जानिए, दीपक चौरसिया समेत कई पत्रकारों के खिलाफ सीबीआई ने क्यों दर्ज की एफआईआर

Vishwanath Chaturvedi : धरा बेच देगे, गगन बेंच देगे, कलम बिक चुकी है, वतन बेच देगे! पैसे खाकर फर्जी खबर चलाने के आरोपी दीपक चौरसिया, भूपेंद्र चौबे, मनोज मित्ता सहित अन्य के खिलाफ सीबीआई ने दर्ज की एफ़आईआर… मुलायम के आय से अधिक संपत्ति मामले में सुप्रीम कोर्ट में 10 फ़रवरी 2009 को सुनवाई से पहले फर्जी दस्तावेजों के आधार पर मुलायम कुनबे को क्लीन चिट दिए जाने की खबर प्राइम टाइम में प्रमुखता से चलाकर सुप्रीम कोर्ट को गुमराह करने और सीबीआई की इमेज को नुकसान पहुंचाने के आरोप में सीबीआई की डीआईजी रहीं तिलोतिमा वर्मा ने लिखाई एफआईआर.

मीडिया द्वारा बिना सबूतों के अमर सिंह के टुकड़ों पर पलने वाले कथित अधिवक्ता प्रदीप कुमार राय जो कि फोन टेपिंग और ब्लैक मेलिंग, फर्जी रिपोर्ट तैयार करने के मास्टर हैं, 2005 में भारत के मुख्य न्यायाधीश रहे एसबी सिन्हा का बेटा बताकर गोवा राज भवन में गोवा के राज्यपाल की सीडी बनाने की नीयत से रुके. असलियत खुलने पर पणजी थाने में राज भवन द्वारा एफआईआर दर्ज कराकर प्रदीप राय को पुलिस को सौंप दिया गया. उक्त प्रकरण आज भी विचाराधीन है.

सीबीआई की डीआईजी रहीं तिलोतिमा वर्मा के फर्जी हस्ताक्षर से पैसे के साथ प्रदीप राय द्वारा बांटी गई रिपोर्ट को बिना कनफर्म किये, चैनलों द्वारा मनमाने तरीके से चलाई गई ख़बर के ख़िलाफ़ सुप्रीम कोर्ट में हमने 20 फरवरी 2009 को अप्लीकेशन फ़ाइल कर एसआईटी गठित कर फर्जी रिपोर्ट चलाने वालों की जाँच कराने की मांग कर दी. घबराई सीबीआई ने आनन फानन में प्रेस कौंसिल ऑफ़ इंडिया, सचिव सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय, सचिव डीओपीटी को शिकायती पत्र लिखकर उक्त पत्रकारों के खिलाफ कार्यवाही की मांग की. सुप्रीम कोर्ट में 30 मार्च की डेट फिक्स थी, सीबीआई ने 16 मार्च 2009 को एफआईआर दर्ज करा दी. इसे District new Delhi ps Cbi/stf year 2009 FirNo rc/Dst/2009/s/0001 date: 16.3.2009… act Ipc section 120b/r/w 465,469/500&471 and the subatantive offences thereof other acts& sections. suspected offences: criminal conspiracy forgery, forgery for the purpose of harming reputation use ing as genuine a fored document and printing or engrabing matter know to be defamatory के जरिए खोजा देखा पढ़ा जा सकता है.

जाने-माने वकील विश्वनाथ चतुर्वेदी के एफबी वॉल से.

इस प्रकरण से संबंधित सीबीआई के कई पन्नों के दस्तावेजों को पढ़ने के लिए अगले पेज पर जाने हेतु नीचे क्लिक करें…

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *