मोदी जी बेचेंगे मुकेश अंबानी के ‘जियो’ सिम!

Sheetal P Singh : मुकेश अंबानी ने अपनी कंपनी के “ब्रांड एंबेसडर” की घोषणा कर दी! श्री मोदी जी उनका “जियो” सिम बेचेंगे! टाइम्स आफ इंडिया के प्रथम पेज पर फ़ुल स्क्रीन सुशोभित हैं! सुबह वे रिलायंस के विज्ञापन में थे, शाम रिलायंस के चैनल पर साक्षात।

Yashwant Singh : 2 September 2016. आज राष्ट्रीय शर्म दिवस है. बूझे क्यों? हमारे देश का पीएम देश के सबसे बड़े कारपोरेट लुटेरे का प्रोडक्ट बेच रहा है. डील कितने की है? अब ना कहना भक्तों कि ना खाऊंगा ना खाने दूंगा. अब कहना- जमकर खाऊंगा, खुलकर खाऊंगा, डकार भी नहीं लूंगा. शेम शेम.

Priyabhanshu Ranjan : आपने अब तक तो सिर्फ ये देखा था कि मुकेश अंबानी प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के कंधे पर हाथ रखकर बात करते हैं।  अब ये भी देख लें कि अंबानी अपनी कंपनी का प्रॅाडक्ट लॅांच करने के लिए प्रधानमंत्री का भी इस्तेमाल करने लगे हैं! मुझे पता है कि मोदी सरकार को इस विज्ञापन से कोई दिक्कत नहीं होगी, क्योंकि मोदी जी को प्रधानमंत्री पद की गरिमा का ख्याल ही कहां है। इस विज्ञापन में Crony Capitalism की साफ झलक दिखाई दे रही है!

Sandeep Verma : रिलायंस जियो द्वारा सस्ते इंटरनेट पैक के आफर ने बाजार में जो खलबली मचाई है ,उसको समझने के लिए थोड़ा पीछे जाना होगा . एक समय था जब सरकारी फोन कनेक्शन के लिए लम्बी लाइन और जुगाड़ के साथ लाईन मैन को रिश्वत तक देनी पड़ती थी. यह सरकारी कम्पनी की मोनोपोली की वजह से कम्पनी द्वारा ठगी जैसा कुछ था . फिर दौर आया मोबाईल कम्पनियों का और लैंडलाईन फोन का जनाजा उठ गया . बेहद महंगी सेवा बेचकर ठगी जैसा कर रही सरकारी कम्पनी को अचानक नुक्सान होने लगा . सरकार में बैठे लोगों ने प्राईवेट कम्पनियों से रिश्वत ले लेकर सरकारी कम्पनी को नुक्सान पहुचाकर उनकी अतिरिक्त मदद की. अब आते है जियो पर. प्राईवेट कम्पनियों ने कार्टेल यानी गिरोह बनाकर ग्राहकों को लूटना शूरू कर दिया .इसी गिरोहबंदी की वजह से भारत में इंटरनेट का रेट दुनिया में सबसे अधिक और स्पीड सबसे घटिया है. अजीब बात यह रही कि वोडाफोन जैसी विदेशी कम्पनी तक जनता को लूटने की इस गिरोह बंदी में शामिल हो गयी . मुकेश अम्बानी ने जियो के फ्री टेस्ट लांच के नाम पर ग्राहक छीनने का जो अभियान चलाया है, वह एयरटेल और वोडाफोन जैसी अब तक ठगी कर रही कम्पनियों के लिए सजा जैसा है . जैसी सजा सरकारी बीएसएनएल ने पायी वैसी ही सजा एयरटेल और वोडाफोन जैसी कम्पनियों को मिलने वाली है. यह अलग बात है अगले राऊंड में रिलायंस जियो ,एयरटेल और वोडाफोन सहित सभी कम्पनियां मिलकर गिरोहबंदी करके ग्राहकों को वैसे ही लूटना शुरू कर देंगी जिस तरह अभी तक कर रही थी. इसलिए अगर कुछ फ्री मिल रहा है तो आज भले ही लूट लें ,मगर अगले दौर में महंगा खरीदने के लिए तैयार भी रहिये. एयरटेल और वोडाफोन जैसी स्थापित कम्पनियां चाहे तो वे भी अगले छः महीने तक मुफ्त सेवा कार्यक्रम चलाकर भारतीय ग्राहकों को रोटी कपडा ना सही ,डेटागिरी करके कुछ दिन ही सही अच्छे दिन का मजा ले लेने दें.

सौजन्य : फेसबुक

भड़ास की खबरें व्हाट्सअप पर पाएं
  • भड़ास तक कोई भी खबर पहुंचाने के लिए इस मेल का इस्तेमाल करें- bhadas4media@gmail.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *