इंडिया टीवी और नवोदय टाइम्स को डिजिटल जर्नलिस्ट चाहिए, 94.3 रेडियो वन में भी वैकेंसी

नवोदय टाइम्स अखबार के डिजिटल विंग को एंटरटेमेंट और फीचर डेस्क के लिए कुछ साथियों की जरूरत है. फीचर डेस्क के लिए इंग्लिस की अच्छी समझ हो. अंग्रेजी कंटेंट को अपने शब्दों (हिंदी) में लिख कर स्टोरी बना सकें.

लाइफस्टाइल, हेल्थ और टेक की खबरों को आसानी से समझ सकें. एंटरटेमेंट डेस्क के लिए सेलेब्स के यूट्यूब, इंस्टा और फेसबुक पोस्ट्स को स्कैन करके अच्छी स्टोरी बनाने की कला आती हो और

साथ ही एंटरटेमेंट की ट्रेंडिंग खबरों के साथ बेहतरीन कंटेंट प्लान कर सके. अनुभव को प्राथमिकता दी जाएगी. अपनी सीवी chandan25delhi@gmail.com पर भेज दें.

इंडिया टीवी और 94.3 रेडियो वन के डिटेल नीचे दिए विज्ञापनों में है….

बंदर भगाने के लिए लाया गया लंगूर दो पिल्लों के प्यार में डूबा

बंदर भगाने के लिए लाया गया लंगूर दो पिल्लों के प्यार में डूबा!…लंगूर ने पाल लिए दो पिल्ले! ताजनगरी आगरा में एक लंगूर और दो पिल्लों के बीच पनपा प्यार चर्चा का विषय बना हुआ है. यहां एक लंगूर दो पिल्लों को मां की तरह प्यार करता है. लंगूर और पिल्ले कभी आपस मे अठखेलियाँ करते हैं तो कभी लंगूर मां की तरह अपनी गोद में उन्हें उठाकर प्यार करता है. ये कहानी है आगरा के कमला नगर पार्क की. यहां एक लंगूर को बंदरों को भगाने के वास्ते रखा गया है. पार्क में रहने वाला लंगूर पिल्लों को बेहद प्यार करता है. उनको खाना भी खिलाता है. कॉलोनी में रहने वालों ने बताया कि कॉलोनी की पार्क में कुछ महीने पहले एक कुतिया ने दो बच्चों को जन्म दिया. तब से ही ये दोनों पिल्ले लंगूर के साथ खेलते हैं और अठखेलियाँ भी करते हैं. -आगरा से फरहान खान की रिपोर्ट.

Bhadas4media ಅವರಿಂದ ಈ ದಿನದಂದು ಪೋಸ್ಟ್ ಮಾಡಲಾಗಿದೆ ಸೋಮವಾರ, ಫೆಬ್ರವರಿ 25, 2019
कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

One comment on “इंडिया टीवी और नवोदय टाइम्स को डिजिटल जर्नलिस्ट चाहिए, 94.3 रेडियो वन में भी वैकेंसी”

  • jaagruk karmchaari says:

    नवोदय टाइम्स में तो नौकरी के लिए भूलकर भी नहीं जाना चाहिए। इसके पीछे दो बड़े कारण हैं। क्योंकि नाम बड़ा और दर्शन छोटे।
    पहला कारण- साढ़े 8 घंटे की नौकरी जो किसी भी संस्थान में नहीं हंै उसमें भी वेतन बहुत कम।
    दूसरा कारण- वहां का निकम्मा एचआर विभाग जो रि महीने आपका वेतन काट लेगा और आप एडिय़ां घिसते रहेंगे पी कभी भी आपको आपके वेतन कटने का उचित कारण नहीं पता चल सकेगा।

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *