लो जी, इंडिया न्यूज वाले तो खुद को नंबर वन बताने लगे… इतना बड़ा झूठ!!!

आजकल मीडिया वाले भी कम झूठे नहीं हैं. जिसे देखो वो आंकड़ों को तोड़ मरोड़कर खुद को नंबर वन बता रहा है. मामला टीआरपी का है. 38वें हफ्ते की टीआरपी में नंबर वन पर आजतक है, नंबर दो पर इंडिया टीवी है, नंबर तीन पर एबीपी न्यूज है. लेकिन इंडिया न्यूज वाले खुद नंबर वन बता रहे हैं. नंबर चार से उड़कर नंबर एक पर कैसे पहुंच गए, ये कहानी सुना रहे हैं इंडिया न्यूज पर बहस विमर्श करने वाले और गाहे-बगाहे इंडिया न्यूज की फेसबुक पर ब्रांडिंग करने वाले पत्रकार अवधेश कुमार. पढ़िए अवधेश ने अपने वाल पर क्या लिखा है. क्या आपको नहीं लग रहा है कि दाल में कुछ काला नहीं बल्कि पूरी दाल ही काली है? -एडिटर, भड़ास4मीडिया

Awadhesh Kumar : बधाई India News को नंबर एक होने की और सभी साथियों का अभिनंदन… आज इंडिया न्यूज के प्रबंध संपादक श्री Rana Yashwant से बात हुई। मैंने फोन किया और अपनी बात कहूं उसके पहले ही उनकी आवाज आई- ‘अवधेश भाई, हम नंबर वन हो गए। इस बार की टीआरपी में हम पहले स्थान पर हैं।’ मैंने पूछा- ‘आप आज तक को भी पीछे छोड़ गए?’ उन्होंने कहां, ‘हां, अवधेश भाई, आज रात में ग्राण्ड पार्टी है।’  मैंने उनको बधाई दी।

मुझे याद है जब श्री Deepak Chaurasiya और Rana Yashwant ने इंडिया न्यूज का संचालन अपने हाथों में लिया तो उन्होंने कहा था कि डेढ़ वर्ष में हम नंबर एक हो सकते हैं। लगभग डेढ़ वर्ष में उतरते-चढ़ते नंबर एक हो गए। मेरी बहुत-बहुत शुभकामनायें। प्रधान संपादक दीपक चौरसिया, राणा यशवंत के साथ पूरी संपादकीय टीम को मेरी ओर से हार्दिक अभिनंदन। साथ ही चैनल के प्रबंध निदेशक श्री कार्तिक शर्मा को भी बधाई और इस नाते अभिनंदन कि उन्होंने दो सुयोग्य पत्रकारों का चयन कर उनके हाथों संपादकीय जिम्मेवारी सौंपी और पूरी स्वायत्तता दी।

हालांकि काफी दिनों से मैं वहां बहस में नहीं जा रहा। इसलिए साथियों से मुलाकात नहीं होती। इस पर कुछ लोग अफवाह भी उड़ाते रहते हैं। लेकिन इंडिया न्यूज की सफलता से मुझे भी उतनी ही खुशी हुई है जितनी वहां काम करने वालों को। आखिर इंडिया न्यूज के लालन-पालन और पोषण में मेरी भी छोटी भूमिका रही है। मैं वहां मात्र एक गेस्ट के तौर पर कभी नहीं गया और न मेरे साथ कभी उस तरह का व्यवहार ही हुआ। सभी का प्रेम, लगाव और सम्मान मुझे प्राप्त है और मेरा सभी को। मेरे लिए वहां घर जैसा माहौल हमेशा रहा है। जब मैं सभी कहता हूं तो संपादकीय टीम के साथ मालिकान भी उसमें शामिल हैं। इस कारण मैं वहां जाउं या न जाउं इंडिया न्यूज मेरी भावनाओं के करीब हमेशा रहा, आज भी है।

हालांकि मेरी दिली चाहत यही होगी कि यशवंत जी और दीपक जी इंडिया न्यूज को टीआरपी में नंबर एक होने के साथ ऐसा चैनल बनाएं कि लोग कहंे कि यही चैनल है जिस पर जनता से जुड़े वास्तविक मुद्दे के समाचार आते हैं, उन पर बहस होती है, और भारत के बहुसंख्य जो आज भी आम लोग हैं वे इसे अपना चैनल मानकर प्यार करें। यानी यह पत्रकारीय मानदंडों पर शत-प्रतिशत खरा उतरने वाला चैनल बने। इन दोनों में इतनी क्षमता और प्रतिभा है कि ये ऐसा कर सकते हैं।

मेरी फिर से ढेरों शुभकामनायें।

पत्रकार अवधेश कुमार के फेसबुक वॉल से.

38वें हफ्ते की टीआरपी जानने-देखने के लिए यहां क्लिक करें…

इंडिया टीवी नंबर दो पर आ गया, न्यूज नेशन को सर्वाधिक नुकसान

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

Comments on “लो जी, इंडिया न्यूज वाले तो खुद को नंबर वन बताने लगे… इतना बड़ा झूठ!!!

  • Awadhesh Kumar says:

    मित्रों, India News पर मैंने अभी जो लिखा उसका सच दूसरा है। मुझे बताया गया है कि चैनल Time Spent men नंबर एक है। यानी पिछले 4 सप्ताह में चैनलों के कार्यक्रमों में सबसे ज्यादा समय दर्शकों ने बिताया। Time Spent के अनुसार India News 31 Minute, INdia TV 31 Minute, Aaj Tak 29 Minute, ABP 27 Minute. सामान्य टीआरपी में 11.6 के साथ India News 4 वें स्थान पर है। 10 शीर्ष कार्यक्रमों में India News-4, India TV-3, Aaj Tak-1,ABP-1, News 24-1

    Reply
  • India news to trp ke chakkar me basti me jabran dharmparivartan kara raha hai channel hi nahi iske reporter bhi jhuthe hai basti

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *