पबिर भी एक क्वार्टर के लिए वेतन कों परफॉर्मेंस लिंक करके ,5लाख से ऊपर वालो की सैलरी कट हुई और बोला गया जून तक यह जारी रहेगा।
    उधर 25 लाख प्रतियों के कम हिने के साथ अब भास्कर विश्व का नंबर 1 अखबार भी नही रहा है।

    Reply
  • मनीष भट्ट says:

    बधाई …
    पत्रकारिता की आड़ में दुकान बहुत चल गई …
    डीबी स्टार तो विशुद्ध ब्लैकमेल था …

    Reply
  • tumhara jigar says:

    बहुत खून चूसा है इन्होने अपने निचे वाले कर्मचारियों का, आई-टी में तो एक से बढ़कर एक चमचे भरे पड़े हुए है

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *