बिहार में दैनिक जागरण के पत्रकार को जान से मारने की धमकी

दैनिक जागरण के बिहारशरीफ कार्यालय में घुसकर जदयू एमएलसी हीरा प्रसाद बिंद के गुर्गों ने पत्रकार राजेश सिंह से बदतमीजी की और एमएलसी से माफी नहीं मांगने पर सिवान के पत्रकार राजदेव रंजन की तरह मौत के घाट उतारने की धमकी दी। मामले की प्राथमिकी दर्ज कराई गई है। पटना में पत्रकारों के प्रतिनिधिमंडल ने राज्यपाल रामनाथ कोविंद को भी इस घटना से अवगत कराते हुए पत्रकारों की सुरक्षा की मांग की है।

पत्रकार राजेश सिंह को जान से मारने की धमकी मामले की जांच करने खुद एसपी घटनास्थल पर पहुंचे। शुक्रवार को एसपी कुमार आशीष ने इस मामले में त्वरित कार्रवाई करते हुए धमकी देने वालों की गिरफ्तारी के लिए कार्रवाई शुरू कर दी है। साथ ही पत्रकार राजेश की सुरक्षा बढ़ा दी गई है। बता दें कि गुरूवार को दैनिक जागरण के पत्रकार राजेश सिंह ने जदयू विधान पार्षद हीरा विंद व उनके समर्थकों पर जान से मारने की धमकी दिए जाने की शिकायत लेहरी थाने में दर्ज कराई थी। मामले की गंभीरता को देखते हुए एसपी कुमार आशीष जांच के क्रम में आज दैनिक जागरण कार्यालय पहुंचे।

जागरण कार्यालय में पत्रकार को घेरे बदमाशों ने कहा कि एमएलसी के भांजे से संबंधित खबर किसने लिखी है? अपशब्दों का इस्तेमाल करते हुए कहा कि सिवान की घटना से तुम लोगों ने सबक नहीं लिया। एमएलसी से माफी मांगों और इसका खंडन अखबार में प्रकाशित करो, वर्ना अंजाम बुरा होगा। जान से मारने की धमकी की प्राथमिकी लहेरी थाने में दर्ज कराई गई है। एमएलसी सहित चार अज्ञात लोगों को आरोपित किया गया है।

14 मई को पंचायत चुनाव के दिन हिलसा की इंदौत पंचायत में एमएलसी के भांजे के बारे में शिकायत मिली थी कि वे वोटरों को धमका रहे हैं। डीएम डॉ. त्यागराजन एसएम ने तत्काल हिलसा एसडीओ को प्राथमिकी दर्ज कर गिरफ्तारी का आदेश दिया था। डीएम के आदेश के बाद भांजे को गिरफ्तार कर थाने लाया गया। कुछ देर बाद बांड भरवाकर उसे छोड़ दिया गया। 15 मई को एमएलसी व उनके भांजे का नाम दिए बिना खबर प्रकाशित की गई। खबर प्रकाशित होने के बाद एमएलसी ने इसे मुद्दा बना लिया और 18 मई को हिलसा कोर्ट से नोटिस भिजवाया।

बिहार में जंगल राज खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है अपराधियों के हौंसले दिन पर दिन बढ़ते जा रहे हैं। अभी पत्रकार राजदेव रंजन की हत्या का मामला सुलझा भी नहीं था कि सीएम नीतीश कुमार के गृह जिले नालंदा से एक और पत्रकार को धमकी की खबर सामने आ गई। हिंदी समाचार पत्र के संवाददाता राजेश कुमार सिंह ने जेडीयू एमएलसी हीरा प्रसाद बिंद के गुर्गों पर धमकाने और जान से मारने का आरोप लगाया है। राजेश सिंह की मानें तो, हीरा प्रसाद बिंद के बदमाश उनके कार्यलय में घुसे और उन्हें पंचायत चुनाव से जुड़ी छपी खबर का खंडन करने की बात कहने लगे और खबर का खंडन नहीं करने पर उन्हें सिवान पत्रकार की हत्या जैसा अंजाम भुगतने की धमकी तक दे डाली। वहीं पीड़ित राजेश सिंह ने हीरा बिंद समेत चार लोगों के खिलाफ मामला दर्ज करवाया है।

पत्रकार के मुताबिक एमएलसी द्वारा विभिन्न तरीके से असमाजिक तत्वों को भेजकर उन्हें धमकाया जा रहा है. उन्होंने आरोप लगाया कि गुरुवार की सुबह नौ बजे चार युवक कार्यालय आये और अखबार में छपी खबर ‘वोटर को धमकाने वाला गिरफ्तार’ को लेकर धमकी दी. पत्रकार ने दावा किया है कि विधान पार्षद हीरा  बिंद समेत चार लोग आये थे, जिन्हें देखने पर पहचान जायेंगे. लहेरी के थानाध्यक्ष राजेश कुमार ने प्राथमिकी की पुष्टि की है. वहीं, विधान पार्षद हीरा बिंद ने बताया कि मैं पिछले 10-12 दिनों से पटना में हूं. घटना की जानकारी मंत्री श्रवण कुमार से मिली है. आरोप निराधार है. यह मुझे फंसाने व छवि खराब करने का प्रयास है. उन्होंने कहा कि एक समाचार पत्र के पत्रकार ने मेरे खिलाफ लगातार कई दिनों तक खबर लिखी थी, जिसके खिलाफ उन्हें वकालतनामा भेजवाया था. बस इतनी ही बात है.

xxx

xxx



भड़ास व्हाट्सअप ग्रुप- BWG-10

भड़ास का ऐसे करें भला- Donate






भड़ास वाट्सएप नंबर- 7678515849

Comments on “बिहार में दैनिक जागरण के पत्रकार को जान से मारने की धमकी

  • Sir aapne is khabar me likha ki bihar me jangalraj khatam hone ka naam nahi le raha, ab kahi aisa n ho ki modi ko hikarat bhari najro se dekhne vale b4m reporter se puchhe ki kaha he jangalraj

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published.

*

code