भड़ासी तेवर वाली पत्रकारिता जिंदा रखने के लिए मदद करें

यशवंत, Founder www.Bhadas4Media.com

भड़ास4मीडिया डॉट कॉम के संचालन पर आने वाले खर्च को मिल बांट कर पूरा करने के मकसद से हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी चंदा मांगो अभियान शुरू किया जा रहा है. जैसे आप अखबार पढ़ने के लिए हर महीने पैसे देते हैं, टीवी देखने के लिए हर महीने पैसे देते हैं, वैसे ही एक ढंग की वेबसाइट को रेगुलर पढ़ने के लिए भी आपको थोड़े-से पैसे खर्च करने के चाहिए.

खासकर उन वेबसाइट्स के लिए जो कारपोरेट्स, कंपनीज, ट्रस्ट द्वारा संचालित नहीं हैं, बल्कि इन्हें इंडिविजुवल्स, जर्नलिस्ट्स चला रहे हैं. यह मदद है तो स्वैच्छिक लेकिन नैतिक रूप से इसे अनिवार्य काम मानना चाहिए. आप कम से कम सौ रुपये तो जरूर ही दें. कुछ रोज पहले रायबरेली के एक पत्रकार और उद्यमी साथी महेंद्र जी ने खुद ब खुद भड़ास के लिए दस हजार रुपये भेजे. ऐसे सचेत और समर्पित साथियों के चलते ही भड़ास का संचालन हो पाता है.

आप भी अपने हिस्से का योगदान करें. मुझसे कई बार लोग मिलते हैं तो कहते हैं कि बताइए क्या सहयोग करें, कहिए क्या सहयोग करें. उन सभी से हमेशा कहता रहा हूं कि जब सहयोग लेने की बारी आएगी तो भड़ास में इसके लिए बाकायदा एक पोस्ट अपलोड होगी और तब आप सहयोग करिएगा, क्योंकि हम लोग साल के बारहों महीने सहयोग नहीं लेते. सहयोग लेने की एक अवधि तय कर देते हैं, उस दौरान जो सहयोग देता है, उससे सहर्ष सहयोग लेते हैं.

आप भड़ास तक अपनी मदद पहुंचाने के लिए yashwant@bhadas4media.com पर मेल करें.

याद रखें, पिछले ग्यारह साल से भड़ास सिर्फ और सिर्फ आप पाठकों के सहयोग, ताकत और प्यार के बल पर ही संचालित होता आया है.

-यशवंत, एडिटर, भड़ास4मीडिया

मेल : yashwant@bhadas4media.com


इस पत्रकार ने तो बड़े-बड़े अखबारों-चैनलों का ही स्टिंग करा डाला!

इस पत्रकार ने तो बड़े-बड़े अखबारों-चैनलों का ही स्टिंग करा डाला! ('कोबरा पोस्ट' वाले देश के सबसे बड़े खोजी पत्रकार अनिरुद्ध बहल को आप कितना जानते हैं? येे वीडियो उनके बारे में A से लेकर Z तक जानकारी मुहैया कराएगा… Bhadas4Media.com के संपादक यशवंत सिंह ने उनके आफिस जाकर लंबी बातचीत की.)

Posted by Bhadas4media on Friday, January 25, 2019
  • भड़ास की पत्रकारिता को जिंदा रखने के लिए आपसे सहयोग अपेक्षित है- SUPPORT

 

 

  • भड़ास तक खबरें-सूचनाएं इस मेल के जरिए पहुंचाएं- bhadas4media@gmail.com

One comment on “भड़ासी तेवर वाली पत्रकारिता जिंदा रखने के लिए मदद करें”

  • महेंद्र सिंह says:

    आपके जज्बे से हमेशा कुछ न कुछ सीखने को मिलता है। आप बड़े भाई है और हमेशा गुरु की भूमिका में बने रहे , अन्याय के खिलाफ हिमालय की तरह अड़े खड़े रहे इसके लिए ये मदद जरूरी है।

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *