Connect with us

Hi, what are you looking for?

टीवी

YouTube चैनल कैसे ग्रो कराएं?

श्याम मीरा सिंह-

YouTube चैनल खोलने और प्रमोट करने को लेकर मैसेज और ईमेल मिलते हैं. सबके जवाब मुश्किल हैं. क्योंकि किसी को मना करने में बड़ी शर्म और तकलीफ होती है. लेकिन इस कॉमन पोस्ट से कुछ बातें शेयर करना चाहता हूँ.

  • पहली बात Youtube पर किसी अन्य सोशल मीडिया प्लेटफार्म से रीच नहीं बढ़ती. इसलिए इस चीज से कोई फर्क नहीं पड़ता कि आप Facebook और Twitter पर कितने प्रसिद्द हैं और कितने लोग आपकी वीडियोज शेयर कर रहे हैं.
  • दूसरी बात कि आप अगर एकदम नए हैं, कोई आपको नहीं जानता तब भी आप Youtube पर ग्रो कर सकते हैं. और अपनी खुद की ऑडियंस बना सकते हैं. इस बात की चिंता न करें कि आपको समय लगेगा. ऐसा एकदम नहीं है. अगर आपने Youtube सीरीयस लिया तो बाकी platforms पर आप खुद जाने जाने लगेंगे.
  • अब सवाल ये है कि Youtube पर कैसे ग्रो करें? जवाब है- ऐसा कंटेंट बनाएं कि आपकी वीडियोज को लोग अंत तक देखकर जाएं, चाहें आप किसी भी फील्ड का कंटेंट बनाते हैं. अगर आप 10 मिनट की वीडियो बना रहे हैं तो ये निश्चित करें कि लोग आपकी वीडियो एवरेज पर कम से कम 4-5 मिनट जरूर देखकर जाएं
  • अब सवाल ये कि कैसे अपने वीडियोज पर लोगों को बांधे रखें- जवाब है- अच्छी एंकरिंग, कमेंट्री, बैकग्राउंड वौइस् ओवर, ऐसा हो कि लोग बंधे रहें, एडिटिंग ऐसी हो कि लोग ध्यान दें, और बोर न हों, और कंटेंट ऐसा हो कि लोग टिके रहें. कितने लोगों ने आपकी वीडियो को कितने मिनट तक देखा, इसके एवरेज को ‘एवरेज व्यू ड्यूरेशन कहते हैं. ऊपर की तीनों चीजों को सही करने से आपका ‘एवरेज व्यू ड्यूरेशन’ अच्छा रहेगा. अगर अच्छा एवरेज व्यू ड्यूरेशन आ रहा है तो दुनिया की कोई ताकत आपको Youtube पर ग्रो करने से नहीं रोक सकती.
  • अगर आपकी वीडियोज को लोग लम्बे समय तक देख रहे हैं और जाते-जाते आपका चैनल सबस्क्राइब करके और लाइक करके जा रहे हैं तो इसका मतलब है कि व्यूअर आपके काम से satisfy है. ऐसे कंटेंट को खुद Youtube का अल्गोरिथम प्रमोट करता है. फिर वो आपके व्यूज को हजार से मिलियन तक पहुंचा सकता है.
  • अगर हर वीडियो पर यही चीज रिपीट करना चाहते हो तो कंटेंट लिमिटेड बनाएं और बेहतर से बेहतर बनाएं, बल्क में बनाने की जरूरत नहीं है, हफ्ते में एक भी वीडियो लाएंगे तो भी पर्याप्त है.
  • अपने चैनल पर खिचड़ी न पकाएं, जैसे कि आज ब्लॉग डाल दिया, कल एंकरिंग कर ली. परसों मोहल्ले में पकडे गए सांप की वीडियो डाल दी और अगले दिन क्रिकेट मैच में एन्जॉय करते हुए डाल दी. इससे आपकी ऑडियंस बनने में मुश्किल होगी; आपकी ऑडियंस में अलग-अलग ग्रुप के लोग हो जाएँगे. जो सांप देखने आया था वो क्रिकेट वाली वीडियो नहीं देखेगा, और जो क्रिकेट वाली वीडियो देखने आया था वो सांप वाली नहीं देखेगा. इससे ये होगा कि जब आपकी वीडियो आएगी तो उसे कुछ ही लोग देखेंगे और बाकी लोग छोड़ जाएँगे, इससे आपकी एवरेज व्यू duration ख़राब होगी, और अंततः Youtube उसे रिकमंड नहीं करेगा. क्योंकि उसे लगेगा कि अधिकतर लोग तो इस वीडियो को छोड़कर जा रहे हैं. इसका मतलब ये वीडियो Youtube के यूजर्स के एक्सपीरियंस को ख़राब कर रही है, उन्हें satisfy नहीं कर रही है, ऐसी वीडियोज को Youtube प्रमोट क्यों करेगा? इसलिए ये जरूर तय करें कि आपकी एक थीम हो, किसानों पर है तो किसानों पर ही हो. अगर साँपों पर है तो हर दिन सांप दिखाओ. अगर क्रिकेट पर है तो सिर्फ क्रिकेट पर फोकस्ड रहो.
  • अपने Youtube चैनल को सीरीयस लें, उसका थंबनेल( वीडियो के ऊपर लगने वाला वॉलपेपर) अच्छा बनाएं, उसका इंट्रो अच्छा लिखें, कीवर्ड्स सही लिखें, टाइटल सही लिखें. जिससे आपका चैनल एक प्रोफेशनल चैनल लगे. जब आप सीरीयस दिखते हैं तो बाकी लोग भी आपको सीरीयस लेते हैं और आपके चैनल से जुड़ते हैं.
  • अब सवाल ये कि अच्छे थंबनेल, इंट्रो, टाइटल और कीवर्ड्स कैसे लिखें? इसके लिए सबसे बेस्ट तरीका है कि youtube पर ही सर्च करें इनके बारे में, और कम से कम एक हफ्ता सीखें कि अच्छा इंट्रो कैसे लिखते हैं, अच्छा थंबनेल कैसे बनाते हैं, किस एप से बनाते हैं. ऐसे ही एडिटिंग का कुछ कुछ हिस्सा आप Youtube से ही सीख सकते हैं. शुरुआत के लिए.
  • पूरा खेल Recommendation का है, यानी जब Youtube आपको ऐसे वीडियोज को दिखाता है जिन चैनलों को आपने सबस्क्राइब भी नहीं किया होता, फिर भी Youtube आपको उन्हें देखने का सुझाव देता है. आपको अपनी वीडियोज उस Recommendation में ही लानी हैं. किसी भी आदमी के, बड़े से बड़े आदमी के द्वारा भी आपके चैनल को प्रमोट करने से आपका चैनल बहुत आगे नहीं जाएगा. इस बात पर कैरीमिनाटी नाम के भारत के एक बड़े Youtuber की बात प्रासंगिक है. उससे किसी ने एक शो में कहा था कि वो उसके चैनल को प्रमोट कर दे. उसने बोला कि मैं प्रमोट कर दूंगा. एक लाख लोग सबस्क्राइब भी कर देंगे लेकिन उससे कुछ नहीं होगा. क्योंकि वो ऑडियंस आपकी नहीं है. आपकी नहीं है तो वो एक दो बार आपको देखने के बाद भाग जाएगी. इससे आपके चैनल पर बहुत नेगेटिव प्रभाव पड़ेगा, हो सकता है चैनल डेड ही हो जाए. इसलिए अपनी खुद की ऑडियंस बनानी चाहिए. ये आपके अलावा कोई नहीं कर सकता. लोग आपसे प्यार करेंगे, आपके काम से प्यार करेंगे, आपको देखना चाहेंगे तभी आपका चैनल चलेगा. मुझे लगता है ये पोस्ट आपकी थोड़ी बहुत मदद करेगा. अगर आप चाहते हैं कि एडिटिंग कैसी हो? थंबनेल कैसे हों? इंट्रो कैसे लिखें? आप मेरी लेटेस्ट वीडियो को देख सकते हैं, मेरे चैनल- Shyam Meera Singh पर विजिट कर सकते हैं. मैने कल एक वीडियो डाली है उसका एवरेज व्यू duration काफी हाई है. आप जाकर देख सकते हैं.

इस पोस्ट को पढ़ने का शुल्क यही है. आप चाहें तो उस वीडियो को शेयर भी कर सकते हैं. मैं youtube से संबंधित अपनी और भी लर्निंग आप सबसे शेयर करूंगा.

जय हो

Advertisement. Scroll to continue reading.
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Advertisement

भड़ास को मेल करें : Bhadas4Media@gmail.com

भड़ास के वाट्सअप ग्रुप से जुड़ें- Bhadasi_Group_one

Advertisement

Latest 100 भड़ास

व्हाट्सअप पर भड़ास चैनल से जुड़ें : Bhadas_Channel

वाट्सअप के भड़ासी ग्रुप के सदस्य बनें- Bhadasi_Group

भड़ास की ताकत बनें, ऐसे करें भला- Donate

Advertisement