जी का जंजाल बना जी न्यूज़, ख़बर बन गये ख़बर देने वाले

कोरोना की तमाम मुश्किलों में एक बड़ी मुश्किल ने जन्म ले लिया। देश और संपूर्ण मीडिया जगत को एक नई फिक्र सताने लगी है। दिल्ली और उत्तर प्रदेश के लिए बड़ी चुनौतियां पैदा हो गई हैं। और इन सब के साथ एक बार फिर ये साबित हो गया कि हमे बचाने के लिए कोरोना से लड़ने वालों पर ही दुश्मन हावी होता जा रहा है। इसलिए अब हमें ज्यादा सावधान रहने की जरुरत है।

नोएडा स्थित जी न्यूज़ के हेड ऑफिस में 28 लोगों का कोरोना संक्रमित होना कोई मामूली बात नहीं है। दिल दहलाने और चिंचित करने वाली इस खबर ने गंभीर संकेत दिए हैं। जी का ये ऑफिस उत्तर प्रदेश के नोएडा जिले मे है। इस जगह को देश की मीडिया का गढ़ कहा जाता है।

नोएडा के कुछ सेक्टर्स में देश के आधे से अधिक न्यूज चैनल्स के मुख्यालय/मुख्य स्टूडियो हैं। यहां का रिपोर्टिंग स्टाफ एनसीआर के अतिरिक्त दिल्ली कवर करता है। संसद जाता है। पीएमो जाता है, राष्ट्रपति भवन जैसे अति विशिष्ठ जगहों के अलावा हर मंत्रालय और देश के बड़े से बड़े राजनेताओं से सीधा संपर्क करता है। नोएडा स्टूडियों में हर न्यूज चैनल में कम से कम दो-तीन डिबेट शो होते हैं। हर डिबेट शो में दिल्ली/नोएडा/गाजियाबाद/गुड़गांव इत्यादि से विशिष्ट गेस्ट आते हैं।

नोएडा स्थित जी न्यूज में भी खूब डिबेट शो होते हैं। डिबेट में वीवीआईपी आते रहते हैं। इसी तरह इस न्यूज चैनल के रिपोर्ट्स ही नहीं एक बड़ा स्टाफ रोज रिपोर्टिग के लिए दिल्ली निकलता है। दिल्ली- एनसीआर कवर करता है। इसके अलावा जी न्यूज अपने नोएडा आफिस के स्टाफ को ही देश के किसी भी हिस्से में विशेष कवरेज के लिए भेजता है। एक यूनिट में कम से कम चार लोग होते हैं। और यूनिट के साथ ओबी वैन हो तो एक यूनिट में कम से कम 6-7 लोग हो जाते हैं।

किसी भी न्यूज चैनल का रिपोर्टिंग स्टॉफ/यूनिट दूसरे चैनल के रिपोर्टिंग स्टाफ/यूनिट के साथ घुल मिलकर/संपर्क बना कर चलता है। ताकि आपसी तालमेल से रूटीन रिपोर्टिंग में एक दूसरे का सहयोग बना रहे।

अब आप अंदाजा लगाइये, जी न्यूज के नोएडा स्थित मुख्य कार्यालय/स्टूडियो में 28 लोगों का संक्रमित होना कितना घातक होगा। ये संक्रिमत लोग कितने ख़ास-ख़ास लोगों के संपर्क में होंगे। जी स्टूडियो में आने वालों और यूनिट एसाइनमेंट पर ही गौर किया जाये तो कानों से धुएं निकलने लगेंगे।

लखनऊ के वरिष्ठ पत्रकार नवेद शिकोह की रिपोर्ट.

इसे भी पढ़ें-

राजीव ध्यानी ने तो जी मीडिया और सुधीर चौधरी की बैंड बजा दी, देखें ये वीडियो

  • भड़ास की पत्रकारिता को जिंदा रखने के लिए आपसे सहयोग अपेक्षित है- SUPPORT

 

 

  • भड़ास तक खबरें-सूचनाएं इस मेल के जरिए पहुंचाएं- bhadas4media@gmail.com

One comment on “जी का जंजाल बना जी न्यूज़, ख़बर बन गये ख़बर देने वाले”

  • लिखने से पहले चाचा थोड़ी रिसर्च ही कर लेते आजकल कोई गेस्ट ना तो ऑफिस आता है ,दूसरी बात ना रिपोर्टर्स ऑफिस आते हैं ,ना ही वो सब जो आपने झूठ लिखा हुआ है ना ही ओबी वर्क पे है फिर लाते कहा से हो इतना झूठ और आपने भी छाप दिया आपको तो लगभग सारी चीजे पता है ।

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *