दिल्ली दंगे की निजी जांच कर रहे आईपीएस अधिकारी अमिताभ ठाकुर तक अपनी बात पहुंचाएं, देखें मेल व व्हाट्सएप नंबर

Amitabh Thakur : मैं अपनी व्यक्तिगत हैसियत में दिल्ली में हाल में घटित हिंसक घटनाओं में दिल्ली पुलिस की भूमिका, परेशानियों, प्रदर्शन तथा चुनौती के संबंध में अध्ययन कर रहा हूँ.

मैं अपने अध्ययन में इन दंगों के पूर्व बन रही स्थितियों, परिस्थितियों तथा घटनाओं का अध्ययन करूँगा. साथ ही मैं दंगों के दौरान की स्थितियों एवं तथ्यों तथा दंगों के बाद उत्पन्न हुई परिस्थितियों, मनःस्थिति तथा प्रभाव का भी अध्ययन करूँगा.

मेरे अध्ययन का मुख्य फलक इन सभी स्थितियों एवं परिस्थितियों में दिल्ली पुलिस की भूमिका, स्थिति, क्रिया-प्रतिक्रिया, चुनौती तथा परेशानियों पर अध्ययन किया जाना होगा.

साथ ही इस पूरी अवधि में दिल्ली पुलिस के प्रदर्शन तथा भूमिका के संबंध में लोगों की प्रतिक्रिया तथा संतुष्टि के संबंध में भी अध्ययन किया जायेगा.

मैं इस हेतु अप्रैल 2020 के प्रथम सप्ताह में दिल्ली जाऊंगा.

आप सभी साथियों से अनुरोध है कि यदि आपके स्तर से इस अध्ययन के संबंध में कोई भी तथ्य / सुझाव / जानकारी / साक्ष्य / सहयोग आदि हो तो कृपया अविलंब मेरे व्हाट्सएप नंबर 9415534526 तथा ईमेल amitabhthakurlko@gmail.com पर मुझे अवगत कराने की कृपा करें.

यूपी के चर्चित और वरिष्ठ आईपीएस अधिकारी अमिताभ ठाकुर की एफबी वॉल से.

इसे भी पढ़ें-

यूपी के इस आईपीएस आफिसर ने दिल्ली दंगों में पुलिस की भूमिका पर अध्ययन करने का किया एलान

‘माइनारिटी की ही आबादी अधिक बढ़ रही है’ वाले बयान से नाराज अमिताभ ठाकुर ने सीएम योगी को लिखा पत्र

लोग हैरान हैं कि दंगा भड़काने और आगजनी करने वाले जीव अचानक कहां से आ गए!

  • भड़ास की पत्रकारिता को जिंदा रखने के लिए आपसे सहयोग अपेक्षित है- SUPPORT

 

 

  • भड़ास तक खबरें-सूचनाएं इस मेल के जरिए पहुंचाएं- bhadas4media@gmail.com

Comments on “दिल्ली दंगे की निजी जांच कर रहे आईपीएस अधिकारी अमिताभ ठाकुर तक अपनी बात पहुंचाएं, देखें मेल व व्हाट्सएप नंबर

  • India me imandar loag bahut hai. amitabh thakur bhi inme se ek hai. aap ki janch sach ko samne layegi. rss aur modi ne jo katleaam karwaya hai delhi mei, eski puri sachchayi aani baki hai. ummeed karta hu aap sach samne layenge.

    Reply
    • विजय says:

      सर,अब जांच की जरुरत क्या जब AAP जैसे लोग मोदी जी और RSS को पहले ही दोष दे रहे हैं?
      देश मे बेशरमी का बोलबाला है आजकल ।

      Reply
    • rajeev ranjan says:

      अमिताभ जी, वाकई सही कार्य करने जा रहे हैं आप. इन दंगों की ईमानदारी से जांच की जाए तो इसके पीछे मोदी और RSS ही दोषी मिलेंगे.

      Reply
  • Amitabh sir hat’s off to u ..apke ki wajah say up aro ro 2016 re exam ho rahi hai..
    Thank you very much you are the Idol for Upsc and uppcs.Aspirant..
    Love you sir and Thank you for your contribution…

    Reply
  • Rakesh kumar says:

    Sir jai hind welcome sir delhi ager police chahati to danghe nahi hote aap delhi mai koi makan bina police ko pese diye bina 22 gaj ka makan nahi bana sakte to etne badhi bardat kese ho gai enke spo kanha the dalal kanha the………….aap delhi aaei mai milta hun aap se 9868147744

    Reply
  • Rakesh kumar says:

    सर जय हिंद जैसा कि आप इस केस पर काम कर रहे हैं यश की इंक्वायरी कर रहे हैं एक बात तो जैसी नेट है कि यह दिल्ली पुलिस की बहुत बड़ी नाकामी है क्योंकि जिस गली या शहर की रखवाली दिल्ली पुलिस करती है उस दिल्ली राजधानी का यह हाल हो जाए यह समझ में नहीं आता कि किसी भी कॉलोनी के अंदर एक 20 गज 22 गज 50 गज का मकान बनाने के लिए बिना पुलिस की परमिशन से 11 नहीं लगा सकते उस दिल्ली के अंदर इतनी बड़ी वारदात होना यह समझ से परे हैं जो दिल्ली पुलिस ने अपने पुलिस मित्र बना रखे हैं या एसपीओ बना रखे हैं या अपने मुख पर बना रखे हैं वह उस टाइम क्या कर रहे थे क्या वह लोग सिर्फ दलाली करने के लिए रह गए पुलिस की इस तरीके से समझ में नहीं आता है क्या यह वही पुलिस है जो सबसे स्मार्ट पुलिस मानी जाती है कुछ समझ नहीं आता है मुझे तो लगता है यह पुलिस की बहुत बड़ी नाकामी है और बिना पुलिस की नाकामी कितनी बड़ी वारदात नहीं हो सकती कि आप इस पर आइए मैं आपकी पूरी हेल्प करूंगा मैंने भी डिपार्टमेंट को काफी साल दिए हैं और बहुत कुछ कई आईपीएस अफसर उसी का है लेकिन आजकल जो पुलिस भ्रष्टाचार में ज्यादा ध्यान रखती है और कानून व्यवस्था में कम बाकी बातें आगे होंगी धन्यवाद जय हिंद जय भारत

    Reply
  • Kamaluddin Khan says:

    सर आपके जज़्बे को सलाम और हम आपके साथ हैं आपकी सेहत और सुरक्षा की कामना करते हैं यहाँ तो सच बोलने वाले जज का आधी रात को ट्रांसफर कर दिया जाता है ऐसे में आप जैसे ईमानदार अफसर से ही कुछ उम्मीद है

    Reply

Leave a Reply to Angad Prasad Yadava Cancel reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *