लखनऊ के पत्रकारों का खून ठंढा पड़ चुका है इसलिए थाने में बुलाकर मार डाले गए पत्रकार का मामला भी ठंढा पड़ा

Yashwant Singh : लखनऊ के साथियों कुछ करो… इतनी भी ठंढ नहीं पड़ रही कि खून गरम न हो सके… अगर तुम चौथे खंभे वाले ही न्याय कराने और अन्याय का प्रतिकार करने का अपना लोकतांत्रिक हक खो दोगे तो भला जनता किसे देखकर सीखेगी, जिएगी. उठो भाइयों. थानेदार की बर्खास्तगी, उसके खिलाफ हत्या का मुकदमा लिखने और राजीव जी के परिजनों को पचास लाख रुपये मुआवजा देने की मांग को लेकर सड़क पर उतरो. तारीख तय करो. अपन भी चले आएंगे लखनऊ सरकार से लड़ने भिड़ने.

यूपी के दो पत्रकार जिन्हें जंगल राज की भेंट चढ़ना पड़ा. राजीव चतुर्वेदी को थाने में पुलिस वालों ने पीट कर मार डाला तो जगेंद्र सिंह पर पुलिस वालों ने पेट्रोल डालकर दिन दहाड़े जला दिया. लखनऊ के कायर पत्रकारों ने फिर चुप्पी साध रखी है और राजीव चतुर्वेदी पर आरोप लगे होने का हवाला देकर सरकार और पुलिस की हत्यारी खाल को बचाने में जुट गए हैं.

पढ़ें इस खबर को… क्लिक करें>

https://bhadas4media.com/article-comment/7812-up-jangal-raj-katha

xxx

Yashwant Singh : जब पत्रकारों का ये हाल है तो सोचिए यूपी की आम जनता का क्या हाल होगा… जाने कब बहुरेंगे यूपी के दिन.. लखनऊ की मीडिया और लखनऊ में बैठे नेता अफसर कान में तेल डाले हुए हैं… लगता है सब लूटपाट हेतु आपस में पूरी तरह एकाकार हैं… इसलिए इनके सामने जनहित और न्याय जैसे शब्द बेकार हैं… यूपी… जंगल राज… लैटेस्ट गाथा… : खबर छपने से बौराए यूपी के एक सूचनाधिकारी पूरन चंद्र मिश्रा ने पत्रकार को दी जमकर गालियां… सुनें टेप.. रात में गुंडों को साथ लेकर पत्रकार के घर बोला धावा और बाहर निकल कर दिखाने की चुनौती दी..

संबंधित खबर पढ़ने के लिए इस लिंक पर क्लिक करें>

http://goo.gl/11RmUs

भड़ास के एडिटर यशवंत सिंह के फेसबुक वॉल से.

भड़ास की खबरें व्हाट्सअप पर पाएं, क्लिक करें-

https://chat.whatsapp.com/CMIPU0AMloEDMzg3kaUkhs

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *