पत्रकार हत्याकांड : अखिलेश यादव ने प्रेस कांफ्रेंस में भड़ास की खबर का प्रिंट लहराया, देखें तस्वीर

यूपी के पूर्व मुख्यमंत्री और सपा मुखिया अखिलेश यादव ने कल एक प्रेस कांफ्रेंस का आयोजन कर किसान आंदोलन समेत कई मसलों पर अपनी पार्टी का रुख स्पष्ट किया और बेबाक तरीके से अपनी बात रखी. वे केंद्र और राज्य सरकार पर हमलावर रहे. प्रेस कांफ्रेंस के दौरान अखिलेश यादव ने यूपी की लॉ एंड आर्डर की स्थिति पर हमला करते हुए सुबूत के तौर पर कल ही जलाकर मार डाले गए एक पत्रकार की खबर का प्रिंट लहरा कर दिखाया. ये खबर भड़ास4मीडिया डाट काम में प्रकाशित हुई थी. दरअसल पत्रकार के जलाकर मारे जाने की खबर सबसे पहले भड़ास ने प्रमुखता से प्रकाशित किया. ये खबर देखते ही देखते वायरल हो गई. अखिलेश यादव तक जब यह खबर पहुंची तो उन्होंने फौरन इस खबर का प्रिंट निकलवा कर प्रेस कांफ्रेंस में इस मुद्दे को भी उठाया.

पत्रकार को जलाकर मारने और अखिलेश यादव की प्रेस कांफ्रेंस की खबरें लखनऊ से संजय शर्मा के संपादकत्व में छपने वाले बेबाक सांध्य हिंदी दैनिक अखबार 4पीएम में प्रमुखता से प्रकाशित हुईं. इसी अखबार ने भड़ास4मीडिया की खबर का प्रिंट निकलवाकर अखिलेश यादव द्वारा दिखाए जाने की खबर व फोटो का भी प्रकाशन किया. देखें-

पत्रकार को जलाकर मारने की घटना पर कुछ बयान व प्रेस रिलीज देखें-

बलरामपुर में पत्रकार को जिंदा जलाने पर पत्रकार संगठनों ने जताया रोष
मृतक परिवार को मिले तत्काल सहायता राशि एवं मृतक आश्रित को नौकरी
प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री को ज्ञापन भेज कार यूपी सरकार से तत्काल पत्रकार सुरक्षा कानून लागू करने की मांग

मथुरा : नेशनल यूनियन जर्नलिस्ट ऑफ इंडिया उत्तर प्रदेश जर्नलिस्ट एसोसिएशन
एवं ब्रज प्रेस क्लब द्वारा राष्ट्रपति प्रधानमंत्री राज्यपाल और मुख्यमंत्री को ज्ञापन भेजकर बलरामपुर में जिंदा जलाई गई पत्रकार की घटना पर रोष व्यक्त कर पीड़ित परिवार को तत्काल सहायता राशि एवं मृतक आश्रित को नौकरी तथा यूपी में और देश में तत्काल पत्रकार सुरक्षा कानून लागू करने की मांग की है

नेशनल यूनियन जर्नलिस्ट एसोसिएशन के राष्ट्रीय सचिव उत्तर प्रदेश जर्नलिस्ट एसोसिएशन के प्रदेश उपाध्यक्ष एवं ब्रज प्रेस क्लब के अध्यक्ष कमलकांत उपमन्यु एडवोकेट ने महामहिम राष्ट्रपति प्रधानमंत्री महामहिम राज्यपाल और मुख्यमंत्री को ज्ञापन भेजकर यूपी के बलरामपुर में पत्रकार राकेश सिंह एवं उसके साथी पिंटू साहू को जिंदा जलाए जाने की घटना पर गहरा रोष व्यक्त किया है

श्री उपमन्यु ने मृतक परिवारों को तत्काल एक एक करोड़ सहायता राशि मृतक परिवारों को सरकारी नौकरी एवं निशुल्क आवास और पर्याप्त सहायता राशि दोनों पत्रकार परिवारों के सदस्यों की सुरक्षा व्यवस्था करने की मांग की है

उन्होंने मांग की है कि तत्काल यूपी ही नहीं देश भर में पत्रकार सुरक्षा कानून लागू किया जाए जिससे आए दिन हो रही पत्रकारों प्रति जानलेवा हमले एवं हत्याओं को रोका जा सके
श्री उपमन्यु ने कहा कि बलरामपुर में हुई पत्रकारो को जिंदा जलाए जाने की घटना से देशभर के पत्रकारों में रोष व्याप्त है

अगर केंद्र और प्रदेश की सरकारों ने तत्काल पत्रकार सुरक्षा कानून लागू नहीं किया तो सभी पत्रकार देश और प्रदेशों मेंआंदोलन को विवश होंगे


28.11.2020
प्रतिष्ठा में,
माननीय योगी आदित्यनाथ जी
मुख्यमंत्री, उत्तर प्रदेश, लोक भवन, विधानसभा मार्ग, लखनऊ ।

आदरणीय मुख्यमंत्री जी,

बलरामपुर में पत्रकार राकेश सिंह की जलाकर जघन्य हत्या की गई है। बलरामपुर में तैनात अधिकारियों की लापरवाही से बीते काफी समय से पत्रकारों का उत्पीड़न और उन पर हमले होते रहे हैं। किन्तु प्रशासन ने कोई कार्यवाही नहीं की। बलरामपुर के जिलाधिकारी ने पत्रकार की सुरक्षा की मांग पर कोई कार्यवाही नहीं की। जिलाधिकारी को दिवंगत पत्रकार ने अपनी हत्या की आशंका भी व्यक्त की थी। बलरामपुर में पत्रकार के घर पर दबंगों ने हमला बोल कर आग लगा दी जिसमें एक व्यक्ति की मौके पर ही जलकर मौत हो गई। बुरी तरह से जले पत्रकार राकेश सिंह की लखनऊ ट्रामा सेंटर में मौत हो गई है ।

अनुरोध है कि उत्तर प्रदेश सरकार अविलंब दोषियों को गिरफ्तार कर रासुका में निरुद्ध करने की कार्यवाही के साथ ही जिले के जिम्मेदार अधिकारियों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की जाए। पत्रकार राकेश सिंह के परिजनों को 30 लाख रुपये की आर्थिक सहायता के साथ ही आश्रित पत्नी को सरकारी नौकरी दी जानी चाहिए ।
सादर ।
भवदीय
अशोक कुमार नवरत्न
सदस्य
भारतीय प्रेस परिषद


NUJ(India) strongly condemned the brutal killing of Rakesh Singh Nirbhek.

Journalist and his partner were burnt alive in Balrampur by the bullies

New Delhi November 29, 2020 :- The National Union of Journalists (India) strongly condemned the brutal killing of Rakesh Singh Nirbhek (36), a reporter working for a daily published from Lucknow the Dabangas burned the journalist present in the house with his partner alive. In the statement given before the death in the hospital, Rakesh was screaming that he was writing a big news. For this reason, the Panch and the headmen burnt him alive.

NUJ(I) President Ras Bihari said that NUJ(I) worried and shocked with increasing incidents in the state and concerned over the safety of reporters. We appeal to the state government to set up a high-level judicial committee to probe the incident and culprits should be nabbed immediately. The NUJ(I)’s demand for the enactment of the Journalists Protection Act is endorsing this incident. We strongly condemn the gruesome murder of young journalist. We urge all not to bracket themselves with common people since the journalists enjoy a special place in the society and are looked as pillars of democracy.

मूल खबर-

यूपी में पत्रकार को जिंदा जलाकर मार डाला

  • भड़ास तक अपनी बात पहुंचाएं- bhadas4media@gmail.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *