‘आप’ पर स्टिंग वार ; अब लड़ाई आर-पार

दिल्ली : अब तो सचमुच यकीन सा होने लगा है कि सियासत भी एक-की-तीन बातों से चलती है- इंटरटेनमेंट, इंटरटेनमेंट और इंटरटेनमेंट। देखिए न कि दिल्ली में आम आदमी पार्टी की परेशानियां थमने का नाम नहीं ले रही हैं। पार्टी में महाभारत गहराती जा रही है। केजरीवाल के खिलाफ ऑडियो टेप जारी होने के बाद पार्टी पूरी तरह से बिखरती दिख रही है। किसी ने खबर पर टिप्पणी की है – ‘हम तो नई, साफसुथरी राजनीति करने आये है जी, लेकिन क्या करें, हमाम में नंगा होना पडता है….

दूसरे दलों के खिलाफ स्टिंग ऑपरेशन करने के लिए मशहूर अरविंद केजरीवाल खुद ही विवादित बयानों के साथ आडियो टैप में कैद हो गए हैं। केजरीवाल हमेशा लोगों को भ्रष्टाचार के खिलाफ स्टिंग ऑपरेशन करने के लिए प्रेरित करते थे। अब विडंबना यह है कि आप ही के अंदर से अरविंद केजरीवाल के खिलाफ स्टिंग निकला। इन घटनाक्रमों के बीच केजरीवाल से आहत होकर महाराष्ट्र में आप का चेहरा रहीं अंजलि दमानिया ने पार्टी छोड़ने का एलान कर दिया।

आप के पूर्व विधायक राजेश गर्ग ने आरोप लगाया है कि उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया कांग्रेस विधायकों के संपर्क में थे और उन्हें एक नया राजनीतिक दल बनाने और बाहर से आप का समर्थन करने के लिए उकसा रहे थे क्योंकि केजरीवाल दोबारा विधानसभा चुनाव के हक में नहीं थे। गर्ग के इस तरह के आरोपों के बीच एक आडियो टैप सामने आया है, जिसमें केजरीवाल और रोहिणी के पूर्व विधायक गर्ग के बीच कथित बातचीत दर्ज है। इसमें आप नेता को कांग्रेस में फूट डालने के बारे में बात करते सुना जा सकता है। 

गर्ग के साथ बातचीत में केजरीवाल कथित रूप से यह कहते हुए सुने जा सकते हैं-हम सरकार बनाने के लिए तैयार हैं, लेकिन कांग्रेस हमारा समर्थन करने को तैयार नहीं है। मनीष (सिसोदिया) कांग्रेस के साथ संपर्क में है। एक काम करें, कांग्रेस में फूट डालें और छह विधायकों से नई पार्टी बनाने और हमारा समर्थन करने के लिए कहें। विधानसभा चुनावों में दिल्ली के मतदाताओं के इतने जोशोखरोश के साथ शामिल होने के बाद अपनी सरकार में बैठे भ्रष्टाचार विरोधी रखवालों की ऐसी मुर्ग-लड़ैया देखनी पड़ेगी, शायद इससे पहले किसी ने सोचा भी न हो। 

भड़ास की खबरें व्हाट्सअप पर पाएं
  • भड़ास तक कोई भी खबर पहुंचाने के लिए इस मेल का इस्तेमाल करें- bhadas4media@gmail.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *