Connect with us

Hi, what are you looking for?

वेब-सिनेमा

ओपेनहाइमर के जटिल व्यक्तित्व को तीन घंटे तक देखना सचमुच रोमांचक रहा!

प्रीति चौधरी-

कल रात परिवार के साथ ओपेनहाइमर मूवी देखी। ये नाम मैंने पहली बार जेएनयू में अपनी एम.ए.की कक्षा में War and Peace in Nuclear Age के कोर्स में सुना था, जिसे प्रो.सुरजीत मान सिंह पढ़ाती थीं। हमें मैनहट्टन प्रोजेक्ट, परमाणु बम और उससे जुड़े नैतिक सवालों, परमाणु शस्त्रों के नियंत्रण व नियमन से जुड़ी अंतर्राष्ट्रीय संधियों और उन पर भारत के रूख आदि समेत पूरे एक सेमेस्टर तक परमाणु शस्त्रों से संबंधित विविध आयामों को समझना था।

Advertisement. Scroll to continue reading.

अब भले यह सोच कर हंसी आती है कि कैसे उन दिनों न्यूक्लियर वेपन हमें दुनिया का सबसे महत्वपूर्ण मुद्दा लगता था।आज ये दुनिया का सबसे बड़ा मुद्दा भले ना हो, पर अंतर्राष्ट्रीय वैश्विक व्यवस्था में राज्यों की शक्तियों को परिभाषित करने वाला एक महत्वपूर्ण मापक जरूर है। सैन्य शक्ति से अधिक एक राजनीतिक शक्ति।

शोध अध्ययन बताते हैं कि अमरीका द्वारा जापान पर परमाणु बम गिराने का निर्णय सैन्य आवश्यकता से अधिक एक राजनीतिक आवश्यकता के रूप में हुआ था , जिसमें तत्कालीन अमरीकी राष्ट्रपति ट्रूमैन की भूमिका निर्णायक थी, पर ट्रूमैन को इस नये हथियार की विध्वसंक क्षमता से परिचित कराने और यह कि कैसे इसका इस्तेमाल अमरीका की सर्वोच्चता को पूरी दुनिया में कायम कर देगा, यह वहाँ के वैज्ञानिक समुदाय ने बखूबी किया था।

इस हथियार के वास्तविक इस्तेमाल के बाद इसके आविष्कारक ओपेनहाइमर के भीतर जो अपराधबोध आता है और भाषण देते समय अपने लिए बजती तालियों के बीच वह जिस तरह से हिरोशिमा में परमाणु बम की आग से जलकर राख हुए बच्चे के शरीर से अपना जूता बाहर निकालता है वह हमें दहशत और विक्षोभ से भर देता है।

Advertisement. Scroll to continue reading.

जाहिर है परमाणु बम की विभीषिका को देख इस महान वैज्ञानिक की मनोदशा विचलन की स्थिति में पहुँच चुकी थी। राष्ट्रपति ट्रूमैन उसे सम्मान देने के लिए व्हाइट हाउस बुलाते हैं पर ओपेनहाइमर की बातों से चिढ़ कर उसे क्राइबेबी कह चलता कर देते हैं।ओपेनहाइमर की बातों से क्षुब्ध हो वह कह उठते हैं No one gives a shit in Hiroshima about who made it , they care about who dropped it, I droped it (ऐसा ही कोई संवाद)

ओपेनहाइमर की त्रासदी रही कि आगे चल कर उन पर कम्यूनिस्ट होने के आरोप लगे और बकायदे सुनियोजित षडयंत्र के तहत उन्हें संदिग्ध घोषित करने की मुहिम चलायी गयी और अंतत: उन्हें राष्ट्रीय सुरक्षा से संबंधित दायित्यों से मुक्त कर दिया गया।ओपेनहाइमर के जटिल व्यक्तित्व और उनके जीवन के विभिन्न आयामों को तीन घंटे तक पर्दे पर देखना सचमुच बहुत रोमांचक रहा।

Advertisement. Scroll to continue reading.

मैं विदेश नीति की अपनी कक्षाओं में परमाणु नीति पढ़ाने के दौरान अपने विद्यार्थियों को हर साल यूट्यूब पर उपलब्ध ओपेनहाइमर का I am the death the destroyer of worlds वाला वीडियो दिखाती रही हूँ, पर विस्तार से साझा करने के लिए मेरे पास कुछ था नहीं और अधिकतर स्टूडेंट्स मोटी किताबों से दूर भागते हैं इसलिए किताब पढ़ने का सुझाव देना बहुत मायने नहीं रखता ।अब क्रिस्टोफर नोलन की फिल्म के माध्यम से इस वैज्ञानिक के बारे में विस्तार से जाना और बताया जा सकता है ।क्रिस्टोफर नोलन ने ओपेनहाइमर की जिस किताब ( American Prometheus ) पर यह फिल्म बनायी है वह जीवनी बीस सालों के अथक प्रयास से लिखी गयी थी , ये फिल्म, किताब लिखने पर की गयी मेहनत को अपने बेहतरीन निर्देशन ,उत्कृष्ट अभिनय , शानदार सिनेमैटोग्राफी और प्रभावी संगीत की मदद से और नायाब बना देती है।

कल मूवी देखते समय थियेटर पूरा भरा हुआ था,लोगों ने फिल्म के अंत में खूब तालियां भी बजायीं क्योंकि यह बहुत परिश्रम और लगन से बनायी गयी,विलक्षण फिल्म निदेशक क्रिस्टोफर नोलन की फिल्म है जिसमें वास्तविक प्रभाव लाने के लिए पानी की तरह पैसा बहाया गया होगा ।किलियन मर्फी ने ओपेनहाइमर के रूप में बेशक शानदार अभिनय किया है।देखा जाय तो फिल्म में बेहतरीन अभिनेताओं की भरमार है ,मैट डेमन,रॉबर्ट डाउनी जूनियर,रैमी मलिक सभी बहुत प्रभावशाली हैं।

Advertisement. Scroll to continue reading.

एकबारगी एक जांच अधिकारी को देखकर लगा कि मूवी में लियोनार्दो द कैप्रियो भी है पर वो नहीं है।Dunkirk के बाद मेरे लिए ये क्रिस्टोफर नोलन की सबसे बेहतरीन मूवी है ,उनकी साइंस मूवीज भी अलग संसारों में ले जाने के लिए जानी जाती रही हैं, Intersteller और Inception आदि ने भी इतिहास रचा है।

Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Advertisement

भड़ास को मेल करें : Bhadas4Media@gmail.com

भड़ास के वाट्सअप ग्रुप से जुड़ें- Bhadasi_Group_one

Advertisement

Latest 100 भड़ास

व्हाट्सअप पर भड़ास चैनल से जुड़ें : Bhadas_Channel

वाट्सअप के भड़ासी ग्रुप के सदस्य बनें- Bhadasi_Group

भड़ास की ताकत बनें, ऐसे करें भला- Donate

Advertisement