वरिष्ठ पत्रकार कुंजबिहारी साहू ने जांजगीर-चाम्पा जिले की पत्रकारिता में अलग पहचान बनाई थी!

जांजगीर-चाम्पा. जांजगीर के सांस्कृतिक भवन में 26 जून रविवार को वरिष्ठ पत्रकार स्व. कुंजबिहारी साहू की 47वीं जयंती के अवसर पर ‘पुष्पांजलि’ कार्यक्रम का आयोजन किया गया.
यहां मंचीय कार्यक्रम में विस अध्यक्ष डॉ. चरणदास महन्त, शाकम्भरी बोर्ड के अध्यक्ष रामकुमार पटेल, चन्द्रपुर विधायक रामकुमार यादव, पामगढ़ विधायक इंदु बंजारे, छग महिला आयोग की सदस्य सुश्री शशिकांता राठौर, नगर पालिका जांजगीर-नैला के अध्यक्ष भगवान दास गढ़ेवाल, कांग्रेस जिलाध्यक्ष राघवेंद्र सिंह, लोकसभा के पूर्व प्रत्याशी रवि परसराम भारद्वाज, प्रदेश कांग्रेस के सचिव इंजी. रवि पांडेय, चाम्पा नगर पालिका के पूर्व अध्यक्ष राजेश अग्रवाल समेत अन्य जनप्रतिनिधि मौजूद थे.

इससे पहले, पुष्पांजलि कार्यक्रम में छग गौसेवा आयोग के अध्यक्ष राजेश्री महंत रामसुंदर दास, जांजगीर-चाम्पा विधायक नारायण चन्देल, अकलतरा विधायक सौरभ सिंह, जैजैपुर विधायक केशव चन्द्रा, भाजपा जिलाध्यक्ष कृष्णकान्त चन्द्रा भी कार्यकम स्थल में पहुंचे थे और उन्होंने मां सरस्वती एवं वरिष्ठ पत्रकार स्व. कुंजबिहारी साहू के तैलचित्र के समक्ष पुष्प अर्पित कर 47वीं जयंती पर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित कर नमन किया.
मंचीय सम्बोधन में विस अध्यक्ष डॉ. चरणदास महंत ने कहा कि कठिन परिस्थिति में आगे बढ़कर वरिष्ठ पत्रकार स्व. कुंजबिहारी साहू ने जांजगीर-चाम्पा जिले में पत्रकारिता की और पत्रकारिता क्षेत्र में कम समय में अलग पहचान बनाई. अखबार और टीवी चैनल में कार्य करते हुए जिले के मुद्दों को लगातार उठाते रहे और अपनी मिलनसार छवि से पत्रकारिता क्षेत्र में अमिट छाप छोड़ी है. उन्होंने कहा कि 16 साल की पढ़ाई बन्द रहने के बाद जिस तरह वरिष्ठ पत्रकार स्व. कुंजबिहारी साहू ने आगे की पढ़ाई की और पत्रकारिता में कदम रखते हुए आगे बढ़े, वह स्मरणीय है.

डॉ. महन्त ने कहा कि गरीबी हालात के बाद भी खरौद से जांजगीर पहुंचकर पत्रकारिता क्षेत्र में खुद को स्थापित करना, बड़ी बात है. आज उनकी जयंती पर हम उन्हें याद कर रहे हैं, हम श्रद्धासुमन अर्पित करने पहुंचे हैं. कोरोना ने हमसे अपनों को छिना है, इसी कोरोना से वरिष्ठ पत्रकार स्व. कुंजबिहारी साहू जंग हार गए थे. आज उनके छोटे भाई पत्रकार राजकुमार साहू ने उनकी यादों को संजोने ‘पुष्पांजलि’ कार्यक्रम का आयोजन किया है, यह कार्य सराहनीय है. आज समाज में जहां अपनों में कटुता बढ़ी है, वहीं यहां 2 भाई का अपनापन देखने को मिला है, यह बड़ी बात है और समाज को सन्देश देने वाला है.

यहां छग शाकम्भरी बोर्ड के अध्यक्ष रामकुमार पटेल ने कहा कि वरिष्ठ पत्रकार स्व. कुंजबिहारी साहू से उनका सीधा संपर्क था और उनकी सरलता, सहजता से वे प्रभावित थे. उन्होंने कहा कि आज वे हमारे बीच नहीं है, ईश्वर उन्हें अपने श्रीचरणों में स्थान दें और परिजन को सम्बल दे, यही कामना है.

चन्द्रपुर विधायक रामकुमार यादव ने कहा कि वरिष्ठ पत्रकार स्व. कुंजबिहारी साहू से जब भी मुलाकात होती थी, उनकी मुस्कान हमेशा प्रभावित करती थी. आज उनकी 47वीं जयंती है, उनकी कमी कभी पूरी नहीं हो सकती. आज हम पत्रकारिता के क्षेत्र में उनके उल्लेखनीय कार्यों को याद कर रहे हैं. निश्चित ही उन्होंने कम समय में खुद को जिले के पत्रकारिता जगत में स्थापित किया था और कई अखबारों, अनेक चैनलों में कार्य करते हुए वे जिले की समस्या, मुद्दों को उठाते रहते थे. क्रूर कोरोना ने ने पिछले साल 2021 में उन्हें हमसे छिन लिया.

पामगढ़ विधायक इंदु बंजारे ने कहा कि वरिष्ठ पत्रकार स्व. कुंजबिहारी साहू, पामगढ़ विधानसभा क्षेत्र के खरौद के रहने वाले थे. एक सामान्य परिवार से होने के बाद भी पत्रकारिता क्षेत्र में काफी आगे बढ़े थे. 9 साल की पत्रकारिता में उन्होंने बेहतर काम किया. आज उनकी 47वीं जयंती है और हम पुष्पांजलि कार्यक्रम में पहुंचे हैं, उन्हें याद कर रहे हैं. उन्हें यादों में रखने यह आयोजन किया गया है, यह सार्थक प्रयास है.

छग महिला आयोग की सदस्य सुश्री शशिकांता राठौर ने कहा कि वरिष्ठ पत्रकार स्व. कुंजबिहारी साहू और उनके छोटे भाई पत्रकार राजकुमार साहू को काफी साल से एक साथ देखते रही हूं और पत्रकारिता के क्षेत्र में ऐसे शायद ऐसे उदाहरण नहीं होंगे. दो भाई, एक साथ पत्रकारिता के फील्ड में रहते थे. सहसा किसी को विश्वास नहीं होता था, दोनों भाई हैं. आज वरिष्ठ पत्रकार स्व. कुंजबिहारी साहू हमारे बीच नहीं है, उनकी आज 47वीं जयंती है, उन्हें मेरा नमन है. उन्होंने कहा कि जिस हालात में वे आगे बढ़े, वह हर किसी के लिए प्रेरणादायक है. वरिष्ठ पत्रकार स्व. कुंजबिहारी साहू के जीवन से नई पीढ़ी को जरूर प्रेरणा मिलेगी, क्योंकि बरसों की पढ़ाई छूटने के बाद उन्होंने खुद को स्थापित किया और पत्रकारिता में बेहतर मुकाम हासिल किया था.

पुष्पांजलि कार्यक्रम की शुरुआत मां सरस्वती और वरिष्ठ पत्रकार स्व. कुंजबिहारी साहू के तैलचित्र के समक्ष दीप प्रज्ज्वलन के साथ हुई. इसके बाद अतिथियों का स्वागत किया गया. यहां वरिष्ठ पत्रकार स्व. कुंजबिहारी साहू के छोटे भाई पत्रकार राजकुमार साहू ने कार्यक्रम की जानकारी दी और जीवन परिचय दिया. कार्यक्रम का संचालन शिक्षक एवं कवि सतीश सिंह ने किया. अंत में, सभी अतिथियों को स्मृति चिन्ह भेंट किया गया.
इस मौके पर वरिष्ठ पत्रकार उपेंद्र तिवारी, डॉ. कोमल शुक्ला, मदनलाल अग्रवाल, गुलजार सिंह, जांजगीर-नैला के पूर्व अध्यक्ष रमेश पैगवार, राईस किंग, शेषराज हरबंश, गीता देवांगन, नपा की पूर्व उपाध्यक्ष नीता चुन्नू थवाईत, शिशिर द्विवेदी, सन्तोष शर्मा, इंटक कांग्रेस के प्रदेश सचिव बृंदालाल धीवर, लव तिवारी, साखीराम कश्यप, भाजपा के जिला उपाध्यक्ष अमर सुल्तानिया, पार्षद हितेश यादव, जितेंद्र खांडे, मणिकांत अग्रवाल, राकेश श्रीवास्तव, गोपाल अग्रवाल, गिरधारी यादव, आलोक हिवरकर, हेमन्त यादव, हेकृष्ण साहू, मनोज रात्रे, मनोज खरे, चुन्नू थवाईत, नरेंद्र सूर्यवंशी, हेमन्त राठौर, बसन्त शाहजीत,
पत्रकार मदन तिवारी, राजू शर्मा, मनीष चन्द्रा, दुर्गेश यादव, प्रकाश साहू, हिमांशु साहू, शेख मुबारक, राजीवलोचन साहू, ऋषि वैष्णव, हरनारायण जायसवाल, हेमन्त जायसवाल, दुर्गा डड़सेना, शम्भू सिंह, हरीश साहू, रामकुमार मनहर, अनन्त चौधरी, विकास साहू, स्वप्निल कौशिक समेत बड़ी संख्या लोग मौजूद थे.



 

भड़ास व्हाट्सअप ग्रुप ज्वाइन करने के लिए क्लिक करें- BWG-1

भड़ास का ऐसे करें भला- Donate

भड़ास वाट्सएप नंबर- 7678515849



Leave a Reply

Your email address will not be published.

*

code