नोएडा के तीन पत्रकार और एक थानेदार उगाही में गिरफ्तार, एक अन्य इंस्पेक्टर फरार

काल सेंटर से उगाही के मामले में तीन पत्रकार सहित एसएचओ गिरफ्तार, मर्सिडीज कार बरामद… तीन पत्रकारों सहित एसएचओ पर कॉल सेंटर से आठ लाख रुपये की उगाही का आरोप है… नोएडा एसएसपी ने इनकी गिरफ्तारी की…

नोएडा के सेक्टर 20 से एक बड़ी खबर आ रही है. एसएसपी वैभव कृष्ण ने नोएडा के सेक्टर-20 थाना प्रभारी मनोज पंत को खुद रंगे हाथों आठ लाख रुपए की घूस लेते गिरफ्तार कर लिया है. मनोज पंत के साथ पत्रकार उदित गोयल, रमन ठाकुर और सुशील पंडित गिरफ़्तार हुए हैं. ये चारों लोग एक कॉल सेंटर से वसूली कर रहे थे. कॉल सेंटर और चारों के बीच करोड़ों की डील होनी थी. मौके से एसएसपी ने एक पिस्टल भी बरामद किया है. एसएसपी ने एडिशनल प्रभारी थाना सेक्टर २० जयवीर सिंह को भी सस्पेंड किया है.

नोएडा सेक्‍टर 20 स्थित एक कॉल सेंटर से उगाही मामले में तीन पत्रकार सहित थाने के एसएचओ मनोज पंत को गिरफ्तार करने के मामले से हड़कम्प मचा हुआ है. इसी मामले में आरोपी अतिरिक्‍त एसएचओ जयवीर सिंह को निलंबित कर दिया गया है. इन सभी पर आरोप है कि इन्‍होंने नवंबर 2018 में की गई एफआईआर से नाम हटाने के नाम पर कॉल सेंटर मालिक से 8 लाख रुपये की रिश्‍वत ली.

पुलिस ने एक पत्रकार के पास से मर्सिडीज कार बरामद की है. वहीं आठ लाख रुपये सहित 32 बोर की एक पिस्‍टल भी सीज की है. इस कार को भी इसी मामले से जोड़कर देखा जा रहा है. एसएसपी वैभव कृष्‍ण ने इन सभी को गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार पत्रकारों के नाम हैं- रमन ठाकुर, सुशील पंडित और उदित गोयल. ये पत्रकार भी पहले से ही बदनाम रहे हैं. नोएडा के पत्रकारों का एक बड़ा ग्रुप केवल दलाली करता है. नोएडा के ज्यादातर पत्रकार करोड़पति हैं.

CM त्रिवेंद्र रावत के भाई का स्टिंग

CM त्रिवेंद्र रावत के भाई का स्टिंग (सौजन्य : समाचार प्लस न्यूज चैनल)Related News https://www.bhadas4media.com/cm-trivendra-rawat-ki-umesh-kumar-ne-kholi-pol/

Bhadas4media ಅವರಿಂದ ಈ ದಿನದಂದು ಪೋಸ್ಟ್ ಮಾಡಲಾಗಿದೆ ಭಾನುವಾರ, ಜನವರಿ 27, 2019

इस शर्मनाक प्रकरण के सामने आने के बाद मीडिया और पुलिस विभाग में हड़कम्प मचा हुआ है. इस बड़े सिंडिकेट के खुलासे के बाद एसएसपी वैभव कृष्ण की चहुंओर तारीफ हो रही है. नोएडा में करप्ट पुलिस-पत्रकार सिंडिकेट से काफी समय से बहुत सारे लोग परेशान थे. पुलिस और पत्रकार का गठबंधन ऐसा भी होता है, यह पता तो बहुतों को था, पर इसका भंडाफोड़ पहली बार हुआ है.

नोएडा में थाना 20 इंस्पेक्टर मनोज पंत पर पहले भी कई आरोप लगते रहे हैं. जिन तीन पत्रकारों रमन ठाकुर, सुशील पंडित, उदित गोयल को भी एसएसपी नोएडा ने ब्लैकमेलिंग करते रंगे हाथों पकड़ा है, उनके दलाली उगाही के किस्से भी नोएडा में खूब फैले हुए हैं.

रमन इंडिया टीवी और न्यूज़ 1 इंडिया में काम करता है. सुशील पंडित सहारा में कार्यरत है. उदित भी किसी न्यूज़ चैनल में कार्यरत है. इस मामले को लेकर एसएसपी वैभव कृष्ण की तरफ से जो मैसेज मीडिया वालों को न्यूज़ के लिहाज से भेजा गया, वो इस प्रकार है-

Sir In a major “Trap” Operation carried out yesterday SHO Sector 20 Manoj Pant, three journalists Sushil Pandit, Udit Goyal and Raman Thakur were arrested taking bribe/extorting Rs 8 lakh in the office of SHO Sector 20, Noida. They were extorting money from a Call Center owner in the name of removing his name from FIR registered against him earlier in Nov 2018. One Mercedes Car has also been seized from one of the journalists. This car prima facie seems to be related to some criminal activity. One Pistol .32 bore has also been recovered from one other journalist. Whole Rs 8 lakh has been recovered. All four arrested. Additional SHO Jaiveer Singh has been suspended.
Regards
Vaibhav Krishna
SSP GBN


इसे भी पढ़ें…

ग्रेटर नोएडा प्रेस क्लब ने रिश्वतखोरी में फंसे पत्रकारों रमन ठाकुर और उदित गोयल को निकाला

रिश्वतखोर इंस्पेक्टर मनोज पंत ने ‘सूर्या समाचार’ की यौन पीड़िता को दुखी कर रखा था!

कृपया हमें अनुसरण करें और हमें पसंद करें:

One comment on “नोएडा के तीन पत्रकार और एक थानेदार उगाही में गिरफ्तार, एक अन्य इंस्पेक्टर फरार”

  • Pradesh Kumar says:

    रमन ठाकुर इंडिया टीवी से निकाल दिया था।मगर उसके बाद भी वह इंडिया टीवी के असाईनमैट हैड के साथ में रहता था और असाईनमैट हैड कैई बार उसकी पिस्टल लेकर दिखाता था कैई उसकी मर्सिडीज भी युज करता था। उसके लिए कैई बार उसके बच्चों की जन्म दिन की पर्टी अरेंज करता था यहां तक की असाईनमैट हैड का रमन ठाकुर ने चौधरी चरन सिंह विश्वविद्यालय से फर्जी एल एल बी का सर्टिफिकेट भी बनबाया था । जिससे असाईनमैट हैड ने फर्जी दिल्ली के एक कोर्ट का बार एसोसिएशन का कर्ड भी बनबा रखा है। और रमन का एक रिसतेदार नोएडा अथॉरिटी मैं है।असाईनमैट हैड रमन ठाकुर के थूरू कैई काम करता रसता था और दोनों पैसे मिल वाँटते थे। असाईनमैट हैड ने कैई फलैटों पैसा लगाया हुआ अगर रमन ठाकुर की कौल डिटेल निकाल ली जाऐंगी तो इंडिया टीवी कैई चहरे उजागर हो जाएंगे।

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *