जनवरी तक एक दूसरे से अलग हो जाएंगे सीएनएन और टीवी 18 ब्राडकास्ट

मीडिया कंपनी टीवी 18 ब्राडकास्ट लि. और केबल न्यूज नेटवर्क इंक (सीएनएन) अगले साल जनवरी में अपना गठजोड़ समाप्त कर देंगे। अंग्रेजी समाचार चैनल सीएनएन आईबीएन के लिये 10 साल पुराना ब्रांड लाइसेंसिंग समझौता अगले साल जनवरी में समाप्त हो रहा है। दोनों कंपनियों ने संयुक्त बयान में कहा, ‘‘समझौता खत्म होने के बाद दोनों कंपनी दुनिया के सबसे गतिशील, जटिल और तेजी से बढ़ने वाले बाजारों में से एक बाजार में स्वतंत्र रूप से वृद्धि की रूपरेखा तैयार करेंगी.’’ बंबई शेयर बाजार को दी गई सूचना में अंग्रेजी समाचार चैनल सीएनएन-आईबीएन चलाने वाली टीवी 18 ब्रॉडकास्ट ने कहा कि सीएनएन और वह ‘‘सीएनएन ब्रांड और सीएनएन समाचार सामग्री के इस्तेमाल के लिये दस साल पुराने ब्रांड लाइसेंसिंग और समाचार सेवा व्यवस्था के समझौते को जनवरी 2016 में सफलतापूर्वक पूरा कर रहे हैं.’’

कंपनी के अनुसार, ‘‘दोनों पक्षों ने समझौते को आगे नहीं बढ़ाने का निर्णय किया है.’’ टीवी 18 समूह की कंपनी ग्लोबल ब्राडकास्ट न्यूज :जीबीएन: ने भारत में अंग्रेजी न्यूज चैनल सीएनएन-आईबीएन शुरू करने के लिये वर्ष 2005 में सीएनएन टर्नर इंटरनेशनल के साथ ब्रांडिंग समझौता किया था. इसके बाद जीबीएन, आईबीएन 18ब्राडकास्ट लि. बन गयी और फिर टीवी 18 ब्राडकास्ट लि. हो गयी. इस बारे में नेटवर्क 18ग्रुप सीईओ ए पी पारिगी ने कहा, ‘‘पिछले दशक में भारतीय मीडिया में काफी तेजी आयी है और यह हमारे लिये उत्साहजनक रहा है. इस दौरान जिस तरीके से ज्यादा अपेक्षा रखने वाले दर्शकों के लिये समाचारों को परोसा जाता था, उसे नया रूप देने के लिये दो मीडिया हाउस साथ आये. सीएनएन के साथ संबंधों से टीवी 18 में हमें लाभ हुआ.’’

उन्होंने, कहा कि नेटवर्क18 के 2005 में दो चैनल थे जो बढ़कर 2015 में 17 हो गये. हालांकि, उन्होंने यह नहीं बताया कि गठजोड़ समाप्त होने के बाद अंग्रेजी समाचार चैनल की ब्रांडिंग क्या होगी. सूत्रों ने कहा कि 10 साल का गठजोड़ अक्तूबर में समाप्त होगा लेकिन सह-ब्रांडिंग समझौता जनवरी 2016 तक जारी रहेगा. हालांकि, दोनों कंपनियों ने अनुबंध नवीनीकरण नहीं करने के कारणों के बारे में कुछ नहीं बताया.सीएनएन इंटरनेशनल की मुख्य परिचालन अधिकारी रानी राद ने कहा कि टीवी 18 के साथ एक दशक लंबे गठजोड़ के साथ सीएनएन आईबीएन मार्ग प्रशस्त करने वाली पहल थी.      

ऐसी अटकलें हैं कि सीएनएन अन्य भारतीय मीडिया हाउस जी समूह के साथ गठजोड़ कर सकता है. हालांकि, इस बारे में समूह से फिलहाल कोई टिप्पणी नहीं मिली. पिछले साल मुकेश अंबानी की अगुवाई वाली रिलायंस इंडस्ट्रीज लि. ने नेटवर्क 18 मीडिया एंड इनवेस्टमेंट्स लि. में नियंत्रणकारी हिस्सेदारी ले ली. इसमें नेटवर्क 18 की अनुषंगी टीवी 18ब्राडकास्ट लि. शामिल है. कंपनी ने यह सौदा स्वतंत्र मीडिया ट्रस्ट के जरिये 4,000 करोड़ रुपये में किया. बंबई शेयर बाजार में आज के कारोबार में टीवी18 ब्राडकास्ट लिमिटेड का शेयर 3.46 प्रतिशत घटकर 36.30 रुपये पर बंद हुआ. 

टेलीविजनपोस्ट से साभार



भड़ास व्हाट्सअप ग्रुप- BWG-10

भड़ास का ऐसे करें भला- Donate






भड़ास वाट्सएप नंबर- 7678515849

Leave a Reply

Your email address will not be published.

*

code